Category : कथा साहित्य

  • छुआछूत

    छुआछूत

    ‘अ’ पहली बार अपने दोस्त ‘ब’ के घर गया, वहां देखकर उसने कहा,  “तुम्हारा घर कितना शानदार है – साफ और चमकदार” “सरकार ने दिया है, पुरखों ने जितना अस्पृश्यता को सहा है, उसके मुकाबले में...

  • जीत का जलवा

    जीत का जलवा

    कल एक समाचार आया- ”CWG: साइना नेहवाल और पीवी सिंधु के बीच ‘फाइनल फाइट’, भारत का गोल्ड-सिल्वर पक्का” यह ‘फाइनल फाइट’ भारत की ही दो शटलर्स के बीच होना बहुत ही आह्लाद का विषय है, वह...

  • प्रेरणा

    प्रेरणा

    लगभग 20 साल से मोटर निऊरोन डिज़ीज़ के चलते हुए भी वे जीवन को सक्रिय बनाए रखे हुए हैं और लेखन के क्षेत्र में नए-नए कीर्तिमान स्थापित कर औरों की प्रेरणा भी बन रहे हैं. कभी-कभी...

  • आखिरी कहानी (भाग 2/5)

    आखिरी कहानी (भाग 2/5)

    अध्याय 2– रजनी जी मालती का नाम जैसे दहकते लोहे की मुहर से सीने पर दाग देने जैसा था। उसका ख्याल भी आता था तो निरंजन झुलस जाता था। कुछ इस कदर कि आस-पास का कुछ...

  • धैर्य का सुदृढ़ संकल्प

    धैर्य का सुदृढ़ संकल्प

    सुनील अच्छी तरह जानता था, कि हर काम में अग्रणी तथा अत्यंत प्रतिभाशाली होते हुए भी उसके अंदर धैर्य की कमी है. अक्सर वह बहुत जल्दी में रहता था. अपनी इसी आदत के कारण वह काम...

  • मसखरा

    मसखरा

    मसखरा स्टेज पर अजीबोगरीब हरकतें कर सबको हंसा रहा था। लोग मैजिक शो से अधिक शो के बीच में होने वाले मसखरे के खेल को पसंद करते थे। सब उसके खेल को देख कर लोटपोट हुए...

  • गलती

    गलती

    आज फिल्म बागबां देखते-देखते अचानक पूनम को नरेश की याद आ गई थी. बागबां में अमिताभ ने हेमा मालिनी को कहा था- ”अक्सर लोग प्यार करते हैं, लेकिन यह बात उतनी बार नहीं कहते, जितनी बार...


  • बड़े बदलाव का आभास

    बड़े बदलाव का आभास

    आमतौर पर जहां बड़े-रसूखदार लोग आलीशान और शाही शादी पसंद करते हैं और उस पर खूब पैसे खर्च करते हैं, वहीं एक केंद्रीय मंत्री के पोतों की सादगी भरी सामूहिक शादी की खबर ही रोमांचित करने...

  • पगली

    पगली

    कैंसर शब्द सुनते ही रीना पर वज्रपात गिर गया। पिछले एक वर्ष से गिरती सेहत से परेशान रीना के मुख से एक शब्द भी नही निकला बस आंखों से गंगा-जमुना बह निकली। एक वक्ष काट कर...