कहानी

कहानी- कंजूसी का परिणाम

अलीपुर गांव में बिस्सू नामक एक किसान रहता था। उसके पास बारह सौ बीघा जमीन थी। जिस पर खेती करके वह अपने परिवार का जीवन यापन करता था। उसके परिवार में उसकी पत्नी तीन बच्चे और बूढ़ी माँ थी। खेती से आमदनी अच्छी हो जाती थी। वह समय समय पर अलग-अलग फसलें उगाता था। कभी सब्जियां कभी […]

कहानी

हौसले के पंख (रेडियो कहानी)

कुछ दिन पहले मेरे पतिदेव ने कैटरैक्ट का ऑपरेशन करवाया था. हमें ऑपरेशन करवाने दिल्ली से नोएडा जाना था. कार तो हमारे पास है, लेकिन कार चलाए कौन? मैंने कार चलाना सीखा नहीं, बच्चे अभी इतनी दूर कार चलाने लायक हुए नहीं हैं, केवल पतिदेव ही ड्राइविंग करते हैं. वे ले तो जाएंगे, लेकिन ऑपरेशन […]

कहानी

कहानी : परिवर्तन की लहर

मुक्ता लगभग 25 वर्ष की थी और शहर के नामी कॉलेज में अंग्रेजी विभाग में लेक्चरर थी l विभाग में ज्यादातर लोग बड़ी उम्र के थे , इसलिए उसका मन अभी तक कॉलेज में रम नहीं पाया था । नए सत्र में कुछ नई नियुक्तियां हुईं थीं, उसी के चलते अनुभा ने अंग्रेजी विभाग में […]

कहानी

कहानी – उलझन

“मैं आपको चाहने लगा हूं ।आपकी याद आ रही थी इसलिए इतनी रात को फोन किया ।आपको बिना बताए नींद ही नहीं आती मुझे,” कहकर फोन काट दिया था उसने। तीन महीने पहले जिस रिश्ते की शुरुआत सामान्य औपचारिक बातचीत से हुई थी वह आज एक नया मोड़ ले चुका था। स्तब्ध रह गई थी […]

कहानी

लघुकथा – अपना पराया

” सौरी मैम पर आप कभी माँ नहीं बन सकती”  डाक्टर के ये शब्द कमला पर बिजली गिराने के लिए काफी थे । वह डाक्टर के क्लिनिक में थी,बाहर जोरदार बारिश हो रही थी। क्लिनिक में इक्का दुक्की पेशेंट ही दिख रहे थे। अब क्या होगा? वह बेड पर अपने पति के सामने बैठी थी। […]

कहानी

कहानी : नियति

हरफनमौला निर्मिति हर महफ़िल की जान हुआ करती थीं । शादी-ब्याह हो या कोई पार्टी, रौनक तो निर्मिति के आने के बाद ही आती थी। गाना-बजाना हो, शॉपिंग हो, मेहमानों की खातिरदारी या लेनदेन का मामला, उनके पास हर चीज का अच्छा खासा अनुभव था । छोटे से लेकर बड़े, सभी उनका बहुत मान करते […]

कहानी

कहानी: आपरेशन

निर्मला ने अपनी पूरी जिंदगी दूसरों की सेवा में ही लगाई थी ! सबकी प्यारी और दुलारी निर्मला अम्मा की, घर में ही नहीं बाहर भी तूती बोलती थी । पर किसी ने सच ही कहा है कि समय एक सा नहीं रहता । बुढ़ापा अपने आप में एक बीमारी है । जो निर्मला अम्मा […]

कहानी

शुक्रिया

शुक्रिया एक सुनसान जगह काली रात में दोनो साथ है । दोनों के मुहँ विपरीत दिशा में जैसे दोनों ही एक दूसरे को पसंद नहीं करते फिर भी साथ है । कहे तो साथ रहना मजबूरी है । एक व्यक्ति तन्द्रा भंग कर बोलता है ” तुम्हारा शुक्रिया मेरे जीवन में आने के लिए ” […]

कहानी

कब आएँगे मुर्गे और बकरे के नववर्ष

राहुल राहुल कहाँ हो? देखो मै क्या लायी हूँ तुम्हारे लिए? आखिर तुम्हारी मम्मी हूँ राहुल ने एक नजर देखा और अपने ख्यालों में खो गया। नववर्ष का आरम्भ होने वाला था राहुल की मम्मी चाहती थी कि सभी खुश रहें लेकिन राहुल न जाने क्यों पिछले कुछ दिनों से कटा कटा सा रह रहा था। कोई […]

कहानी

कहानी – मुकम्मल जिन्दगी

चलते-चलते वे रुके और अपनी पत्नी को ऊपर चढ़ने का इशारा किया। पत्नी ने पूछा – अच्छा तो हम पहुँच गए? ये लवर्स पॉइंट है या सुसाइड पॉइंट? साथ ही वह महिला छोटे छोटे सीढ़ीनुमा पत्थरो पर पैर रख, सम्भल-सम्भलकर ऊपर चढ़ने लगी। अपनी जेब से मोबाईल निकालते हुए पुरूष ने जबाब दिया — अरे […]