भजन/भावगीत

शुभ सभी संचार दे

अखिलेश्वरी, भुवनेश्वरी, सर्वेश्वरी माँ शारदे सम्बल हमें दे लेखनी का ज्ञान का आधार दे हे शुभ्र वसना तू सदा रहना मेरे संग-साथ ही वीणा की ध्वनि कानों में हो मसि लेखनी हो सहचरी शत् जन्म लूँ भारत में मैं, इतना मुझे अधिकार दे जहाँ वेद गाते यश तेरा होता है गान कुरान का वह देश […]

भजन/भावगीत

मां शारदे *

हम अज्ञानी और अल्प बुद्धि है, मां शारदे इतना उपकार करो। हम सब के अन्तर्मन में, झंकृत वीणा तार करो। अन्दर ऐसा भाव जगाओ, जन-जन का उपकार करे। हम से यदि त्रुटियां हो जाय, उनको तुम माफ़ करो मां। निर्मल करके तन मन सारा, सकल विकार मिटाओ मां। बुरा न देखें बुरा कहें मत, विनय […]

भजन/भावगीत

छठ मईया की महिमा अपरम्पार

उनकी ही तो अनुकंपा से चलता है संसार महिमाशाली छठ मईया की महिमा अपरम्पार कार्तिक माह में मईया जी आती हैं भक्तों के घर व्रतियों की झोलियां वो खुशियों से देतीं है भर तीन दिवस तक मां बसती है भक्तों के घर आंगन में मां का स्वरूप दिखता है वातावरण के कण कण में माता […]

भजन/भावगीत

स्नेह दे मां शारदे!

स्नेह दे माँ शारदे, स्नेह दे माँ शारदे | अज्ञान शिशु स्वर साधना दे,शब्दो में आशीष भर दे | भाव की सुकमारता माँ,मृदुता भरी लय तान दे , सारगर्भित अर्थ दे माँ, काव्य की पहचान दे , हो न जाये मान मुझको, दृष्टि ऐसी डार दे | स्नेह दे माँ शारदे, स्नेह दे माँ शारदे […]

भजन/भावगीत

ऐसी कृपा करो तुम हे प्रभुवर !

मन में हो उदासी तो ,खुशियों के दीप नहीं जलते  हो पूनम की रात, तो अंधकार नहीं रुकते आज धरा की चाहत हैं, मेहनत और संघर्षों की हर  मानव में दृश्य दिखें, मानवता के माला की  ऐसी कृपा करों तुम हें! प्रभुवर । उड़ जाए खग के जैंसें, मानव के अहंकार  राग द्वेष सब दूर […]

भजन/भावगीत

भजन – प्रभु जी सुनो विनती हमारी

प्रभु इतना ध्यान रखना जब अंत समय आए ! दर्शन का हमको दान देना जब अंत समय आए! प्रभु जी अब सुन लो बस इतनी विनती हमारी!  हम सेवक रहे तुम्हारे सदा और  तुम हमारे स्वामी! परिवार का रक्षक पालन पोषण सदा करना! जब तक हो इस धरती पर सांस में सांस हमारी! अपनी कृपा […]

भजन/भावगीत

माँ दुर्गे 

आदि शक्ति हे माँ दुर्गे महारानी करो कृपा हे माँ जगत कल्याणी तुम्हरी महिमा अपरंपार है मईया ये जग नाव है बस तुम हो खिवैया तुम्हरे दम पर माँ कुदरत चलती फूल महकते कलियाँ खिलती तम्हरी भक्ति से मन होता पावन माँ अर्पित तुम्हें है ये मेरा तन मन जैसे जग में सबको पार लगाया […]

भजन/भावगीत

माँ शेरावाली

माँ दुर्गा तुम्हारी आरती मैं करूँ भक्ति के साथ चरणों में माथा धरें सबल,दुर्बल, दीन अनाथ। सुरों में सरगम सजा दो गीत दो झंकार दो माँ खड़ा हूँ कबसे ही किनारे मुझे मझधार दो माँ। खुशियाँ अपार दो नाते रिश्तों में प्यार दो माँ बुराईयों का खात्मा,समाज को संस्कार दो माँ। हृदय कभी ना विचलित […]

भजन/भावगीत

फिर सदाबहार काव्यालय- 42

शारदीय नवरात्र के अवसर पर विशेष लेके नौ दिन की बहार मैय्या राणी आई है (मैय्या राणी भजन)   (तर्ज़- बाजे-बाजे रे बधाई बहिना तेरे अंगना——) लेके नौ दिन की बहार मैय्या राणी आई है मैय्या राणी आई है, अम्बे राणी आई है, महाराणी आई है- पहले दिन मां शैलपुत्री जी आईं दरश दिखाने दूसरे […]

भजन/भावगीत

माँ की महिमा

नव दुर्गा मात की  महिमा है अपरंपार, नौ रूप है शक्ति तेरे  जग की तू है पालनहार । सुनहरे रंगो की लेकर मन में फुहार, अद्भूत सिंह पे होकर चली है सवार । रिश्तो में जोड़ देती है ऐसी कड़ियां, खुशियो की लगा देती है झड़िया। फूलों की बगिया को बहार से महकाती हो, मन […]