लघुकथा

नयी दिशा

रीमा की शादी को चार वर्ष बीत गये, परंतु उसके पति संजय को लाख प्रयासों के बाद भी नौकरी नहीं मिली।घर की माली हालत दिन ब दिन खराब होती जा रही थी। उसका धैर्य बिखर रहा था। आज फिर उसनें संजय को समझाया कि इस तरह उम्मीदों के सहारे बैठे रहने से तो हम भूखे […]

लघुकथा

पेट की आग

सुबह के दस बजे का समय रोड में काफी चहल-पहल शुरू हो गई थी,ठीक ऐसे समय मे एक सरकारी कार्यालय का चपराशी रामु अपने कार्यालय को खोलने और साफ-सफाई करने के लिए घर से निकलता है, तभी उसको पास में नास्ता करते हुए कचड़ा बीनने वाले को जलपान करते हुए देखा। यह वही कचड़ा बीनने […]

लघुकथा

जांच

विज्ञान कथा “अनोखी, आज तुम जहां भी होगी, बहुत खुश होगी. तुम्हारे हंताओं को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया गया है. उसका रसूख भी उसके काम नहीं आया.” पिता के मन की टीस मुखर थी. “काश! तुमने पहले थोड़ा-सा इशारा कर दिया होता, तो नौबत यहां तक नहीं पहुंच पाती!” अब तो उनका दर्द ही […]

लघुकथा

निराशा के बंध

“यूएस वूमन फील्ड मैराथन में किएरा की रिकॉर्ड तोड़ दौड़” “यूएस वूमन फील्ड मैराथन में किएरा ने साल 2006 में Deena Kastor के रिकॉर्ड को 30 सेकेंड्स से तोड़ा” “कभी निराश किएरा ने निराशा के बंध तोड़ दिए” अमेरिका के सभी समाचार पत्र किएरा की अद्भुत सफलता की सुर्खी से सुशोभित थे. स्वभावतः किएरा बहुत […]

लघुकथा

इच्छा

असलम की बड़ी इच्छा थी कि वह भी नेत्रदान ,देहदान का संकल्प करे।परंतु परिवार और समाज ने उसकी भावनाओं को चकरघिन्नी बना रखा था।तमाम तर्क देकर उसकी इच्छा की पूर्णता में बाधाएं डालते रहे। समय का फेर देखिये कि पिछले साल आँखों के आपरेशन के बाद हुए इन्फेक्शन के बाद असलम के दोनों आँँखों की […]

लघुकथा

लघुकथा – साथी की तलाश

        फेसबुक पर फेसबुक फ्रेंड रोहित जी से मिसेज सुषमा चैटिंग कर रहीं थीं।         उन्होंने पूछा,”रोहित जी, आप तो मेरे बेटे के उम्र के हैं फिर आपने मुझे फ्रेंड रिक्वेस्ट क्यों भेजा?”       रोहित जी ने कहा,-” नहीं जी मैं युवा नहीं हूं।मेरी उम्र सत्तर साल […]

लघुकथा

उलझन

सुनैना अलमारी में रखे कपड़े को तह लगा रही थी बाहर तेज बारिश भी हो रही थी बेटा निखिल लैपटॉप पर पढाई कर रहा था। तभी फोन की घण्टी बजी… सुनैना ने पहली रिंग में ही उठा ली हाय! सुनैना कैसी है यार उधर से आवाज आई…. तुम कौन?? पहचानी नहीं ओह, यार तू मेरा […]

लघुकथा

लघुकथा हिसाब

“मालिक मेरा हिसाब कर दो”, सर्वेश के नौकर किशन ने कहा। सर्वेश चौंक गया, “क्यों, क्या हुआ?” “घर जाना है। मां बीमार है।” किशन ने कहा। सर्वेश समझ गया कि वह बहाना बना रहा है, “ठीक है, कितने दिन के लिए जाना चाहते हो?” किशन ने तपाक से कहा, “हमेशा के लिए। मुझे अब यहां […]

लघुकथा

लघुकथा – फ़ोन कॉल

सीमा सुबह पति को ऑफिस भेजकर फटाफट अपने सभी काम निपटा रही थी, क्योंकि आज बिजली का बिल जमा करवाने की अंतिम तिथि थी, अत: उसे बिजली का बिल भरने जाना था। तभी उसके मोबाइल की घंटी बजी, काम छोड़कर सीमा ने मोबाइल उठाया, “हेल्लो, कौन बोल रहे हैं?” “जी, मैं बैंक से रामकुमार बोल […]