Author :

  • नवबुद्ध बनना : नौटंकी या फैशन

    नवबुद्ध बनना : नौटंकी या फैशन

    रोहित वेमुला की माँ और भाई ने बुद्ध मत स्वीकार कर लिया। बुद्ध मत स्वीकार करने वाला 99.9 %दलित वर्ग बुद्ध मत को एक फैशन के रूप में स्वीकार करता हैं। उसे महात्मा बुद्ध कि शिक्षाओं...



  • यह अंधेरगर्दी कब तक?

    यह अंधेरगर्दी कब तक?

    देवदत्त पटनायक काल्पनिक उपन्यास लिखने वाले लेखक है जिनके विषय मुख्य रूप से पौराणिक देवी-देवता होता हैं। आपके उपन्यास न केवल तथ्य रहित होते है बल्कि वैदिक सिद्धांतों से भी कोसो दूर होते हैं। मेरे विचार...


  • संगठन में शक्ति

    संगठन में शक्ति

    एक दिन एक राजा ने मंत्री से कहा, “मेरा राज्य के योग्य प्रजाजनों को सम्मानित करने का विचार है, आप मुझे बताये की उनका चुनाव कैसे हो?” मंत्री ने कुछ सोच कर उत्तर दिया ,”राजन, आपके...

  • दलित-मुस्लिम एकता का सच

    दलित-मुस्लिम एकता का सच

    स्वामी श्रद्धानन्द अविभाजित भारत में कांग्रेस के ऐसे पहले सदस्य है जिन्होंने कांग्रेस से इस कारण से त्यागपत्र दे दिया था क्यूंकि महात्मा गांधी को बार बार दलितों के साथ हो रहे अत्याचारों से अवगत करवाने...


  • बौद्धिकता के नाम पर वैचारिक प्रदूषण

    बौद्धिकता के नाम पर वैचारिक प्रदूषण

    हमारे देश में एक विशेष जमात हमारी परम्पराओं और धार्मिक मान्यताओं पर निरंतर अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर कुठाराघात करने में लगी रहती हैं। इस वर्ग विशेष के अनेक नाम हैं जैसे मानवाधिकार कार्यकर्ता, एक्टिविस्ट,सिविल...