Category : बाल साहित्य

  • बुद्धिमान चित्रकार

    बुद्धिमान चित्रकार

    एक बार की बात है किसी राज्य में एक राजा था जिसका केवल एक पैर और एक आँख थी। उस राज्य में सभी लोग खुशहाल थे  क्यूंकि राजा बहुत बुद्धिमान और प्रतापी था। एक बार राजा के विचार आया कि क्यों...

  • तिरंगा

    तिरंगा

    तीन रंग का तिरंगा प्यारा सब देशों से तिरंगा न्यारा केसरिया  श्वेत हरा रंग इसकी शोभा है बढाते सबसे  ऊपर है केसरिया जो त्याग बलिदान बताता बीच में श्वेत रंग और चक्र शान्ति का ढंग हमें...

  • बाल कविता : नव वसंत !

    बाल कविता : नव वसंत !

    देखो माँ ये पतझड़ में क्यों सब मुरझाया लगता है आता है जब नव बसंत मन कूह कूह तब करता है । खिल जाते वन उपवन नव पल्लव साथ सुमन सारे तेरे प्यारे छोटू का भी...

  • चुन्नू मुन्नू…

    चुन्नू मुन्नू…

    सुनों चुन्नू सुनों मुन्नू नानी का बुलावा आया हैं नानी के घर जाना हैं जल्दी सें तैयार हो जाओ गृहकार्य भी पूरा कर लो चुन्नू मुन्नू खुशी सें उछल कूँद करनें लगें जल्दी चलों जल्दी चलो...

  • तितली रानी..

    तितली रानी..

    तितली रानी तितली रानी तेरी पंख कितनी सुहानी फूलों पर रहती मँडराती लाल, हरा, निला, पीला सब फूलों पर राज करतीं बच्चो को खूब भॉती हो तुम्हे देखकर ही बच्चे बागो में घुस जाते हैं तुम्हे...

  • शिशुगीत – १३

    शिशुगीत – १३

    १. बसंत मौसम बसंत का ये प्यारा स्वेटर-मफलर से छुटकारा न ही सर्दी, न ही गर्मी खेल-कूद का समय हमारा २. परीक्षा दीदी-भैया जागो-जागो खड़ी परीक्षा, आलस त्यागो फर्स्ट क्लास में आना होगा हमको गर्व कराना...


  • बाल कविता

    बाल कविता

    चिड़िया रानी चिड़िया रानी आओ चुग लो दाना पानी जी भरके तुम खाओ सब भरी कटोरी रखी नानी देश-देश में तुम जाती हो नये-नये किस्से लाती हो किसी रोज फुरसत में आकर हमे सुनाओ सभी कहानी...

  • पानी का सदुपयोग

    पानी का सदुपयोग

    मम्मी पापा की डांट का भी कैलाश पर असर नहीं होता था, नल खुला छोड़ देता, खूब पानी बर्बाद करता। एक बार उनके घर मीनाक्षी आंटी आई कैलाश की मम्मी ने पानी का पूरा भरा गिलास...

  • बुद्धिमान राजा

    बुद्धिमान राजा

    .एक राज्य के लोग एक वर्ष के उपरान्त अपना राजा बदल देते थे. राजा को हटाने के दिन जो भी व्यक्तिसबसे पहले शहर में आता था तो उसे ही नया राजा घोषित कर दिया जाता था..पहले...