Category : कहानी

  • सात दिन की माँ

    सात दिन की माँ

    भारत देश की सबसे सौभाग्यशाली स्त्री वो होती है जो स्वयं स्त्री होते हुए लड़के को जन्म दे, फिर भागवती को चार-चार लड़के थे। भला उससे ज़्यादा भाग्यशाली कौन हो सकता है? तिस पर भी अब...



  • कहानी – उपयोगी वस्तुएं

    कहानी – उपयोगी वस्तुएं

    सुनील शहर का पड़ा लिखा एक नौजवान लड़का था । कद काठी और व्यक्तित्व में साधारण । सुल्तानपुर के एक बैंक में क्लर्क था । उम्र यही कोई पैंतीस के आसपास होगी। विवाह हो चुका था...

  • आख़री ख़त

    आख़री ख़त

    वेद प्रकाश जी आज 90 वर्ष के हो गए थे। दो बेटे, बहुएँ, पोते पोतीआं और आगे उन के भी बच्चे, काफी बड़ा परिवार था। घर में ही बर्थडे पार्टी का इंतज़ाम किया गया था। सारा...


  • नौकरी मिल जाएगी !

    नौकरी मिल जाएगी !

    सोहन की मौत स्कूटर की कार से टक्कर हो जाने से हुई थी, मीनू की तो दुनिया लगता था खत्म हो गई । कार किसी शिक्षा विभाग के मंत्री की थी। जैसे ही मीनू को सोहन...

  • साध्वी

    साध्वी

    शहर की प्रसिद्ध वेश्या चंपाबाई ने मरते समय बारह साल की कन्या ललिता बाई, शानदार हवेली और दो करोड़ रुपये छोडे थे। चंपाबाई शाही वेश्या थी और बादशाह के संयोग से ललिता बाई का जन्म हुआ,...