Category : बाल साहित्य


  • स्वतंत्रता दिवस पर

    स्वतंत्रता दिवस पर

    आगे इसे ले जाना है भारत सपूत हम सच्चे हैं देश सेवा से न पीछे हटेंगे मेहनत करेंगे डटकर हम गौरव-स्वाभिमान हित डटेगें कण-कण यहां का सोना उगले ऐसा भारत देश बनाना है एक-एक बुराई मिटाकर...

  • स्वच्छता

    स्वच्छता

    आओ बच्चे तुम्हे बताये स्वच्छता का निति अपनाये रोज सबेरे उठकर ब्रश से दॉत साफ करे पानी से हाथ पैर धोकर टॉवेल से पोछ सुखाया करे खेल कूद कर जब घर आये साबून से हाथ धोकर...

  • आइए कविता लिखना सीखें- 8

    आइए कविता लिखना सीखें- 8

    प्रिय बच्चो, रक्षाबंधन मुबारक हो, कविता लिखना सीखने के इस क्रम में हम आपको केवल कविता द्वारा अनेक विषयों पर कविता लिखना सिखाते हैं. आज रक्षाबंधन का पावन पर्व है. भाई-बहिन के सच्चे व निश्छल प्रेम...

  • काली बिल्ली

    काली बिल्ली

    काली बिल्ली जब घर आई। मम्मी ने रसमलाई छुपाई। जैसे ही देखा चूहों ने। झट से सरपट दौड़ लगाई चमकीली आँखे थी उसकी। वो मेरे मन को भाई। काली काली धारी वाली। बिल्ली मेरे घर आई



  • दादी की ढोलक

    दादी की ढोलक

    यह ढोलक है दादी की। दादी की परदादी की। दोनों इसे बजाती थीं। मिलकर गाने गाती थीं। हम भी इसे बजाते हैं। गाते हैं मस्ताते हैं। दादी को परदादी को, झुककर शीश नवाते हैं।

  • परी आयी

    सोये बच्चों, झट उठ जाओ बिस्तर छोड़ो, बाहर आओ नभ से परी उतर के आयी देखो संग वह क्या-क्या लायी सोने जैसे पंख निराले हाथों जादू छड़ी सम्हाले रंग-बिरंगा पहने चोला गोरा तन, मुखड़ा है भोला...

  • बाल पहेलियाँ

    बाल पहेलियाँ

    1. आसमान में पलते हैं क्षण में घिरते-टलते हैं काले-काले, उजले-उजले पानी लेकर चलते हैं   2. भिगो डालती सबको अक्सर कहीं खुशी तो कहीं दिखे डर बिन मौसम में खेले होली हाँ हम सब हैं...