Category : गीत/नवगीत


  • सो जाती है न्याय व्यवस्था

    सो जाती है न्याय व्यवस्था

    पीड़ित को दे तारीखें जब, सो जाती है न्याय व्यवस्था। तब कानून कबीलों वाले, जनता को भाने लगते हैं।। कुछ सत्ता की उदासीनता, कुछ शाशन का नाकारापन। नही सुनिश्चित कर पाता जब, तय कानूनो का अनुपालन।।...


  • इंसाफ हुआ है

    इंसाफ हुआ है

    एकदम सही ये जुर्म के खिलाफ हुआ है छुपा न कुछ भी पूरा साफ साफ हुआ है दक्षिण की खबर सुनके लग रहा है ये भारत में आज असली इंसाफ हुआ है कर्म जैसे थे किए...

  • दोहा गीत

    दोहा गीत

    जो विपदा में साथ दे, और हरे सब पीर। साथी सच्चा है वही, रहे सदा गंभीर।। बातें हितकर जो करें, और मधुर व्यवहार। उसे हितैषी जानिए, कहे प्रेम सुन यार। मिलने पर हर्षे सदा, होवे आत्म...


  • हुनर सीख लो

    हुनर सीख लो

    बांटने से विद्या बढ़ती है विद्या को बांटने का हुनर सीख लो, अन्न-धन को भी बांटने का हुनर सीख लो, मान-सम्मान को बांटने का हुनर सीख लो, प्रेम-प्यार को बांटने का हुनर सीख लो, दूसरों की...

  • गीत – छलिया आदमी

    गीत – छलिया आदमी

    आदमी ही आदमी को छल रहा है। आदमी से आदमी क्यों जल रहा है।। मान – मर्यादा हुई तार – तार इतनी! टूटी सरहद मान की लगातार कितनी?? आदमी को आदमी क्यों खल रहा है। आदमी...

  • जीवन का संगीत

    जीवन का संगीत

    जो मेरा मनमीत बन गया। जीवन का संगीत बन गया।। जीवन की राहें रपटीली। उबड़ – खाबड़ और कँटीली।। हर पल-पल संग्राम ठन गया। जीवन का संगीत बन गया।। अपना जैसा सबको माना। हृदय दे दिया...

  • कल तुम्हारी जीत होगी

    कल तुम्हारी जीत होगी

    हौंसलो को आजमाओ ,साथ साहस का न छोड़ो । लाख भय हो हारने का ,तय सफलता भी मिलेगी । मत मनोबल टूटने दो ,कल तुम्हारी जीत होगी । डाल कर बाहें गले में ,वो बनी मनमीत...