गीत/नवगीत

मेरा भारत महान

भारत नित ही विश्वगुरू है,देता सबको ज्ञान, संस्कार भारत के पाते,सबसे ही सम्मान। नीति और नैतिकता मोहक,हम सबसे सुंदर, पश्चिम से भारत के बेहतर,कला और विज्ञान। मानवता को हमने जाना,हिंसा को त्यागा, करुणा,दया,सत्य,मर्यादा,सद्कर्मों की आन। पूजा हमने चाल-चलन को,जीना सिखलाया, देह नहीं है रूह की भाषा,नैतिकता का मान। तीज और त्यौहारों से तो,चोखा बना समाज, […]

गीत/नवगीत

यह जीवन कितना देता है

यह जीवन कितना देता है यदि धैर्य रखे तू जीवन में। अमृत भी अनायास देता मदिरा के खाली बर्तन में।। परतों पर परतें लाद के तू जग में पावन अभिमानों की, अभिनयी शक्ति से हर पल ही नव मूर्ति गढ़े इंसानों की। यश अपयश हानि लाभ जीना मरना सब सौंप विधाता को,, जब आत्मगंग में […]

गीत/नवगीत

उठो देश के सजग प्रहरियों

उठो देश के सजग प्रहरियों, आ जाओ मैदान में, लोकतंत्र का बिगुल बज गया, हिस्सा लो मतदान में।। जगह-जगह पर प्रत्यासी हैं, नेता बनने के अभिलाषी है। तरह-तरह के लोभ दे रहे, जनता को बेमोल ले रहे। लेकिन हमको डिगा न सकते, ये बंजारे मतदान में।।१।। उठो देश के…… तुमको देश निहार रहा है, श्री […]

गीत/नवगीत

हौसले का गीत

असफलता है एक चुनौती,दो-दो वार करो। लिए हौसला,आगे बढ़कर,अब उजियार करो।। लिए हौसला,संग आत्मबल बढ़ना ही होगा जो भी बाधाएँ राहों में,लड़ना ही होगा काँटे ही तो फूलों का नित मोल बताते हैं जो योद्धा हैं वे तूफ़ाँ से नित भिड़ जाते हैं मन का आशाओं से प्रियवर अब श्रंगार करो। लिए हौसला,आगे बढ़कर,अब उजियार […]

गीत/नवगीत

दिल का शीशा

दिल का शीशा ऐसे टूटा, उनकी खुशी रह गई। शायद मेरी ही चाहत मे, कोई कमी रह गई। जिंदा हूं कांधों पे, वफ़ा की लाश लिये, उन्हें क्या कोई मरे,या कि कोई जिए, उठा लिये गम कि पलकों पे नमी रह ग्ई। शायद मेरी ही चाहत मे कोई कमी रह गई। सहमी हुयी धड़कनों को,करार […]

गीत/नवगीत

दिल की बात

ढलने लगा दिन ,जगने लगी रात आ जा रै मोरे बालम आ जा रै मोरे बालम कर ले तूँ दिल की बात साथी है मेरा बादल साथी है मेरा अंबर सुखा पड़ा मन मेरा छा जाओ दिल के अंदर बरसे वो जैसे आई अंगना में हो बारात ढलने लगा है दिन ,जगने लगी है रात […]

गीत/नवगीत

अधरों की मुस्कान पर

लिख डाले हैं गीत अनेको अधरों की मुस्कान पर।लिखे छंद कारे नैनों पर चढ़े कटीले बाण पर।कड़ी सर्द में तुम्हें लिखा है गुनगुनी धूप एहसास सा,अंधियारे में लिखा है तुमको मैने धवल प्रकाश सा।कवि बन बैठा गीतों को लिख यहाँ रूप की खान पर,लिख डाले हैं गीत अनेकों अधरों की मुस्कान पर।शब्दों के श्रृंगार से […]

गीत/नवगीत

कैसे कोई गीत सुनाये

कैसे कोई गीत सुनाये कितने साथी छूट गए सब रिश्ते नाते टूट गए पल-पल मरती आशाएं जब अपने ही लगें पराये कैसे कोई गीत सुनाये ? बचपन बीता अठखेली में यौवन बीता रंगरेली में भूले सब वह जो करना था खोये रहे एक पहेली में समय चक्र आगे निकला संग आने की टेर लगाये कैसे […]

गीत/नवगीत

हम अर्चना करेंगे

हम अर्चना करेंगे ~~~~~~~~~~ हे वंदनीय भारत अभिनंदनीय भारत , जीवन सुमन चढ़ा कर आराधना करेंगे | तेरी जनम जनम भर हम अर्चना करेंगे | महिमा महान है तू गौरव निधान है तू, मन प्राण तू हमारा और आन बान है तू | तेरे लिए जिए हैं तेरे लिए मरेंगे | तेरी जनम जनम- – […]

गीत/नवगीत

सफलता का गीत

असफलता है एक चुनौती,दो-दो वार करो। फैला चारों ओर अँधेरा,अब उजियार करो।। साहस लेकर,संग आत्मबल बढ़ना ही होगा जो भी बाधाएँ राहों में,लड़ना ही होगा काँटे ही तो फूलों का नित मोल बताते हैं जो योद्धा हैं वे तूफ़ाँ से नित भिड़ जाते हैं मन का आशाओं से प्रियवर अब श्रंगार करो। असफलता है एक […]