क्षणिका

आधा प और यार

देश की गरीबी लॉकडाउन में पता चल रही ! भोजन व रुपये लेनेवाले 95%कथित गरीब हैं, यह देनेवाले 5% मौसमी समाजसेवी और सरकार कथित अमीर हैं? ×××× महामूर्ख तो एक ‘डैडी’ थे, जो उस युग में भी लाडली ‘बेटी’ की सरेआम ‘बोली’ लगा रहे थे ! स्वयंवर नॉट स्वयंवधू ! ×××× कोई तो होगी, जो […]

क्षणिका

सिर्फ एक वोट

राजस्थान के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार डॉ. सी पी जोशी सिर्फ़ एक वोट से चुनाव हार गए थे और अबतक सीएम नहीं बन पाए ! ×××× कोई तो होगी, जो हमको समझेगी ! बड़ी दूर से लौटे हैं, आधा ‘प’ ‘यार’ का तोहफ़ा लाए हैं ! ×××× चाँद सा मुखड़ा क्यों शरमाया ? ‘हाथ’ मिले […]

क्षणिका

मर्जी आपकी, खुदगर्जी मेरी

मर्जी आपकी, खुदगर्जी मेरी ! अगर आलोचना बर्दाश्त नहीं कर सकते, तो ऐसे मित्र मुझे भी नहीं चाहिए ! ×××× पिछले साल लॉकडाउन में फोन पर किसी से वार्त्तालाप नहीं हो सकी है.. टीवी नहीं है, बीवी नहीं है, घर पर दूरी लिए हूँ और पुस्तकें ही सहारा है…. ×××× महामारी से खुदा नहीं बचाएंगे, […]

क्षणिका

बंटाधार भविष्य

दो दिनों से चूल्हा नहीं जलेगी ! यह आज दोपहर का भोजन है ! बासी है…. ऊहापोह में हूँ , आपको खाने को बुलाऊँ या…. ×××× माया मेम की भाषण अभिव्यक्ति अड़तालीस घण्टे बैन ! योगी जैम की भाषण अभिव्यक्ति बहत्तर घण्टे बैन ! अभी और बाकी है…. ×××× क्या बड़े आदमी बनने के लिए […]

क्षणिका

वीवीआईपी

एक सरकार 5.5 लाख मजदूरों के खाते में जीविकोपार्जन राशि भेज चुके, पर 3.5 लाख नियोजित शिक्षकों को वेतन के बदले ठेंगे दिखा रहे ! ×××× ‘अमिताभ’ नाम इतना बड़ा ब्रांड लिए है कि इनके तले दबकर जया, अभिषेक और ऐश्वर्या का करियर खत्म हो गए ! ×××× तेजप्रताप थोड़ा और मेहनत करें, तो वे […]

क्षणिका

निलंबित कर्मचारी

कोई भी नियोक्ता अपने निलंबित कर्मचारियों को जीविकोपार्जन राशि प्रदान करते हैं, पर बिहार सरकार ‘निलंबित’ शिक्षकों को धमका रहे हैं ! ×××× 8 लाख रुपये तक सालाना आमदनीवाले सामान्य वर्ग भी गरीब नहीं है, तो 16 लाख रुपये तक वार्षिक आयवाले आरक्षित वर्ग भी गरीब नहीं हैं ! ×××× जनवरी से वेतन बंद होने […]

क्षणिका

तटस्थता

मेरे परदादे, दादे, बाप और मेरे पास ‘पलंग’ नहीं है ! पर ऐसी महिलाएँ भी हैं, जो लोकडाउन में सात-सात बिल्लियों के लिए पलंग रखी हैं ! ×××× क्या राम महिलाविरोधी थे ? कैकेयी का पश्चाताप, सूर्पनखा की दुर्दशा, गर्भवती सीता को त्यागना, फिर भी मर्यादा पुरुषोत्तम ! ×××× मैं और मेरे परिवार कम खाकर, […]

क्षणिका

बिजली कटनी शुरू

गर्मी शुरू… बिजली कटनी शुरू… और मतदाताओं ने ‘मूड’ बना लिया तो ! ×××× मनिहारी के एक ‘अच्छे स्कूल’ में पानी के लिए हाहाकार ! यह स्कूल 18 अप्रैल के लिए ‘बूथ’ भी है ! कैसे रहेंगे वहाँ ‘मतदानकर्मी’ ? ×××× बिहार में दूसरी बार किसी अल्पसंख्यक को मुख्यमंत्री बनाने की इच्छा सर्वप्रथम रामविलास जी […]

क्षणिका

ये है ब्लैक हॉल !

जब ‘चिराग’ भला है, तो ‘तेजस्वी’ बुरा कैसे हो गया ? एक फ़्लॉप अभिनेता है, तो दूजे फ़्लॉप क्रिकेटर ! दोनों की राजनीति ‘बाप’ के नाम पर ! ×××× अभी जब ‘सरकार’ ही नहीं है, उनकी शक्ति आयोग में निहित हो गई है, तो ‘सरकारी सेवक’ का अस्तित्व अभी कैसे-क्यों? ×××× बच्चे तो संबंध बनने […]

क्षणिका

सामान्य ज्ञान

कटिहार में एक ही परिवार के चार कांग्रेस अध्यक्ष आकर रिकॉर्ड बनाए ! इंदिरा गाँधी, राजीव गाँधी, सोनिया गाँधी, राहुल गाँधी यहाँ आ चुके! ×××× कटिहार की धरती पर सभी ‘गाँधी’ उपनामधारक कांग्रेस अध्यक्ष आ चुके हैं… महात्मा गाँधी और इंदिरा -राजीव सोनिया -राहुल गांधी ! ×××× “जगजीवन राम” कभी भी संसदीय चुनाव नहीं हारे […]