Category : शिशुगीत

  • 35.मेला

    35.मेला

    (बाल काव्य सुमन संग्रह से)   मुझको बड़ा सुहाना लगता, कोई भी हो मेला, मेले में हो सजे-सजाए, लोगों का बस रेला. कुल्चे-छोले-रबड़ी-कुल्फी, खेल-खिलौने न्यारे, झूले-हाथी-ऊंट सवारी, मेले के खेल निराले.

  • 34.वृक्ष

    34.वृक्ष

    (बाल काव्य सुमन संग्रह से)   वृक्ष हमें फल-फूल हैं देते, अन्न-दालें-मेवे और धान, साज-सज्जा, खेलों की चीज़ें, फर्नीचर देते ये महान. मिट्टी का कटाव रोकते, मौसम के हैं ये सरताज, पत्थर खाकर भी फल देते,...

  • 33.सावन आया

    33.सावन आया

    (बाल काव्य सुमन संग्रह से)   सावन आया, सावन आया, हरियाली है सावन लाया, खुशियों से मन हर्षाने को झूले लेकर सावन आया. सूखी-प्यासी धरती की है, सावन प्यास बुझाने आया, खुशहाली का वाहक बनकर, झूम-झूमकर...

  • 32.काले बादल

    32.काले बादल

    (बाल काव्य सुमन संग्रह से)   काले बादल, काले बादल, घुमड़-घुमड़कर आए बादल, छाया करते प्यारे बादल, बादल हैं धरती का आंचल. श्याम रंग मोहन से पाया, राम से सुंदर मन है पाया, बरसाकर नभ से...

  • 31.वर्षा रानी

    31.वर्षा रानी

    (बाल काव्य सुमन संग्रह से)   प्यास बढ़े जब धरती मां की, आती वर्षा रानी, धरती पर खुशहाली लाती, धरती बने सुहानी. दादुर-मोर-पपीहा बोले, कूके कोयल काली, अन्न-फल-फूल झूमें-नाचें, मन हरती हरियाली.

  • 30.समय

    30.समय

    (बाल काव्य सुमन संग्रह से)   समय बहुत ही है अनमोल देता अनगिन रस्ते खोल समय की सीमा को पहचानो कभी न गर्व से बोलो बोल प्यार करोगे अगर समय से समय करेगा तुमसे प्यार समय...

  • 29. मछली

    29. मछली

    (बाल काव्य सुमन संग्रह से) ‘म’ मछली, जल में रहती है, जल में ही ले सकती सांस, लेकिन कभी न पानी पीती, बुझा न पाए अपनी प्यास. हाथ लगाओ तो डर जाती, बाह्र निकालो तो मर...

  • 28.लटू

    28.लटू

    (बाल काव्य सुमन संग्रह से) फर-फर-फर-फर लटू घूमे, बच्चों को दे हर्ष अपार, इससे सीखें काम निरंतर, करके, देना हर्ष अपार. हरा-सुनहरी-नीला-पीला, लाल-गुलाबी रंग-रंगीला, डोरी इसको नाच नचाए, तो भी लगता है सपनीला.

  • 27.टेलीफोन

    27.टेलीफोन

    (बाल काव्य सुमन संग्रह से)   ”हैलो-हैलो, आप हैं कौन? जल्दी बोलें, रहें न मौन, कैसे पता मुझे लग पाए, किसने किया है टेलीफोन.” ”मैं हूं तेरा नन्हा साथी, आओ खेलें मिल के खेल, मेरे पास...

  • 26.कम्प्यूटर

    26.कम्प्यूटर

    (बाल काव्य सुमन संग्रह से)   कम्प्यूटर मेरा कम्प्यूटर, करता टक-टक टिक-टिक टर, सबसे प्रमुख भाग जो इसका, कहलाता है मॉनीटर. की बोर्ड और माउस से ही, खोलें-ढूंढें फाइल हम, अल्प समय में काम बहुत-से, इससे...