Category : बाल कविता


  • चम्पू बन्दर

    चम्पू बन्दर

    चम्पू बन्दर मस्त कलंदर। चलता देखो कैसे तन कर। पढ़ने में थोड़ा सा कम पर। शैतानी में पहला नम्बर। डाल डाल कभी पात पात पर, लपक लपक कर उचक उचक कर, अभी आम खा कर बैठा...


  • लाल परी- नील परी

    लाल परी- नील परी

    कहा दादी से सोनू मोनू ने सुनाओ हमें कोई कहानी, आज ना देखेंगे कार्टून हम सुननी है हमें परी की कहानी। कहां दादी ने सोनू मोनू से फिर बैठो मेरे पास आकर, करना ना तुम शैतानी...

  • आई दिवाली

    आई दिवाली

    बाल काव्य सुमन संग्रह से बाल गीत 38.आई दिवाली जगमग-जगमग आई दिवाली, प्रेम के दीपक लाई दिवाली, जीवन में खुशियां भरने को, भेंट खुशी की लाई दिवाली. खेल-खिलौने, खील-बताशे, मेले-मिठाई लाई दिवाली, पूजा-अर्चा, मेल-मिलाप ले, आतिशबाज़ी, लाई दिवाली.

  • अच्छे बच्चे

    अच्छे बच्चे

      रेल चली भई छुक छुक छुक। हमने बोला रुक रुक रुक। ड्राइवर था वो बड़ा सयाना। उसने पूछा कहाँ है जाना। हम बोले नानी जी के घर। ड्राइवर बोला ज़ोर से हँस कर। पहले मुझको...


  • अच्छी आदतें

    अच्छी आदतें

    झटपट जागो सुबह को मोनू जाना है तुम्हें पाठशाला, दांतुन करके नहा धोकर पीना है दूध, भर प्याला। करो ना परेशान मां को तुम मां होती है बहुत ही प्यारी, ममता से भरा है मन उसका...

  • सदा सच ही तुम बोलो ।

    सदा सच ही तुम बोलो ।

    मीनू गोलु बंटी सुनो,पहले तोलो फिर बोलो। जब भी बोलो कभी,सदा सच ही तुम बोलो। सच की ताकत पहचानो,ये काम की बात है; झूठ के होते पाँव नहीं,झूठे का क्या विश्वास है। कभी कभी सच हमें,माना थोड़ा...