बाल कहानी

बालकहानी : गणित की क्लास

 शाॅर्ट रिसेस के बाद क्लास में बैठने की घंटी लगी। बच्चे अपनी-अपनी क्लास में बैठने लगे। कक्षा पाँचवी के छात्र त्रयम्बक ने गौरव के कंधे पर हाथ रखते हुए कहा- “चल भाई जल्दी। नायक सरजी का गणित का पीरियड है। वे क्लास में जल्दी आ जाते हैं। चल दौड़ते हैं।”           […]

बाल कविता शिशुगीत

नशा नाश करता है

नशा नाश का कारण होता, तन-मन-धन का करता नाश, आत्मा तक भी बिक जाती है, परिवार का सत्यानाश! मोबाइल भी एक नशा है, सीमित हो इसका उपयोग, आंखें भी धोखा दे जातीं, लग सकते हैं और भी रोग. खुद भी समझें बात पते की, नशा बड़ों का भी छुड़वाएं, नशा मुक्त भारत बनाएं, आओ यह […]

बाल कविता

बालगीत – दो – दो खरहे पाले

मैंने दो – दो खरहे पाले। आधे गोरे आधे काले।। घर भर में वे दौड़ लगाते। दिखते कभी कभी छिप जाते। चिकने बाल सरकने वाले। मैंने दो – दो खरहे पाले।। सुबह सैर को मम्मी जातीं। घास नोंचकर उनको लातीं।। मैं कहता ले खरहे खा ले। मैंने दो – दो खरहे पाले।। कूकर बिल्ली से […]

बाल कविता शिशुगीत

बादल राजा

बादल राजा आएंगे, ढेरों खुशियां लाएंगे, रिमझिम-रिमझिम बरखा होगी, पंछी गाना गाएंगे. भीग-भीग पेड़ों के पत्ते, और हरे हो जाएंगे, ताल-तलैया जल से भरेंगे, हम झूमेंगे-नाचेंगे.

बाल कविता शिशुगीत

योग व्यायाम

आओ योग व्यायाम करें, स्वास्थ्य रहें खुशहाल रहें, आयु में होगी वृद्धि, सांसों में संचार करें. योग से योग हो बुद्धि में, योग से सोच में होगा योग, योग से विवेक में योग करें, जीने की उमंग में होगा योग. लेखिका- लीला तिवानी योग के दो अर्थ हैं- 1. योग व्यायाम 2. जोड़ या जुड़ना

बाल कविता

बरखा रानी — बाल मुक्तक

ख़ुशी फुहारें लेकर आई बरखा रानी ,मस्त बहारें लेकर आई बरखा रानी ,फूल खिल उठे पत्तों में आया नवजीवन ,हरे नज़ारे लेकर आई बरखा रानी।— महेंद्र कुमार वर्मा

बाल कविता

रक्तदान

सुनो राजू, सुनो नंदू सुनो गोलू,भोलू,चंदू  । रक्तदान  का  महत्व बताएं हम मित्र बंधू ।। ए,बी,एबी और ओ चार रक्त वर्ग जानों । इनके दो- दो समूह उनको तुम पहचानों ।। रक्त हैं जीवन आधार बिन रक्त के निराधार । शरीर में  बहता  रक्त देता हैं ऊर्जा की धार ।। हम  करते  कई दान सबसे  […]

बाल कविता

रक्तदान महादान

रक्तदान है महादान, इतनी बात समझ लो, एक बूंद ही जान बचाए, अपने मन में लिख लो. अभी हो छोटे फिर भी, बड़ों को समझा सकते, बड़ा होने पर तुम भी, रक्तदान कर सकते. रक्तदान करने पर बच्चो, हानि नहीं कोई होती, रक्तदान करने वाले की, जय-जयकार है होती.

बाल कविता

बचपन

पंख नहीं पर उड़ जाता है। इंद्र धुनुष सा बन जाता है, सात रंगों से भरी है दुनिया हर रंग कितना न्यारा है बचपन कितना प्यारा है भोली सूरत सच्ची सच्ची बिन मांगे सब मिल जाता है हर बच्चा अपने घर का ही होता राज दुलारा है बचपन कितना प्यारा है… मस्त पवन सा उड़ […]

बालोपयोगी लेख

दर्जी चिड़िया

प्यारे बच्चो,सदा खुश रहो, आज हम आपको ऐसी चिड़िया से मिलवा रहे हैं, जो सिलाई करती है, इसलिए इसे दर्जी चिड़िया कहते हैं. यह चिड़िया हरे रंग के पत्ते से अपना घर बनाती है, वो भी उसे चोंच की मदद से सिलकर. इसे अंग्रेजी में टेलरबर्ड (Tailor bird) कहते हैं. वह पत्तियों को आपस में […]