Category : ब्लॉग/परिचर्चा


  • इंसान ऐसा भी कर सकता है !

    इंसान ऐसा भी कर सकता है !

    एक इंसान होने के नाते लखनऊ की अति ह्रदय विदारक घटना से इतना शर्मसार हूँ कि अब इस नतीजे पर पहुँचने पर मजबूर हूँ कि कोई इंसान ऐसा भी कर सकता है ? जी, बिलकुल कर...


  • धर्म की च्युइंगम

    धर्म की च्युइंगम

    धर्म एक ऐसा विषय है जो हमारे जीवन में रचा बसा है , न चाहते हुए भी हमें धर्म के उपदेशो या धर्म के व्याख्यानों को कभी न कभी सुनना ही पड़ता है । मनु महाराज...



  • सरकार द्वारा बजट पेश

    सरकार द्वारा बजट पेश

    माननीय प्रधान मंत्री जी आपकी सरकार द्वारा बजट पेश किया गया जो कुछ लोगों द्वारा सराहा गया तथा कुछ लोगों ने इसकी आलोचना भी किया है। आपका प्रस्तुत बजट कैसा भी बना हो आम आदमी चाहे...



  • मैं आस्तिक क्यों हूँ? (भाग – ५)

    सर्वव्यापक एवं निराकार ईश्वर में विश्वास से पापों से मुक्ति मिलती हैं। एक उदहारण लीजिये एक बार एक गुरु के तीन शिष्य थे। गुरु ने अपने तीनों शिष्यों को एक एक कबूतर देते हुए कहा की...