Category : भजन/भावगीत

  • प्रभु की बगिया

    प्रभु की बगिया

    मुझे प्रभु तेरी बगिया में आना है तेरे फूलों से मन महकाना है-   1.इक फूल हो धीरज का दाता जो मिल जाए शीश धरूं दाता तेरी रज़ा में ही शुक्र मनाना है तेरे फूलों से...


  • देवी गीत

    1. अंबा माँ मोहनी मूरत तुम्हारी चक्र गदा त्रिशूल तलवार धारी अंबा माँ ……. 2. ममतामयी मनमोहनी मूरत करुणामयी बड़ी सोहिनी प्यारी अंबा माँ ……. 3. सुन्दर इतनी मुँह से बोले सत्य शिव सुन्दर मनोहारी अंबा...

  • मैया जी की आयी सवारी

    मैया जी की आयी सवारी

    ( आज से शारदीय नवरात्रोत्सव का प्रारम्भ हो रहा है । आज से जगतजननी मां दुर्गाजी के नौ विभिन्न स्वरूपों की नौ दिन तक पूजा अर्चना की जाती है । पेश है इसी सुअवसर पर गाया...

  • आई-आई है मेरे अंगनवा

    आई-आई है मेरे अंगनवा

    आई-आई है मेरे अंगनवा, मुरलीवाले की प्यारी सवारी अब तो डंका बजाके कहूंगी, महकी किस्मत की प्यारी फुलवारी- कभी चलते थे मेरे आगे-आगे, मुझे रस्ता दिखाते बनवारी उनकी ऐसी अदा पे बलिहारी, महकी किस्मत की प्यारी...

  • सरस्वती-वंदना

    सरस्वती-वंदना

    मातु शारदे, नमन् कर रहा, तेरा नित अभिनंदन है ! ज्ञान की देवी, हंसवाहिनी, तू माथे का चंदन है !! अक्षर जन्मा है तुझसे ही, तुझसे ही सुर बिखरे हैं वाणी तूने ही दी सबको, चेतन-जड़...

  • सम्पूर्ण गणेशोत्सव

    सम्पूर्ण गणेशोत्सव

    गणेशोत्सव के सभी अवसरों के लिए स्वरचित भजनों पर आधारित काव्य रूपक गणपति बप्पा मोरिया, मंगल मूर्त्ति मोरिया 1.प्रतीक्षा गणदेवा आएंगे, खुशियों ने खबर दी है सब काम बनाएंगे, खुशियों ने खबर दी है- 1.जीवन की...

  • गणेश-वंदना

    गणेश-वंदना

    हे विघ्नविनाशक,बुद्धिप्रदायक, नीति-ज्ञान बरसाओ । गहन तिमिर अज्ञान का फैला,नव किरणें बिखराओ।। कदम-कदम पर अनाचार है, झूठों की है महफिल आज चरम पर पापकर्म है, बढ़े निराशा प्रतिफल एकदंत हे ! कपिल-गजानन,अग्नि-ज्वाल बरसाओ । गहन तिमिर...

  • कान्हा आ जाना

    कान्हा आ जाना

    बाट देखूं मैं तेरी बेकरारी से कान्हा तू आ जाना …..२ आ जाना ….फिर ना जाना …..२ फिर से मुरली बजाना प्यारी प्यारी मधुर धुन सुना जाना बाट देखूं मैं तेरी बेकरारी से कान्हा तू आ...

  • मुरलीवाले की प्यारी सवारी

    मुरलीवाले की प्यारी सवारी

    आई-आई है मेरेअंगनवा, मुरलीवाले की प्यारी सवारी अब तो डंका बजा के कहूंगी, महकी किस्मत की प्यारी फुलवारी- 1.कभी चलते थे मेरे आगे-आगे, मुझे रस्ता दिखाते बनवारी उनकी ऐसी अदा पे बलिहारी, महकी किस्मत की प्यारी...