Category : आत्मकथा





  • आत्मकथा : एक नज़र पीछे की ओर (कड़ी 34)

    मलेशिया-सिंगापुर-श्रीलंका भ्रमण (जारी…) निर्धारित समय पर हम सिंगापुर पहुँच गये। वहाँ हमारा होटल लिटिल इंडिया नामक जगह पर मुस्तफा बिल्ंिडग के बिल्कुल सामने था। इस क्षेत्र में भारतीयों की अच्छी संख्या है, इसलिए इसे लिटिल इंडिया...