लघुकथा

लघु कथा : धोखा

चरन सिंह और गुरमीत कौर की दो बेटीयाँ थीं और अब फिर गुरमीत कौर को बच्चा होने वाला था . चरन सिंह नहीं चाहता था कि  इस दफा भी बेटी पैदा हो, इस लिए वोह गुरमीत कौर को शहर के एक कलीनिक में ले जा कर अल्ट्रा साउंड से मालूम करना चाहता था  कि होने […]

ब्लॉग/परिचर्चा लघुकथा

मेरा ब्लड ग्रुप?… याद नहीं है! (लघुकथा)

एक अस्पताल में भर्ती बुजुर्ग की आप बीती—उनके ही मुख से- “मेरे दो लडके हैं, दोनों एक्सपोर्ट इम्पोर्ट का कारोबार करते हैं. दो लड़कियां विदेश में हैं, दामाद वहीं सेटल हो गए हैं. मेरा एक भगीना बड़े अस्पताल में डॉक्टर है …मुझे उसका टेलीफोन नंबर नहीं मिल रहा ..आप पताकर बताएँगे क्या? आज मेरे घाव […]