इतिहास

मुक्तक

मेरा खत उस तक कोई पहुंचाएं तो सही मेरे गीत गाकर कोई उसको सुनाएं तो सही दरिया इस पार रहता है उसका इक दीवाना दरिया उस पार कोई उसको बताएं तो सही

राजनीति

क्या हम शरणार्थी हैं ?

-गंगा ‘अनु’ संसद के दोनों सदनों में नागरिकता संशोधन विधेयक पास हो चुका है और महामहिम राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद यह अब नागरिकता संशोधन कानून में परिणत हो चुका है। लेकिन पश्चिम बंगाल समेत देश के अन्य जगहों पर इसका विरोध लगातार जारी है। इस विधेयक के संसद में पास होने के बाद पश्चिम […]

इतिहास

वर्त्तमान परिपेक्ष्य में साहित्यकारों का दायित्व

आज हमारे समाज की स्थिति प्राचीन समाज की स्थिति से बहुत ही भिन्न हो चुकी है क्योंकि हम सब प्राचीन परंपराओं तथा प्राचीन सामाजिक नियमों को भूलते चले जा रहें हैं जिसके परिणामस्वरूप हमारा समाज भी परिवर्तित होता जा रहा है अगर किसी भी समाज में परिवर्तन की दर इसी तरह बढती गयी तब हमारा […]

पुस्तक समीक्षा भाषा-साहित्य लेख

एक व्यक्ति एक उक्ति

लघुकथा कलश जुलाई-दिसम्बर 2019 ‘रचना प्रक्रिया महाविशेषांक’ पर मेरी प्रतिक्रिया लघुकथा कलश ‘रचना प्रक्रिया महाविशेषांक’ जुलाई-दिसम्बर 2019 में सम्पादकीय से लेकर सभी रचना प्रक्रियाओं में लघुकथाकारों के लिए बहुत कुछ गुनने योग्य है। इस अंक के प्रत्येक रचनाकार की एकाधिक रचनाओं की रचना प्रक्रियाएं  इसमें मौजूद हैं। हर एक रचनाकार की जितनी भी रचनाओं की रचना प्रक्रिया लिखी गई हैं उन सभी में से […]

राजनीति

गणतन्त्र के सात दशक

 परिवर्तन का जोश भरा था, कुर्बानी के तेवर में। सब कुछ हमने लुटा दिया था, आजादी के जवर में।। हम खुशनसीब हैं कि इस वर्ष 26 जनवरी को 71वाँ गणतन्त्र दिवस मना रहे हैं। 15 अगस्त सन् 1947 को पायी हुई आजादी कानूनी रूप से इसी दिन पूर्णता को प्राप्त हुई थी। अपना राष्ट्रगान, अपनी […]

पर्यावरण

किसानों पर आफत : उम्मीदों पर पानी फेर रही टिड्डियां

किसान मेहनत से खेत जोत कर खेती करता हैं जो दिन-रात एक कर के बड़े जी जतन से फसल उगाता हैं। फिर भी उसे पूरी मेहनत का फल पूरा नहीं मिल पाता हैं। चाहे कभी बेमौसम बारीश, ओलावृष्टि, या समय से बारिश का न होना, पाला पड़ना, फिर बाजार में उचित भाव का भी नहीं […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म

सतरंगी समाचार कुञ्ज-13

आप लोग जानते ही हैं, कि ‘सतरंगी समाचार कुञ्ज’ में सात रंगों के समाचार हम लिखते हैं, शेष रंगों के समाचार कामेंट्स में आपकी-हमारी लेखनी से लिखे जाएंगे. आइए देखते हैं इस कड़ी के सात रंग के समाचार- 1.एक खोज ऐसी भी- खोज / मेंढ़क के स्टेम सेल से दुनिया का पहला हीलिंग रोबोट बनाया, […]

सामाजिक

प्रेम

एक दूसरे की भावनाओं को समझना दुनिया का सबसे दुष्कर कार्य है । प्रेम की मूल भावना प्रेम को बाहरी रूप में देखना ही नहीं अपितु प्रेम की गहराई में उतरना है । कुछ अनसुलझे सवालों को तलाशना भी प्रेम का ही रूप है । प्रेम को परिधि और शर्तों में बाँधना भी प्रेम का […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म

उत्तरायण उत्सव (मकर संक्रांति)

यह सत्य है कि मनुष्य के जीवन की दिशा और दशा में परिस्थितियों का बहुत बड़ा योगदान होता है। लेकिन खुशियों का संबंध मनुष्य की प्रकृति और उसके दृष्टिकोण से होता है। जीवन प्रतिपल परिवर्तित होता है। प्रत्येक दिन नवीन चीजें घटित होती हैं। नवीनता का बोध होना आवश्यक है। उससे भी आवश्यक है वर्तमान […]

इतिहास राजनीति

युवा दिवस और नागरिक संशोधन कानून ( CAA )

१२ जनवरी १८६३ को स्वामी विवेकानंद का जन्म कोलकाता में हुआ उनके जन्मदिवस को युवा दिवस के रूप में पुरे देश में मनाया जाता है . स्वामी विवेकानंद को दुनिया विश्व शिक्षक ( Universal Teacher ) के रूप में भी जानती है . १८९३ में शिकागो में विश्व धर्म महासभा में दिए गए उनके भाषणों […]