क्षणिका

क्षणिकाएं

इस सर्द मौसम में यादों को सहेजते सोचा कि … रिश्तों की फटी चद्दर पर स्नेह का पैबंद लगा दूँ शायद एहसास दे दें ये फिर से गर्माहट का ! ! ******************** अनुभव-परिपक्वता, अब नहीं टिकाऊ ! है हाशिए पर भाषा, कापी – पेस्ट ही, अब हैं बिकाऊ ! ! ******************** बिक रहे हैं रिश्ते […]

क्षणिका

”गिरावट’

”गिरावट’ कच्चे तेल के भाव में गिरावट, शेयर मार्केट में गिरावट, पर्यटन में गिरावट, कोरोना की वजह से लोग आपस में नहीं मिल पा रहे…… भारत में चुगली करने वालों की संख्या में भारी गिरावट.

क्षणिका

मुस्कुराइए

मुस्कुराइए, कि मुस्कुराने से आपकी आवाज की खनक भी खनकती है, मुस्कुराइए, कि मुस्कुराने से बिना पायल के ही आपकी चाल की झनक भी झनकती है, मुस्कुराइए, कि मुस्कुराने से आपकी आंखों की चमक भी चमकती है, मुस्कुराइए, कि मुस्कुराने से सकारात्मक ऊर्जा की मिकदार बढ़ती है, मुस्कुराइए, कि मुस्कुराने से पास आते हुए कोरोना […]

क्षणिका

क्षणिकाएँ

इश्क ऐ काश ! ये वक़्त ठहर जाता और ठहर जाता, हम – दोनों में वो बीता हुआ इश्क़ !! तेरे बिन बिन तेरे…. यूँ तो हम, अधूरे नहीं हैं, पर जाने फिर भी क्यों…. हम पूरे नहीं हैं !! कलयुग सतयुग नहीं,,, वो भी कलयुग था ! जब इन्द्र सम पुरुष धर छद्मवेश करते […]

क्षणिका

क्षणिकाएँ

-1- दुखता है ये दिल, और बात बस इतनी है… तुम मेरे हो, पर मेरे नहीं हो !! -2- फर्क है… तेरे और मेरे समर्पण में ! मैं तुझको और तू मेरी देह को समर्पित है ! ! -3- बिन तेरे…. यूँ तो हम अधूरे नहीं हैं, पर जाने फिर भी क्यों… हम पूरे नहीं […]

क्षणिका

क्षणिकाएँ

1 आंसूओं ने भी सीख लिया है चुपचाप बहना, क्यों रुलाये और किसी को गम तो अकेले है सहना। 2 उदास रातों का कभी तो अंत होता काश वो सितारा हमारे संग होता। 3 पढ़ सके जो मुझ को आज तक न ऐसा चश्मा बना, मैं वो आँसू हूँ समंदर का जिसे कोई न ढूंढ […]

क्षणिका

फेसबुक और जन्मदिन

किसी का भी जन्मदिन हो, फेसबुक फूल बरसाता है, बहुमंजिला केक पर मोमबत्ती जलाता है, गिफ्ट पैक्स के दर्शन कराता है, जी हां, फेसबुक अपने सदस्यों का जन्मदिन मनाता है.