भजन/भावगीत

•भजन•वो अपना बांके बिहारी…

•भजन• नंद जी के नंदन का, अवसर है अभिनंदन का, गा भजन अब वंदन का, टीका कर ले चंदन का, फिर आयेगा रे गिरधारी, वो अपना बांके बिहारी| है हृदय ठकुरानी राधा, मुरली बिन घनश्याम आधा, तन सुंदर पितांबर ओढ़े, लहराए जब आंगन दौड़े, जिसकी काया कारी-कारी, वो अपना बांके बिहारी| नटखट माक्खन चोर निराला, […]

भजन/भावगीत

श्यामा इतनी-सी आस अघा देना

श्री कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं भजन मेरे जीवन को सरल बना देना, श्यामा इतनी-सी आस अघा देना- 1.मन निर्मल हो कपट से दूर रहे प्रेम-प्यार से सदा भरपूर रहे बस आनंद की सरिता बहा देना, श्यामा इतनी-सी आस अघा देना-   2.सद्भाव सदा मेरे साथ रहे सिर पर प्रभु तेरा हाथ रहे जीवन को […]

भजन/भावगीत

ओ गिरधर गोपाला ( भजन )

ओ गिरधर गोपाला अब तो आ जाओ ना आ जाओ ना अब तो आ जाओ ना ओ गिरधर गोपाला अब तो आ जाओ ना ।। व्याकुल गोपियाँ तोहे पुकारें ‘पुकारें नन्द नगरिया देर भइ नंदलाला आ जा देखूं तेरी डगरिया फिर से मधुर मुरलिया कान्हा ‘ ओ………. फिर से मधुर मुरलिया कान्हा सुना जाओ ना […]

भजन/भावगीत

ऐरे कान्हा मेरे

ऐरे कान्हा मेरे, एक सहारा तेरा दूजा कोई नहीं, इस जहां में मेरा । तुझ संग प्रीत है जोड़ी मैनें तोड़े सारे बंधन, लोकलाज सब छोड़ के मैं तो बन गई तेरी जोगन, मेरे दिल पे लिखा,एक नाम तेरा ऐरे कान्हा मेरे…….. प्यास बुझी वर्षों की मेरी अब कोई प्यास लगे ना, तेरे रंग में […]

भजन/भावगीत

मोहन मुरलीवाले, मोहन मुरलीवाले

श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर एक कृष्ण-भजन मनमोहन ने मोह लिया मन, बन गए सबके प्यारे आज जन्मदिन मोहन का है, बरसेंगे रस-धारे- मोहन मुरलीवाले, मोहन मुरलीवाले (2) 1.देवकी मां ने जन्म दिया, यशोमति ने उनको पाला वसुदेव-नंदन होकर भी कहलाए वे नंदलाला- मोहन मुरलीवाले, मोहन मुरलीवाले (2) 2.शीश पे उनके मोरमुकुट है, गल वैजंतीमाला कानों […]

भजन/भावगीत

कृष्ण भजन

-: निशदिन मोहन:- निशदिन मोहन तुझको ही पुकारूं सांझ सवेरे तेरा रस्ता निहारूं सांवरी सूरत पे जाऊं बलिहारी हारी रे बिहारी अपना दिल भी मै हारी ये दिल और जान तुझपे वारूं निशदिन मोहन…….. कब ते निहारूं तेरी मोहनी मूरत आजा रे कन्हैय मुझे तेरी जरूरत तेरी हर अदा लगती है सुहानी बनी रे दीवानी […]

भजन/भावगीत

श्याम

मन में बसी श्याम की मनमोहक काया। अधरों पे सजे बांसुरी जाने सुर क्या सजाया। भूल गई सब काम धाम मैं देखो सखी री, ह्रदय उस मोर मुकुट संग जब से लगाया। कहीं धुन मघुर बजाए कहीं माखन है चुराए, देख देख भोली सूरत दिल न कभी भर पाया। रास जब रचाए है श्याम सखियों […]

भजन/भावगीत

आई तीजों प्यारी आई

हरियाली तीज राधे झूला झूलन आई, झोंटे देवत कन्हाई झोंटे देवत कन्हाई, आई तीजों प्यारी आई-राधे झूला झूलन———-   1.राधे सज-धज झूलन आई, लाल चुनरिया शीश सजाई कान्हा प्यारे के मन भाई, झोंटे देवत कन्हाई-झोंटे देवत कन्हाई——- 2.सखियों ने मेहंदी घोली, मेंहदी राधे हाथ रचाई कान्हा प्यारे के मन भाई, झोंटे देवत कन्हाई-झोंटे देवत कन्हाई——- […]

भजन/भावगीत

गाइए गणपति गुण गाइए

गाइए गणपति गुण गाइए                                        भजन गौरी शंकर सुवन मनाइए (3)- गाइए गणपति गुण गाइए—- 1.गणपति सबके काज संवारें, गणपति सबके कष्ट निवारें- 2.गणपति सबके भाग्यविधाता, गणपति सिद्धिविनायक त्राता- 3.ऋद्धि-सिद्धि के गणपति स्वामी, घट-घट व्यापी अंतर्यामी- 4.श्रद्धा […]

कविता पद्य साहित्य भजन/भावगीत

गुरु पंचश्लोकी

“गुरु पंचश्लोकी” सद्गुरु-महिमा न्यारी, जग का भेद खोल दे। वाणी है इतनी प्यारी, कानों में रस घोल दे।। गुरु से प्राप्त की शिक्षा, संशय दूर भागते। पाये जो गुरु से दीक्षा, उसके भाग्य जागते।। गुरु-चरण को धोके, करो रोज उपासना। ध्यान में उनके खोकेेे, त्यागो समस्त वासना।। गुरु-द्रोही नहीं होना, गुरु आज्ञा न टालना। गुरु-विश्वास […]