Category : शिशुगीत

  • चिड़िया

    चिड़िया

      फुर्र-फुर्र करती आई चिड़िया दाना चुगकर लाई चिड़िया सबको प्यारी लगती चिड़िया पंछियों में न्यारी लगती चिड़िया तिनके चुन कर लाती चिड़िया सुन्दर घर बनाती चिड़िया हाथ लगाओ डर जाती चिड़िया उड़ अपने घर जाती...



  • शिशुगीत – 5

    शिशुगीत – 5

    १. टीवी चुटकी, भीम, कालिया, राजू सबसे हमको मिलवाता डोरेमॉन, घसीटा, मोटू पतलू के घर ले जाता डिस्कवरी चैनल टीचर सा बातें नयी बताता है छुट्टी मिलते टीवी देखो मजा बहुत ही आता है   २....

  • शिशुगीत – 4

    शिशुगीत – 4

    १. तोता मिर्ची खाना इसका काम जपता रहता “सीताराम” हरा शरीर लाल है चोंच हमने रखा मिठ्ठू नाम   २. कौआ काला-काला, काँव-काँव दिखता रहता मेरे गाँव मैना से करता झगड़ा खाता रोटी का टुकड़ा  ...

  • शिशुगीत – 3

    शिशुगीत – 3

    १. चिड़ियाघर जब भी छुट्टी आती है हम चिड़ियाघर जाते हैं भालू, चीता, टाइगर देख हँसते हैं, मुस्काते हैं   २. कबूतर उजला भी चितकबरा भी कई रंगों में आता है करे गुटरगूँ दाने चुग मुझे...

  • शिशुगीत – 2

    शिशुगीत – 2

    १. गेंद रंग-बिरंगी आती है मेरा मन बहलाती है बल्ले, हॉकी, रैकेट से ढेरों खेल खिलाती है   २. पंखा फर-फर, फर-फर चलता है गरमी दूर भगाता है निंदियारानी को लाकर सारी रात सुलाता है  ...

  • शिशुगीत – 1

    शिशुगीत – 1

    १. बंदर नटखट होता है बंदर उछले-कूदे इधर-उधर धूम मचा दे रस्ते में हँसी दिला दे सस्ते में खाता है रोटी, केले गुलदाने, गुड़ के ढेले २. भालू भालू मोटा, ताकतवर देख इसे लगता है डर...