Category : ब्लॉग/परिचर्चा





  • आईना भारत का

    आईना भारत का

    जिस दिन लेखनी से दर्द उभरेगा, सांसों से अंगारे बरसेगें, आंखों में आन्दोलन की आंधी चलेगी। और देश के भूंखे नंगे लोग अपना -अपना दर्द लेकर गली कूंचों में शोर मचाने लगेंगें तो समझ जाना कि...




  • मैं आस्तिक क्यों हूँ? (भाग – ३)

           नास्तिक बनने के क्या कारण हैं? समाधान- नास्तिक बनने के प्रमुख कारण हैं १.  ईश्वर के गुण,कर्म और स्वभाव से अनभिज्ञता २.  धर्म के नाम पर अन्धविश्वास जिनका मूल मत मतान्तर की संकीर्ण सोच हैं ३....

  • रमज़ान मुबारक हो

    रोज़े को उसकी भावना के साथ बुरे कामों से बचते हुए और नेकियों में तरक़्क़ी करते हुए रखें ताकि रोज़ेदार का कैरेक्टर पहले से ज़्यादा बुलंद हो जाये. आप अपना कैरेक्टर बुलंद करके अपनी तक़दीर को...