क्षणिका

6 ‘बंपर’ क्षणिकाएँ

1. शरमाये रो हित ‘रो’ हित ने एक विश्वकप में 5 शतक बनाये, फिर ‘वर्ल्ड रिकॉर्ड’ बनाकर थोड़ा शर्मा’ये ! 2. मोरल सपोर्ट 326 रन चाहिए ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए ! इधर भारत जीत की ओर, तो हो जाएंगे, टीम इंडिया टॉप स्कोरर ! हो मोरल सपोर्ट । 3. अमावस में आती है चांद […]

क्षणिका

सदानंद पॉल की 6 रहस्यमय क्षणिकाएँ

1. पदना घोड़ा जो बेपेंदी का लोटा है, ऐसे अ-तटस्थ यानी पेंडुलम टमाटरटाइप लोगों को गाँव में ‘पदना घोड़ा’ कहा जाता है ! 2. प्रधानसेवक प्रधानमंत्री कई बने हैं ? परंतु प्रधानमंत्री बनकर सिर्फ एक ने बताए कि वो चायवाला था, अब ‘प्रधानसेवक’ हैं। 3. ईश्वर की खोज जब मैं 8 वर्ष का था, तो […]

क्षणिका

सदानंद पॉल की 4 क्षणिकाएँ

1. परजीवी ऐसे लोग जो प्राय: दूसरे का खाते हैं, कहेंगे- हम मंत्री परिवार से हैं, एमपी एमएलए परिवार से हैं, रईश हैं…. पर दूसरे का खाकर मोटा गए हैं ! 2. चश्मे में आदमी मेले में दादाजी से चश्मे की ज़िद करता था, तो कहते थे- चश्मा ‘आवारा आदमी’ पहनते हैं ! दादाजी कभी […]

क्षणिका

देशी मुर्गी, विलायती बोल

मुझे आश्चर्य इस बात की है कि लेखकों से हिंदी और देवनागरी लिपि की अपेक्षा रखनेवाली एक पत्रिका ने मुझे जो मेल भेजे हैं, वो अंग्रेजी और रोमन लिपि में है !