अन्य बाल साहित्य

बाल पहेलियाँ

1. बच्चों का इक पर्व अनोखा ,   हर वर्ष जो आता है ।   हँसते गाते और नाचते ,  नई उमंगे लाता है ।। 2. तीस दिवस का बना महीना , है इसकी पहचान । सर्दी की यह दस्तक देता , जरा बताओ जॉन ।। 3. माह नवंबर में इक आता ,  प्यारा पर्व […]

अन्य बाल साहित्य

बेटी

आज भी हमारे देश में लड़कियों के साथ सौतेला व्यवहार हो रहा है पहले समय में लड़कियों की शिक्षा को कभी भी आवश्यक नहीं माना गया था लड़कियों को अभी विश्व आद्रता रूप से आजादी नहीं मिली है लड़कों के बराबर अधिकार नहीं मिला है लड़कियों के साथ आज भी घरेलू हिंसा व्यवहार किया जा […]

अन्य बाल साहित्य

इमरती लगने वाली बचपन की यादें

गर्मी  के दिन आते ही बड़ी बहन की बाते याद आती है |बचपन मे गर्मियों की छुट्टियों मे नाना -नानी के यहां जाते ही थे।जो आजादी हमें नाना -नानी के यहाँ पर मिलती उसकी बात ही कुछ और रहती थी | दीदी बड़ी होने से उसका हमारे पर रोब रहता था हर बात समझाती एवं […]

अन्य बाल साहित्य

सुन्दर रेखाचित्र

जय विजय की रचनाकार अंजु गुप्ता की सुपुत्री श्रेया गुप्ता ने अपने ग्रीष्मावकाश के दिनों में खाली समय का सदुपयोग रेखाचित्र बनाने में किया। उनके बनाये कुछ रेखा चित्र यहाँ प्रस्तुत हैं। — डॉ. विजय कुमार सिंघल    

अन्य बाल साहित्य

प्रदूषण हटाओ, पर्यावरण बचाओ

प्रिय बच्चो, सदा खुश रहो, आपके नाम हमारा यह पहला पत्र है. हमने आपको खुश रहने का आशीर्वाद दिया है, इससे आप सब बहुत खुश होगे और खुश होना भी चाहिए. पर एक बात याद रखने की है, कि खुश रहने के लिए स्वस्थ रहना आवश्यक है और स्वस्थ रहने के लिए शुद्ध पर्यावरण. पर्यावरण […]

अन्य बाल साहित्य

आओ सीखें

प्रिय बच्चो, आयुष्मान-बुद्धिमान-सेवामान, हमने आपको बहुत-बहुत प्यारे-से आशीर्वाद दिए हैं, आशा है आपके मन को भा गए होंगे. वैसे ये आशीर्वाद संस्कृत भाषा में हैं, इसलिए हम आपको इनके अर्थ बता देते हैं, ताकि आप आशीर्वाद का पूरा आनंद उठा सकें. आयुष्मान का अर्थ होता है, दीर्घायु यानी लंबी आयु होना. इस आशीर्वाद में लंबी […]

अन्य बाल साहित्य बालोपयोगी लेख

प्रदूषण हटाओ, पर्यावरण बचाओ

प्रिय बच्चो, सदा खुश रहो, आपके नाम हमारा यह पहला पत्र है. हमने आपको खुश रहने का आशीर्वाद दिया है, इससे आप सब बहुत खुश होगे और खुश होना भी चाहिए. पर एक बात याद रखने की है, कि खुश रहने के लिए स्वस्थ रहना आवश्यक है और स्वस्थ रहने के लिए शुद्ध पर्यावरण. पर्यावरण […]

अन्य बाल साहित्य बालोपयोगी लेख

फल-सब्जियां खाओ, चुस्ती-तंदुरुस्ती पाओ

प्यारे बच्चो, आयुष्मान-बुद्धिमान-सेवामान, आओ बच्चो आज आपको हम फल-सब्जियां खाने के फायदों के बारे में बताएं. सबसे पहले तो आप यह जान लें, कि स्वास्थ्य और आहार यानी भोजन का अटूट रिश्ता है. जैसा भोजन हम खाते हैं, वैसा ही हमारा स्वास्थ्य होता है. फलों और सब्जियों से विभिन्न प्रकार के विटामिन, खनिज और फाइटोकैमिकल्स […]

अन्य बाल साहित्य

इंद्रधनुष और उसके रंग

प्यारे बच्चो, आयुष्मान-बुद्धिमान-सेवामान, आज हम आपको इंद्रधनुष के बारे में बताने जा रहे हैं. इंद्रधनुष में सात रंग होते हैं, यह तो आप लोग जानते ही हैं. ये सात रंग हैं- बैंगनी नीला आसमानी हरा पीला नारंगी लाल इसे आप हिंदी में सूत्र रूप में ऐसे याद रख सकते हैं- “बैनीआहपीनाला” इसे आप अंग्रेजी में […]