ब्लॉग/परिचर्चा

विस्तृत ज्ञान के भंडार सुदर्शन भाई: जन्मदिन की बधाई

शीर्षक ने ही आपको बता दिया, कि आज 27 जून को हम सुदर्शन भाई को जन्मदिन की बधाई देने वाले हैं और आज हम सुदर्शन भाई के विस्तृत ज्ञान के भंडार की बातें करने वाले हैं, जो हम संक्षेप में करेंगे. संक्षेप में क्यों, वह सब बाद में, सबसे पहले हम उनको जन्मदिन की बधाई […]

ब्लॉग/परिचर्चा

यादों के झरोखे से- 21

                                (विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून पर विशेष) पर्यावरण-ब्लॉग्स और पाठकों की प्रतिक्रियाएं हमारे पाठक इतनी नायाब प्रतिक्रियाएं लिखते हैं, कि उन अप्रतिम प्रतिक्रियाओं में अनमोल जानकारियां समाहित होती हैं. हमें लगता है, कि इन जानकारियों को ब्लॉग के रूप में […]

ब्लॉग/परिचर्चा सामाजिक

फिल्मी-दुनिया की होड़

आज चारों तरफ बॉलीवुड, हॉलीवुड आदि भिन्न-भिन्न तरह के चलचित्रों की होड़ लगी हुई है। हमारे देश में ही नहीं अपितु प्रत्येक देश में फ़िल्म-जगत ने बच्चों, युवाओं, महिलाओं, वृद्धों आदि सभी को अपनी ओर आकर्षित कर रखा है। प्रायः लोग यह समझते हैं कि फ़िल्म देखना कोई बुरी बात नहीं क्योंकि यह तो सिर्फ […]

ब्लॉग/परिचर्चा

रविंदर सूदन भाई: स्वीकारिए जन्मदिन की बधाई

रविंदर सूदन भाई, सबसे पहले आपको जन्मदिन की कोटिशः बधाइयां और शुभकामनाएं. सूर्य के समान देदीप्यमान और जाज्वल्यमान रवि भाई, आप स्वस्थ और सुरक्षित रहें और हमें अपनी लेखनी की प्रबुद्धता से परिचय कराते रहें, यही हमारी शुभकामना है. आपकी लेखनी की प्रबुद्धता की बाद बात में, पहले आपके जन्मदिन के उपलक्ष में आए कुछ संदेश- […]

ब्लॉग/परिचर्चा

बेजुबान

बेजुबान     ‘मां, क्या हमारे जुबान नहीं है?’ बछिया ने गाय मां से पूछा। ‘कौन कहता है?’ गाय मां ने कहा। ‘आज जब मैं तुम्हारा दूध पी रही थी तो हमारे अन्नदाता ने मुझे खींच लिया और दूध बर्तन में भरने लगा। अभी तो मेरा पेट भी नहीं भरा था। मैंने बहुत कोशिश की […]

ब्लॉग/परिचर्चा

महाभारत

महाभारत ‘ज़रा थोड़ी देर के लिए शांत रहो’ टीवी पर महाभारत का सीरियल देखती हुए दादी मां ने शोरगुल करते बच्चों से कहा। ‘क्या दादी मां, कितना बोर सीरियल है, हमें खेलने भी नहीं देतीं आप’ बबली ने कहा। जवाब में दादी ने बच्चों को इशारे से अपने पास बुला कर बिठा लिया और चुपचाप […]

ब्लॉग/परिचर्चा

300 उत्कृष्ट रचनाओं की बधाई: सुदर्शन भाई

हाल ही में अपील, अंधेरों में जो बैठे हैं, ए भाई जरा देख के, और हड़ताल स्थगित हो गई!, बड़े बेआबरू होकर …, नौ फेरे, मोदी: द फैंटम ऑफ़ इंडिया, वो दिखता नहीं, वो देखता है, कोरोनावायरस बनाम कार्निवोर्स जैसी तीन शतक उत्कृष्ट रचनाओं के रचयिता सुदर्शन भाई जी को हमारी बहुत-बहुत बधाई. असल में […]

ब्लॉग/परिचर्चा

भजन: आपके हमारे- 1

भजन1. एक विनती है ईश्वर, एक बार तो आ जाना, दुख दर्द गरीबों का, तुम आके मिटा जाना। दर छोड़ तेरे बंदे, जाएं तो कहां जाएं, तू प्यार का सागर है, एक ज्ञान की गागर है, तेरी बूंद के प्यासे हम, एक बूंद पिला जाना, दुख दर्द गरीबों का, तुम आके मिटा जाना। मेरी डूब […]

ब्लॉग/परिचर्चा

डिजिटल सेतु के सुदृढ़ स्तंभ गुरमैल भाई, दोहरी बधाई

सबसे पहले हम डिजिटल सेतु के सुदृढ़ स्तंभ गुरमैल भाई को दोहरी बधाई देते चलें. आज 14 अप्रैल गुरमैल भाई का जन्मदिन भी है और विवाह की सालगिरह भी. जन्मदिन और विवाह की सालगिरह साथ-साथ? भई वाह! गुरमैल भाई, आपको सपरिवार जन्मदिन की बधाइयां और शुभकामनाएं- ”फूल खिलते रहें जिंदगी की राहों में, हंसी चमकती […]

ब्लॉग/परिचर्चा

वक्त के शैदाई, रविंदर भाई: 125वें ब्लॉग की बधाई

रवि भाई, आपने ब्लॉग ‘तमन्ना (लघुकथा)’ के कामेंट में लिखा- ”आदरणीय दीदी, सादर नमन. पहले तमन्ना थी, 2020 में 2525 कर लूँ, पर मेरी तमन्ना ईश्वर ने किसी ओर पे पूरी कर दी. अब तो 125 पर ही संतोष है. संसार ईश्वर की मर्जी से चल रहा है, ईश्वर ने इसका एहसास दिला दिया है. […]