Category : भजन/भावगीत

  • हे शिवशंकर महादेव प्रभु

    हे शिवशंकर महादेव प्रभु

    हे शिवशंकर महादेव प्रभु, हमको बस तेरा सहारा है तू नैया तू ही खिवैया है, तू ही पतवार-किनारा है- 1.तुम बल-बुद्धि-ज्ञान के सागर हो, अभयंकर हो भय हरते हो हमें बल-बुद्धि-ज्ञान दे अभय करो, हमको बस...

  • मां ने मेरी आस पुजाई

    मां ने मेरी आस पुजाई

    मां ने मेरी आस पुजाई, अम्बे मां की जय-जय बोलो अम्बे मां की जय-जय बोलो, अम्बे मां की जय-जय बोलो- 1.मैंने मां से विनती की थी, कभी तो खुशियां दे दो मां ने तुरंत खज़ाना खोला,...



  • मैय्या-भजन

    मैय्या-भजन

    मैय्या के द्वारे की मैं बनूंगी जोगनिया अलख जगाऊंगी मैं सारी-सारी रतियां बनूंगी जोगनिया- मैय्या के द्वारे की मैं बनूंगी जोगनिया   1.लाल चुनरिया लाऊंगी मैं मैय्या को ओढ़ाऊंगी हीरों वाला चूड़ा लाल मैं मैय्या को...

  • मैय्या-भजनमाला

    मैय्या-भजनमाला

    जय माता दी भजन-1. तर्ज़-(दे-दे जोगिया मैं तो यही वर चाहूं—–) शेरांवाली मां हमको तेरा ही सहारा तेरा ही सहारा हमको तेरा ही सहारा-शेरांवाली मां—- 1.तू है लाल चुनरिया वाली खुशियों की लाली देने वाली लालों-लाल...

  • कान्हा

    कान्हा

    मन में बसी श्याम की मनमोहक काया। सजे अधर पे बंसी सुर मधुर सजाया। भूली सब काम-धाम मैं देखो सखियो; मोर-मुकुट संग ह्रदय क्यों हाय लगाया। धुन मधुर बजाता और माखन चुराए; देखी भोली सूरत दिल...

  • संकटमोचन

    संकटमोचन

    कार्तिक नवमी कृष्णपक्ष सोम से प्रारम्भ मान। चतुर्दिनोट्सव शहस्र द्वै पंचाशत सम्बत जान।। सम्बत अहै प्रमाण थापना महाबली की। जात्बरात सेमरहस उत्तर दिसि कल्याणी।। जय जय जय बजरंगवीर,तेरी गूँजत जय जयकार चली जलमे तुमको धूढ़न कारन,भक्त...

  • भजन

    भजन

    हे!प्रभु तेरो नाम अधारा।। जीवन पथिक को पथ दो स्वामी,कर दो पथ का तम निस्तारा। भटक रहा हूँ मग दुर्गम तम,दिखता न कोई भी सहारा। देकर ज्ञानप्रकाश की ज्योति,भरो जीवन मे उजियारा।नाम तेरो लै पार गए...

  • लोक गीत

    लोक गीत

    चलौ सखी लागल अगहनवा,मगन मन झूमत किसनवा।झूमत किसनवा हो झूमत किसनवा,चलौ सखी लागल अगहनवा मगन मन झूमत किसनवा।। हरी अरहरिया कै देखबै बहरिया,बैठि बैठि पिया के सदनवा।मगन मन झूमत किसनवा। झूमत किसनवा हो झूमत किसनवा।चलौ सखी...