धर्म-संस्कृति-अध्यात्म

आत्मिक विज्ञान वेद

मानव का जीवन भौतिक पदार्थेां और आत्मा के ज्ञान पर निर्भर करता है। पदार्थेां के ज्ञान को विज्ञान कहते हैं और आत्मा के ज्ञान को वेद कहते हैं। वास्तव में पदार्थेां का ज्ञान भी आत्मा द्वारा संचालित हुआ है। इसलिए आत्मा के ज्ञान में भी विज्ञान समाहित हैं। इसलिए वेदों में सम्पूर्ण ज्ञान समाया हुआ […]

विज्ञान

ब्रह्माण्ड में पृथ्वी की उत्पत्ति

(महाविस्फोट प्रतिरूप के अनुसार, यह ब्रहमाण्ड अति सघन और ऊष्म अवस्था से विस्तृत हुआ है और अब तक इसका विस्तार चालू है। एक सामान्य धारणा के अनुसार अंतरिक्ष स्वयं भी अपनी आकाशगंगओं सहित विस्तृत होता जा रहा है। ऊपर दर्शित चित्र ब्रहमाण्ड के एक सपाट भाग के विस्तार का कलात्मक दृश्य है।) ब्रहमांड, जिसका पृथ्वी […]

भाषा-साहित्य

स्वभाषा का महत्व

स्वतंत्रता सैनानियों ने अपना बलिदान इसलिए दिया था कि उनका देश अंग्रेजों की गुलामी से मुक्त होकर आत्मनिर्भर और स्वावलंबी बने।  उसके लिए उनका मानना था कि भारतीय भाषाएँ हर क्षेत्र में प्रतिष्ठापित हों और हिंदी भारत की संपर्क राष्ट्रभाषा बने।  क्या उनका सपना पूरा हुआ या आज मानसिक गुलामी से पीड़ित हैं जो राजनैतिक […]