भजन/भावगीत

हे जग जननी

हे जगत जननी दुर्गे अंबे, हे महामाया अंबिका, तोडो ये चक्रव्यूह अब, मन जिसमें मेरा उलझ रहा, नहीं ज्ञान मुझको भाग्य का, जीवन मरण की चाल का, मन घिर रहा संताप से, बन जाओ अब तुम चंडिका। हर ओर जीवन के लिए, सब लड़ रहे संग्राम हैं, महिषासरों के भेष हैं, और रक्त रंजित प्राण […]

भजन/भावगीत

हे! भोलेभंडारी

हे त्रिपुरारी,औघड़दानी,सदा आपकी जय हो। करो कृपा,करता हूँ वंदन,यश मेरा अक्षय हो।। तुम तो हो भोले भंडारी, हो सचमुच वरदानी भक्त तुम्हारे असुर और सुर, हैं सँग मातु भवानी यही कामना करता हूँ शिव,मम् जीवन में लय हो। करो कृपा,करता हूँ वंदन,यश मेरा अक्षय हो।। लिपटे गले भुजंग अनेकों, माथ मातु गंगा है जिसने भी […]

भजन/भावगीत

सर्व हितकारी मां

हे दुख हारणी पालनहार, जग से न्यारी मां। कष्ट निवारण तारणहारी, सब से प्यारी मां। तेरे रूप अनेक जगदम्बे, लक्ष्मी सरस्वती काली मां। धन दौलत विद्या की देवी,कालयामनी श्यामली मां। पतित पावनी जाननहारी,सर्व हितकारी मां। कष्ट  निवारण तारणहारी, सब से प्यारी मां। सुख समृद्धि यशमान बढ़ाई, मिले मां तेरी कृपा होती। तेरी लीला तीन लोको […]

भजन/भावगीत

कविता- गुपाल छन्द

जागो जागो, मदन गुपाल, स्वीकारों यह, पूजन थाल | माखन मिसरी, भोग महान, खाओ आकर, हुआ विहान || मोर पंख का, मुकुट ललाम, शोभा पर है,  मोहित काम | कर में मुरली, तिलकित भाल, फूलों जैसे, कोमल गाल || सबको करता, मोहित रूप, सबसे सुन्दर, और अनूप | दिखा मुझे दो, वह घनश्याम, आज सजा […]

भजन/भावगीत

महादेव

नीलकंठ वो है गंगाधर मृत्युंजय, अज,भूपति हर शिव शंभु, हे महादेव वीरभद्र वो है पिनाकी रहते सदैव भी एकांकी गिरीश,अघन, जटा धारी हर शिव शंभू, हे महादेव शक्ति बिन शिव शव समान दिनन का वो रखते मान सामप्रिय,त्रियमूर्ति,प्रजापति हर शिव शंभू, हे महादेव भोले है वो निर्मल स्वभाव शमशानों में रहते फिर भी पवित्र अष्टमूर्ति, […]

भजन/भावगीत

नीलकंठ हो तभी कहाते

शिव भोले तेरी माया अपरंपार मेरा नमन तुझको बारम्बार जो भी शरण में आया तेरी उसका हो गया बेड़ा पार जब देवता और दानवों ने समुद्र मंथन कर डाला अमृत देवता पी गए हलाहल आप ने पी डाला हाथों में त्रिशूल और डमरू जटा में तेरी गंगा बिराजे सारे दानव डर के मारे फिरते हैं […]

भजन/भावगीत

भोले भंडारी

हे मेरे प्रभू महेष बाबा शिव भोले भंडारी । मै सोमेश बना बन्दर बाबा भोले बने मदारी ।। हाथ डमरू त्रिशूल बाघाम्बर ओढ़े त्रिपुरारी । देने वाले आप हो प्रभू मै हूँ केवल भिखारी ।। भष्म रमाये बैठे करते हो नंदी की सवारी । जन्म जन्म से हूँ  बाबा आपका आभारी।। गले मे नाग की […]

भजन/भावगीत

भगवान शिव

जहाँ सारा दुनिया जिसकी शरण मे , नमन है उस भगवान शिव के चरण मे , हम बने उस महाकाल के चरणों की धूल , आओ हम – सब मिल कर चढ़ाये  उनके चरणों में श्रद्धा के फूल ! महाकाल की हमेशा बनी रहे मुझ पर छाया , पलट दे मेरी किस्मत की काया , […]

भजन/भावगीत

धन्यवाद है तेरा मेरे भोले जी

धन्यवाद है तेरा मेरे भोले जी, काम संवारा मेरा मेरे भोले जी जय-जय-जय मेरे भोले जी, जय-जय-जय मेरे भोले जी- 1.मुझको तो जब कहीं सहारा मिला नहीं हे स्वामी तुम ही सहारा बनकर आए मेरे अंतर्यामी मेरे भोले जी- जय-जय-जय मेरे भोले जी, जय-जय-जय मेरे भोले जी- 2.तेरे दर पर जब आई तब छाई थी […]

भजन/भावगीत

भोले भव से कर दो पार

भोले भव से कर दो पार पकड़ लो मेरी बैंयां पकड़ लो मेरी बैंयां पकड़ लो मेरी बैंयां-भोले भव से कर दो————– 1. मैं पार उतरना चाहूं मुझे राह न कोई सूझे मेरे दांएं-बांएं सब हैं मेरा हाल न कोई बूझे शंकर शरण में ले लो आके पकड़ लो मेरी बैंयां-भोले भव से कर दो————– […]