Category : कहानी


  • कहानी – सिमरन

    कहानी – सिमरन

    अस्पताल के बेड पर पडे हुए शेखर को देखकर सिमरन सिहर जाती हैं। कभी सोचा नहीं था कि उसे इस हाल में देखेगी। कलेजा फटने को हो गया जी हुआ चिल्ला कर रो पडे। पैर कांपने लगे...

  • रिश्तों का पोस्टमार्टम भाग-2

    रिश्तों का पोस्टमार्टम भाग-2

    रिश्तों का पोस्टमार्टम भाग-2 अब आगे पढिये………. “नहीं।” मैंने उत्सुकता के साथ उत्तर दिया। “तो फिर चलो तुम्हें घाट चैरासी के दर्शन कराते हैं और रात वहीं रूकने का पूरा जुगाड।” बड़े अनोखे अन्दाज़ में निशा...

  • परिणय के बाद

    परिणय के बाद

    मीरा ने ज्योंही रसोई का कचरा डालने के लिए घर के पिछवाड़े का द्वार खोला, सामने एक सुदर्शन युवक को उसी तरफ घूरता पाकर सकपका गई. उसने बिना इधर-उधर देखे जल्दी से ढेर पर कचरा डाला...

  • रिश्तों का पोस्टमार्टम, भाग-1

    रिश्तों का पोस्टमार्टम, भाग-1

    रिश्तों का पोस्टमार्टम, भाग-1 “चलो कपड़े पहनते हैं अब इश्क़ पूरा हुआ” छी….. “बस यही रह गया है प्यार-मुहब्बत का पर्याय।” कहते हुये निशा ने किताबों को पास रखी मेज़ पर पटका। मैंने पीछे पलटकर देखा...

  • कहानी – गाइड

    कहानी – गाइड

    स्पेन के पर्यटकों का दल हिमालयी पर्वत श्रृंखलाओं की एक चोटी मून पीक को चढ़ने के लिए  रात के अंधेरे को चीरता हुआ धीरे -धीरे आगे बढ़ रहा था। इनमें एक नवयुवती जिसका नाम मर्सीडीज है,...

  • किसे कहूँ खुशी

    किसे कहूँ खुशी

    ज़िंदगी रोज एक पन्ना पलटकर आगे बढ़ जाती है,लेकिन जब पिछले पन्ने पलटो तो कुछ ऐसे यादगार पल नज़र आ जाते हैं कि वापस उन्हें जी लेने की ललक पैदा हो जाती है। कुछ ऐसा ही...

  • अधूरापन

    अधूरापन

    मैं अक़्सर सुनता हूँ तुम्हारा ये शिकायती लहजा जब तुम मुझे बताती हो कि तुमने बहुत बार प्रेमियों को अपनी प्रेमिकाओं से ये कहते हुए सुना है कि तुम बिन मैं अधूरा हूँ, तुम मिल जाओ...

  • कहानी – मनोरम वादियां

    कहानी – मनोरम वादियां

    कल्पना और यथार्थ में बड़ा फ़ासला होता है। कल्पना की उड़ान इंसान को मायानगरी में ले जाती है। ऐसी ही  घटना कौशल के साथ घटी । नयना की शादी बड़े धूमधाम से इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर कुमार कौशल...

  • अधूरे ख्वाब

    अधूरे ख्वाब

    दिल में यादों के नश्तर चुभोती वही उदास स्याह रात। जहां सिवाय तन्हाई के कुछ नहीं बचा था। टेप रिकॉर्डर पर धीमी आवाज में बजता गाना” चार दिना दा प्यार ओ रब्बा बड़ी लंबी जुदाई…….”, नम...