Category : उपन्यास अंश

  • *बहादुर देवम*

    *बहादुर देवम*

    स्कूल से छूटकर साइकिल से घर आ रहा था देवम। तभी पीछे से आती हुई कार का दरवाजा खुला और इससे पहले कि कोई कुछ समझ पाता, कार से उतर कर दो आदमियों ने देवम को...


  • आजादी                     भाग –४०

    आजादी भाग –४०

    बच्चों की बात सुनकर विनोद को राहुल की समझदारी का अहसास हुआ और साथ ही यह भी अहसास हुआ कि सभी बच्चे अपराध के अँधेरे में गुम होने से बाल बाल बचे थे । मन ही...

  • आजादी           भाग –३९

    आजादी भाग –३९

    दयाल दरोगा होने के साथ ही एक कुशल चालक भी था और इस समय वह अपनी पुरी कुशलता से जीप को उसकी क्षमता के अनुसार पुरी गति से भगाए जा रहा था । उसकी पैनी निगाहें...

  • आजादी            भाग –३८

    आजादी भाग –३८

    दरोगा दयाल ने पीछे मुड़कर देखा और वह दृश्य देखकर वह भी आश्चर्यचकित रह गया था । पल भर के लिए उसे भी कुछ समझ में नहीं आया था । दरअसल राहुल ने ढाबे में प्रवेश...

  • आजादी            भाग –३७

    आजादी भाग –३७

    कमाल के हाथों से लाइसेंस लेकर उसके पन्ने पलटते हुए दयाल ने सरसरी निगाहों से उसका निरिक्षण करते हुए वह अपनी जेब के हवाले कर दिया  । लाइसेंस जेब में रखते ही कमाल एक तरह से...

  • आजादी                  भाग –३६

    आजादी भाग –३६

    टेम्पो के करीब पहुंचे रामसहाय ने टेम्पो के करीब किसी को न पाकर टेम्पो के पीछे की तरफ एक डंडा फटकारते हुए ऊँची आवाज में चिल्लाया ” अरे कौन है भाई इस गाड़ी का ड्राईवर ?...

  • उसकी कहानी (अंतिम) भाग –    ६

    उसकी कहानी (अंतिम) भाग – ६

    अबकी बार वो आया मेरी बहन बनकर । मैंने उससे प्रार्थना  की थी मुझे गुरु दक्षिणा देनी है रास्ता मुझे नहीं पता था ।अब उसने अपनी लीला मुझे दिखानी शुरू की । मुझे संदेह की गुंजाइश...

  • उसकी कहानी भाग –  ५

    उसकी कहानी भाग – ५

    अबकी बार वो आया मेरा बड़ा भाई  बनकर । मुझे याद आया कि मैं अपने बड़े भाई साहब जो की एक हृदय रोग विशेषज्ञ हैं को अपनी हालात बताना ही भूल गया । मैने उन्हें फ़ोन...

  • आजादी               भाग –३५

    आजादी भाग –३५

    अब कुछ कहने की बारी राहुल की थी ” हाँ ! तो सच ये है अंकल ! कि हमने चोरी नहीं की है । हम लोग तो उलटे आपके पास आनेवाले थे इन गाड़ी वालों की...