Category : भजन/भावगीत

  • मैय्या-भजनमाला

    मैय्या-भजनमाला

    जय माता दी भजन-1. तर्ज़-(दे-दे जोगिया मैं तो यही वर चाहूं—–) शेरांवाली मां हमको तेरा ही सहारा तेरा ही सहारा हमको तेरा ही सहारा-शेरांवाली मां—- 1.तू है लाल चुनरिया वाली खुशियों की लाली देने वाली लालों-लाल...

  • कान्हा

    कान्हा

    मन में बसी श्याम की मनमोहक काया। सजे अधर पे बंसी सुर मधुर सजाया। भूली सब काम-धाम मैं देखो सखियो; मोर-मुकुट संग ह्रदय क्यों हाय लगाया। धुन मधुर बजाता और माखन चुराए; देखी भोली सूरत दिल...

  • संकटमोचन

    संकटमोचन

    कार्तिक नवमी कृष्णपक्ष सोम से प्रारम्भ मान। चतुर्दिनोट्सव शहस्र द्वै पंचाशत सम्बत जान।। सम्बत अहै प्रमाण थापना महाबली की। जात्बरात सेमरहस उत्तर दिसि कल्याणी।। जय जय जय बजरंगवीर,तेरी गूँजत जय जयकार चली जलमे तुमको धूढ़न कारन,भक्त...

  • भजन

    भजन

    हे!प्रभु तेरो नाम अधारा।। जीवन पथिक को पथ दो स्वामी,कर दो पथ का तम निस्तारा। भटक रहा हूँ मग दुर्गम तम,दिखता न कोई भी सहारा। देकर ज्ञानप्रकाश की ज्योति,भरो जीवन मे उजियारा।नाम तेरो लै पार गए...

  • लोक गीत

    लोक गीत

    चलौ सखी लागल अगहनवा,मगन मन झूमत किसनवा।झूमत किसनवा हो झूमत किसनवा,चलौ सखी लागल अगहनवा मगन मन झूमत किसनवा।। हरी अरहरिया कै देखबै बहरिया,बैठि बैठि पिया के सदनवा।मगन मन झूमत किसनवा। झूमत किसनवा हो झूमत किसनवा।चलौ सखी...

  • भक्तों का बेड़ा पार

    भक्तों का बेड़ा पार

    मैय्याजी तू कर देना भक्तों का बेड़ा पार उनको तो बस तेरा सहारा तू ही है आधार- 1. हमने सुना जो तुझको ध्याएं, तू भी उनका ध्यान लगाए किसी रूप में कर देती है उन पर...

  • जय-जय बजरंगी

    जय-जय बजरंगी

    जय-जय बजरंगी हम पर होना दयाल करुणासागर करुणा करना हम पर होना कृपाल जय-जय बजरंगी—– 1. रामदूत अतुलित बलधामा, अंजनिपुत्र पवनसुत नामा तेरी महिमा का बजरंगी कोई न पाए पार जय-जय बजरंगी—– 2. दुर्गम काज जगत...

  • तेरा जन्मदिवस है आया

    तेरा जन्मदिवस है आया

    तेरा जन्मदिवस है आया (2) कि प्रभुजी ने कृपा दा (2) मींहं वसाया 1.भरे रहण खुशी दे भंडारे (2) कि प्रभुजी ने खुशियां दा (2) मींहं वसाया 2.सूरज बरसाए सोना (2) कि चंदा ने चंदनिया दा...

  • अर्चना

    अर्चना

    सच्चे मन से जो पुकारे,माँ माँ माँ, भक्तों के कष्टों को हरती तुरत माँ।। हाथ फूल माला जल अछत को लेके, करो माँ की सेवा तन मन धन देके, याद सच्चे मन से करो देगी दरश...