गीत/नवगीत

सोने के पिंजरे में बंद मैना

सोने के पिंजरे में बंद हुई मैना बहुत कहा उससे पर मानी न कहना। ऊँची हवेली में फंस गई मैना स्वर्णिम चमक में डूब गई मैना लालच के चक्र ने घेर लिया उसको कट गए पंख फड़फड़ाए मैना। सोने के पिंजरे में बंद हुई मैना बहुत कहा उससे पर मानी न कहना। मोहरों पर तन […]

गीत/नवगीत

कैसे तुझे बधाई दे दूँ हे दिल्ली सरकार

निर्वाचन  के  महासमर में तूँने बहुमत पाया है। झाड़ू लेकर इधर से उधर कचरा खूब उड़ाया है। लोकतन्त्र के शेर आप हो और सभी के बाप तुम्हीं- थोड़ा सा बस कमल खिला ज्यादा कुचला कुम्हलाया है। कांग्रेस जीरो पर अटकी फिर भी चढ़ा खुमार। कैसे    तुझे    बधाई  दे  दूँ  हे दिल्ली सरकार।। चार […]

गीत/नवगीत

श्रद्धा के फूल – शहीदों की स्मृति में….

लेखनी कुछ फूल श्रद्धा के भी तुम उन पर चढ़ा दो। जो धरा की गोद में, सब कुछ लुटाकर सो गये हैं बीज आज़ादी के जो, अपने लहू से बो गये हैं, जिनके कारण गंगा के, साहिल सुनाते गीत हैं, और बरफ की वादियों में, गूँजता संगीत है, वंदना में झुक के तुम भी, शीश […]

गीत/नवगीत

प्रेम के गीत

वेलेंटाईन डे के अवसर पर विशेष 1.प्रेम प्रभु का वरदान है   प्रेम मन की आशा है, करता दूर निराशा है, चन्द शब्दों में कहें तो, प्रेम जीवन की परिभाषा है. प्रेम से ही सुमन महकते हैं, प्रेम से ही पक्षी चहकते हैं, चन्द शब्दों में कहें तो, प्रेम से ही सूरज-चांद-तारे चमकते हैं. प्रेम […]

गीत/नवगीत

गीत – संदेश बिना आ जाओगे

जब गीत बुलाएँगे मेरे, तुम खुद को रोक न पाओगे संदेश बिना आ जाओगे। प्रेमी मन का जब गठबंधन, इक -दूजे से हो जाता है उठती है उर में हूक कहीं, प्रियतम जब कोई बुलाता है ये तो वाणी है रुहों की, कानों से ना सुन पाओगे। संदेश बिना आ जाओगे। दुनिया कहती है गीत […]

गीत/नवगीत

पतझर के बाद बहारों का, मौसम आता है आएगा…

बगिया में ठूठ हुई शाखों, को देख निराश न हो माली। पतझर के बाद बहारों का, मौसम आता है आएगा।। दुख देते हैं पीड़ा के पल, उल्लासित करता हर्ष कभी। सबके जीवन में आता है, अपकर्ष कभी उत्कर्ष कभी।। परिवर्तन का है नियम अटल, कोई भी रोक न पाएगा… पतझर के बाद बहारों का, मौसम […]

गीत/नवगीत

गीत (मैं तो हूं केवल अक्षर)

मैं तो हूं केवल अक्षर तुम चाहो शब्दकोश बना दो लगता वीराना मुझको अब तो ये सारा शहर याद तू आये मुझको हर दिन आठों पहर जब चाहे छू ले साहिल वो लहर सरफ़रोश बना दो अगर दे साथ तू मेरा गाऊं मैं गीत झूम के बुझेगी प्यास तेरी भी प्यासे लबों को चूम के […]

गीत/नवगीत

अनुराग का तराना

मिला कोय तो जीवन बदला,नेह-मेघ घिर आये हैं । फूलों में खुशबू फिर लौटी,नव संदेशे आये हैं ।। मन गाता है परभाती अब, भजन-आरती भाते हैं संध्यावंदन से नाता अब, पंछी ख़ूब सुहाते हैं दिल है उपवन,महके हर पल,आकर्षण घिर आये हैं ! फूलों में खुशबू फिर लौटी,नव संदेशे आये हैं ।। कोई भी अब […]

गीत/नवगीत

ख्वाहिशों के अल्फाज़ (गीत)

अल्फाज़ ख्वाहिशों के हैं ये; आरज़ू के साज़, एहसास गुनगुना रहे नग़्मे ; जो सुर्ख़ आज। सोचा था रखें दिल में ही; चाहतों के राज़, चेहरा जो था ख़याल में; वो रूबरू है आज, आँखें करें सवाल ये; हक़ीक़त है या ख़्वाब ? रूह का तेरी रूह से मेरी; नाता जुड़ा है आज। अल्फाज़ ख्वाहिशों […]

गीत/नवगीत

ऐग्जिट पोल के नतीजों पर पहली प्रतिक्रिया

भारत माता सिसक रही हैं,तुम सब की नादानी पर, तुम जमीर को बेच दिए, केवल बिजली व पानी पर ।। तुम बोले मंदिर बनवाओ, ‘उसने’ काँटा साफ किया, और तीन सौ सत्तर धारा वाला स्विच ही ऑफ किया, इच्छा यही तुम्हारी थी,घुसपैठी भागें भारत से, लाकर के कानून हौंसला घुसपैठी का हाफ किया। राणा-वीर शिवा […]