कहानी

माँ का थप्पड़

 उठ जा बेटा! भोर हो गयी। सुन! मुर्गा बाँग दे रहा-कुकड़ू कूँ, कुकड़ू कूँ। सुन तो!अज़ान भी सुनाई दे रही। मंदिर पर साधु लोग भजन का राग छेड़ चुके हैं। सुन ना! तेरे पढ़ने का समय हो गया है। आँखे तो खोल। देख,लालटेन जला दिया तेरे लिए।” ऐसा कह कर कृष्णा देवी अपने 6वर्षीय पुत्र […]

कहानी

कहानी –  नन्ही परिचारिका

         रानू का रिपोर्ट पॉजिटिव था।दो दिनों से उसे सर्दी -खांसी थी। ऑफिस में उसकी सहकर्मी को बुखार था। उसी के सम्पर्क में आने से वह कोरोना पॉजिटिव हो गई थी। उसने अपने  को क्वारनटाइन कर लिया था। उसकी बारह बरस की बेटी निगेटिव थी। यह जानकर उसने राहत की सांस ली […]

कहानी

कहानी – राशनकार्ड का पंचनामा

गांव के लालजी साहू को डी सी जनता दरबार में उपस्थित होने को कहा गया था । आज ही सुबह दस बजे ! परसों ग्राम सेवक ने गाजोडीह के जिन पांच लोगों को डी सी के जनता दरबार में शामिल होने के लिए पत्र दे गया था उनमें लालजी साहू भी एक था ।किस कारण […]

कहानी

अहसास

“इतना क्यों सोचती हो रमा ? ऐसी हालत मॆं तुम्हें खुश रहना चाहिये और अच्छा -अच्छा सोचना चाहिये क्योंकि तुम्हारी हर बात का असर होने वाले बच्चे  पर पड़ता है !”  कहकर राकेश ने टी वी का चैनल बदल दिया और अपना पसंदीदा देखने लगा…राकेश को हमेशा से ही क्राइम चैनल देखना अच्छा लगता है […]

कहानी

प्यार का सफर

पंखुरी आज ऑफिस नहीं गई थी। कुछ अस्वस्थ महसूस कर रही थी। फिर से अक्टूबर का महीना आ गया था। मिला जुला मौसम। गर्मी ख़त्म नहीं हुई और सर्दी शुरू होने वाली है। पूरे साल में उसका प्रिय महीना होता था अक्टूबर का। लेकिन इस बार अक्टूबर का महीना शुरू होने पर वह उदास थी। […]

कहानी

अधूरा इश्क

आज फेसबुक पर एक रिक्वेस्ट आई नाम देखकर पहले तो मैं चौक गया, नाम और चेहरा कुछ पहचान पहचाना सा लग रहा था, प्रोफाइल को मैंने खोलने की कोशिश की तो उसमें सिक्योरिटी लॉक लगा था, एक छोटी सी तस्वीर नजर आ रही थी प्रोफाइल में, दो दिन तक मैं उस तस्वीर को याद करने […]

कहानी

अपने प्यार की तमन्ना

सीमा कॉलेज जाने की लिए निकल ही रही थी कि अमन ने उसे चिड़ाते हुए कहा,” क्यों बहना इतना सजधज के कोई  कॉलेज थोड़ा जाता है,,?”और सीमा इठलाके मुंह बनाके टेढ़ी सी चाल चलती बाहर निकल गई और अपनी साइकिल ले कॉलेज की ओर चल पड़ी।रास्ते में यही वही जवानी वाली रवायते और हर तरफ […]

कहानी

कहानी – उम्मीद

देश में कोरोना की दूसरी लहर अत्यंत भयावह रूप धारण करती जा रही थी।डबल वेरिएंट वाला वायरस बड़ी निर्ममता व तेजी के साथ लोगों की जीवन लीला समाप्त कर रहा था।इस बार तो उसने बच्चों और युवाओं तक को अपना शिकार बनाने में कोई परहेज नहीं किया।प्रशासन का ढुलमुल रवैया और आम जनता की लापरवाही […]

कहानी

मैं भी इंसान हूँ..

मैं भी इंसान हूँ ************ दिसंबर की एक और सर्द रात गुजर चुकी थी। कोहरे की झीनी चादर ने सूर्य की किरणों के धरा पर आगमन को सीमित कर दिया था। अमर ने लिहाफ से हाथ बाहर निकालकर बेड के नजदीक पड़े मोबाइल को उठाया और समय देखकर चौंक पड़ा। ‘सुबह के आठ बज गए […]

कहानी

अविस्मरणीय पल

बात अभी से लगभग दस साल पहले की है, मार्केट में नोकिया की नई फोन कैमरे वाली आयी थी जो समय के हिसाब से काफी महंगी थी। पतिदेव अपने लिए नहीं पर मेरे लिए उन्होंने वो महंगी फोन खरीदा और मुझे गिफ्ट दी मैं बहुत खुश थी सबको पता चल चुका था कि मेरे पास […]