Category : भजन/भावगीत

  • छठ मईया की महिमा अपरम्पार

    छठ मईया की महिमा अपरम्पार

    उनकी ही तो अनुकंपा से चलता है संसार महिमाशाली छठ मईया की महिमा अपरम्पार कार्तिक माह में मईया जी आती हैं भक्तों के घर व्रतियों की झोलियां वो खुशियों से देतीं है भर तीन दिवस तक...




  • माँ दुर्गे 

    माँ दुर्गे 

    आदि शक्ति हे माँ दुर्गे महारानी करो कृपा हे माँ जगत कल्याणी तुम्हरी महिमा अपरंपार है मईया ये जग नाव है बस तुम हो खिवैया तुम्हरे दम पर माँ कुदरत चलती फूल महकते कलियाँ खिलती तम्हरी...

  • माँ शेरावाली

    माँ शेरावाली

    माँ दुर्गा तुम्हारी आरती मैं करूँ भक्ति के साथ चरणों में माथा धरें सबल,दुर्बल, दीन अनाथ। सुरों में सरगम सजा दो गीत दो झंकार दो माँ खड़ा हूँ कबसे ही किनारे मुझे मझधार दो माँ। खुशियाँ...

  • फिर सदाबहार काव्यालय- 42

    फिर सदाबहार काव्यालय- 42

    शारदीय नवरात्र के अवसर पर विशेष लेके नौ दिन की बहार मैय्या राणी आई है (मैय्या राणी भजन)   (तर्ज़- बाजे-बाजे रे बधाई बहिना तेरे अंगना——) लेके नौ दिन की बहार मैय्या राणी आई है मैय्या...

  • माँ की महिमा

    माँ की महिमा

    नव दुर्गा मात की  महिमा है अपरंपार, नौ रूप है शक्ति तेरे  जग की तू है पालनहार । सुनहरे रंगो की लेकर मन में फुहार, अद्भूत सिंह पे होकर चली है सवार । रिश्तो में जोड़...

  • हे केशव

    हे केशव

    हे केशव, हे मधुकर, हे कृपासिंधु देवकीनंदन, हे मुरलीधर, हे श्रीकृष्ण है तुमको शत बार नमन। भारत भू के नायक हो तुम, अखिल विश्व के पालक हो, मानवता के प्रतिपालक हो तुम, दुष्ट दलों के संहारक...

  • चल कैलाश पति के धाम

    चल कैलाश पति के धाम

    ॐ नाम का दर्शन होगा ,चल कैलाश पति के धाम । शिखर हिमालय मानसरोवर ,सम पूरण हैं चारों धाम । हिंदू संस्कृति का प्रतिबिंब ,कल्पवृक्ष की छाँव यहाँ , पवित्र  रूप  शिव शंकर का है, हिम...