उपन्यास अंश कथा साहित्य

C2H2 का रहस्य (तिलिस्मी उपन्यास)

2019 ने खुशियाँ दी, तो संताप भी ! 2020 सचमुच में विष-विष का ट्वेंटी-ट्वेंटी (20 20) साबित हो रहा, किन्तु 2020 आने से पहले 2019 में CAA और NRC लिए हंगामा खड़ा हो गया…… असम में घुसपैठी बौरा गए….. बंगाल में तो और….. कई मित्रों के घर प्रसन्नता ‘अंतरंगता’ लिए आई, तो कई सर व […]

उपन्यास अंश

ममता की परीक्षा ( भाग – 64 )

साधना को पुत्र रत्न की प्राप्ति हुए लगभग एक महीने का समय हो चला था । जीता जागता खिलौना पाकर साधना बेहद खुश थी और इस उम्मीद में थी कि अब अचानक किसी दिन गोपाल को लेकर जमनादास उनके सामने आ खड़ा होगा । वो दिन उसके लिए कितनी खुशी का होगा । इतनी खुशियाँ […]

उपन्यास अंश

ममता की परीक्षा ( भाग – 63 )

धूल भरी सड़क में गड्ढों के बीच राह तलाशते हुए जमनादास की कार ने जब सुजानपुर में प्रवेश किया सूर्य भी अपने गंतव्य तक पहुँच चुके थे । दूर कहीं क्षितिज पर फैली हुई लाली शीघ्र ही आनेवाले अँधेरे का इशारा कर रही थी । अपने घर के सामने खटिये पर बैठी उदास नजरों से […]

उपन्यास अंश

ममता की परीक्षा ( भाग – 62 )

रामू काका के मुँह से सुजानपुर और फिर मास्टर सुनते ही जमनादास अधीरता से बंगले के मुख्य दरवाजे की तरफ भागा ! बाहर मुख्य दरवाजे के बगल में बने छोटे से दड़बेनुमा कक्ष में मास्टर रामकिशुन बैठे हुए थे । जमनादास को देखते ही मास्टर जो कि एक बेंच पर बैठे थे उठ खड़े हुए […]

उपन्यास अंश

ममता की परीक्षा ( भाग – 61 )

परबतिया के जाने के बाद साधना के होठों पर आई हुई मुस्कान ने एक बार फिर खामोशी की चादर ओढ़ ली थी । दिल में बेपनाह दर्द को समेटे हुए वह खामोशी से जुट गई रसोई में । बाबूजी को जल्दी भोजन करने की आदत थी । उसे खुद तो भूख नहीं लगी थी लेकिन […]

उपन्यास अंश

ममता की परीक्षा ( भाग -60 )

सेठ अम्बादास अपने वादे के मुताबिक दूसरे दिन फिर आये थे । उनके साथ उनका लीगल एडवाइजर गुप्ताजी भी थे । सेठ शोभालाल के सामने उन्होंने अपनी सभी कंपनियों के 30 प्रतिशत शेयर शोभालाल व बृन्दादेवी तथा 30 प्रतिशत शेयर सुशीला के नाम करके आवश्यक कागजात तैयार करने के निर्देश दिए । काफी देर तक […]

उपन्यास अंश

भूमिका रामावतार की…भाग-1

भूमिका अर्थात आने वाली घटनाओं के लिए पृष्ठभूमि पूर्व से स्वतः ही बनने लगती है। गीता में भगवान कृष्ण ने कहा है कि जब-जब धरती पर अधर्म बढेगा तो किसी न किसी रूप में आकर मै धर्म की रक्षा करूँगा। भगवान विष्णु ने जब राम का अवतार लिया तो उसके लिए कितने ही श्रापों से […]

उपन्यास अंश

ममता की परीक्षा ( भाग -59 )

सेठ अम्बादास ने अपनी कहानी जारी रखी ! ” हमेशा की तरह इस बार भी हम छुट्टियाँ मनाने के लिए अमेरिका गए हुए थे । किसी आवश्यक कार्य की वजह से मैं जल्दी वापस आ गया था भारत अकेले । मेरी पत्नी और बेटी दोनों अपनी छुट्टियाँ कम नहीं करना चाहती थीं । दोनों वहीं […]

उपन्यास अंश

ममता की परीक्षा ( भाग -58 )

नजदीक आकर सेठ शोभलाल ने एक विजयी मुस्कान बृन्दादेवी की तरफ उछाली और बड़ी खुश मुद्रा में उनकी बगल में जाकर बैठ गए । उन्हें खुश देखकर बृन्दादेवी की मुखमुद्रा भी मुस्कान युक्त हो गई । उसकी बगल में बैठते हुए सेठ शोभालाल बोले ,” आज तो लगता है मैं भगवान से स्वर्ग भी माँगता […]

उपन्यास अंश

ममता की परीक्षा ( भाग -57 )

ममता की परीक्षा ( भाग – 57 ) सेठ शोभालाल डॉक्टर के कक्ष में चले गए थे उनसे अपनी योजना के मुताबिक बात करने । अब वहाँ अस्पताल की लॉबी में बृन्दादेवी के अलावा जमनादास ही अकेला बैठा हुआ था । जमनादास का युवा मन उन दोनों की बातें सुनकर खुद को धिक्कार रहा था […]