Category : बाल कविता

  • मेरी टीचर सबसे प्यारी

    मेरी टीचर सबसे प्यारी

    मेरी टीचर सबसे प्यारी, प्यार बहुत मुझे करती है, मेरे मन को सुमन बनाने,  की हर कोशिश करती है. नई-नई बातें सिखलाती, ज्ञान-भंडारे भरती है, मेरे मन के हर संशय को, अपने ज्ञान से हरती है....

  • दीपक

    दीपक

    बाल काव्य सुमन संग्रह से बाल गीत दीपक प्रेम-प्यार का दीपक प्यारा, जग-अंधियारा हरता है. आंधी और तूफानों से भी, तनिक नहीं यह डरता है. खुद जलकर औरों को देता, सुखदाई-तमहारी उजास. इससे सीखें हरदम देना,...


  • राखी बांधने आई हूं

    राखी बांधने आई हूं

    मैं तेरी छोटी-सी बहिना, राखी बांधने आई हूं, रेशम-डोर न इसे समझना, प्यार बांधने आई हूं. बड़े जतन से मैंने बनाई, भैय्या राखी प्यारी-सी, जल्दी से राखी बंधवा लो, कहती बहिन दुलारी-सी. हरा-भरा हो प्यार हमारा,...

  • बापू

    बापू

    बाल काव्य सुमन संग्रह से बाल गीत 10.बापू स्वतंत्रता के अथक पुजारी, विश्ववंद्य हे प्यारे बापू, सत्य-अहिंसा-प्रेम-सरलता, जग को सिखाने आए बापू. साक्षरता की जगमग ज्योति, जग में जलाने आए बापू, मानवता की ध्वजा-पताका, फहराने आए...


  • प्लास्टिक से आजादी

    प्लास्टिक से आजादी

    हम भारत के जागरुक बच्चे, चाहते प्लास्टिक से आजादी, प्लास्टिक के उपयोग से बोलो, करें क्यों अपनी बरबादी? स्वतंत्रता दिवस मनाना मन से,  प्लास्टिक के झंडे क्यों लेंगे? प्लास्टिक का उपयोग न करने का, संकल्प आज...

  • सैनिक

    सैनिक

    सीमा पर प्रहरी बनकर। भारत माँ की रक्षा करते।। शीत ताप वर्षा भी सहते। मातृभूमि का मान बढ़ाते।। वर्दी में तैनात सदा रहकर। माँ भारती की लाज बचाते।। तिरंगा मन में ये बसाकर। सीना ताने आगे...