ई-बुक ब्लॉग/परिचर्चा

होली का डिजिटल उपहार, ई.बुक काव्यालय सदाबहार

आप सब डिजिटल उपहार की परिकल्पना से अवगत हैं. उपहार, वह भी डिजिटल उपहार तो वास्तव में एक अनोखा उपहार होता है.   अब बात करते हैं आज के डिजिटल उपहार की. हमने आप सबको सदाबहार काव्यालय के लिए अपनी काव्य-रचनाएं प्रेषित करने का आह्वान किया था. आप लोगों ने इस आह्वान का स्वागत किया […]

ई-बुक

बाल काव्य सुमन- ई.बुक

कुछ समय पहले हमने 41 बाल कविताएं प्रकाशित की थीं. संपादक महोदय विजय भाई तथा कुछ अन्य पाठकों ने इसे ई.बुक के रूप में बनाने की इच्छा ज़ाहिर की थी, ताकि एक साथ कविताओं का रसास्वादन किया जा सके. ये कविताएं हमने 40 साल पहले तब लिखी थीं, जब हमारे बच्चे छोटे थे और जी […]

ई-बुक

चित्रमय-काव्यमय कहानियां- ई.बुक

कुछ समय पहले हमने 17 चित्रमय-काव्यमय कहानियां लिखी थीं. संपादक महोदय विजय भाई तथा कुछ अन्य पाठकों ने इसे ई.बुक के रूप में बनाने की इच्छा ज़ाहिर की थी, ताकि चित्रमय-काव्यमय कहानियां सचित्र देखी-पढ़ी जा सकें. ये चित्रमय-काव्यमय कहानियां हमने 40 साल पहले तब लिखी थीं, जब हमारे बच्चे छोटे थे और जी भरकर कहानियां […]

आत्मकथाएं

सौगात

प्रिय गुरमैल भाई जी, आपको वसंत पंचमी की बहुत-बहुत शुभकामनाएं. पेशे खिदमत है आपके लिए वसंत पंचमी का सुहानी सौगात. आपकी लिखी आत्मकथा का चौथा भाग आपकी ही नज़र है मेरी कहानी-4. बताइएगा, केसर वाले नारियल के लड्डू कैसे बने हैं.

आत्मकथाएं

उपहार

प्रिय सखी कुलवंत जी, आपको वसंत पंचमी की बहुत-बहुत शुभकामनाएं. पेशे खिदमत है आपके लिए वसंत पंचमी का सुहाना उपहार, गुरमैल भाई की आत्मकथा का तीसरा भाग, मेरी कहानी-3. गुरमैल भाई को केसर वाले नारियल के लड्डू खिलाइएगा और हमें भी रेसिपी लिख भेजिएगा-