पर्यावरण

गजराज का जीवन अत्यंत संकट में

अक्सर हमारे देश में पर्यावरण बचाने और प्रदूषण से मुक्ति के लिए वृहद वृक्षारोपण का नाटक करने में, नदियों को प्रदूषणमुक्त करने में अरबो-खरबों रुपयों का वारा-न्यारा कर दिया जाता है, जबकि वास्तविकता यह है कि उसमें होता कुछ नहीं है, वृक्षारोपण में लगाए गये पौधों में से 98 प्रतिशत तक शिशु पौधे पानी और […]

पर्यावरण

ग्लोबल वार्मिंग और आकाशीय बिजली का अन्तर्सम्बन्ध

         अभी हाल ही में अमेरिका की ‘साइंस ‘ मैगजीन में आकाशीय बिजली के बारे में एक बहुत ही चौंकाने वाली एक शोधपरक रिपोर्ट छपी है,इस रिपोर्ट के मुताबिक अगर मनुष्यजनित विभिन्न प्रदूषण से उत्पन्न ग्लोबल वार्मिंग की वजह से इस धरती के तापमान में एक डिग्री सेल्सियस की भी बढोत्तरी होती […]

पर्यावरण लेख विज्ञान

भारत में पक्षियों के अध्ययनशास्त्री

भारत के प्रसिद्ध पक्षी वैज्ञानिक मो. सलीम अली ने भी इस पर बेइंतहा कार्य किये हैं, वहीं लखनऊ की लेखिका श्रीमती संतोषी दास लिखती हैं कि गौरैया की चूं चूं अब चंद घरों में ही सिमट कर रह गई है। एक समय था जब उनकी आवाज़ सुबह और शाम को आंगन में सुनाई पड़ती थी। […]

पर्यावरण लेख विज्ञान

मोबाइल टावर से निकलनेवाली तरंगपुंज हैं क्षतिकारक या लाभदायक ?

मैं मोबाइल टावर की बात नहीं कर रहा, किंतु अगर लगातार मोबाइल व्यवहार से उपयोगकर्त्ता को क्षति पहुंच सकती है, तो असंख्य चालू मोबाइलों से निःसृत rays and radiation की उपस्थिति मात्र से यह छोटी चिड़िया के दियाद-गोतिया विनष्ट होने के कगार पर क्यों नहीं पहुँच सकती है, सिर्फ गोरैया की नहीं ! छोटी चिड़िया […]

पर्यावरण लेख

पर्यावरण के दुश्मनों को पहचानिए !

भारत में उपलब्ध प्राचीन लेखों के अनुसार, यह पक्षी जिस भी घर में या उसके आंगन में पाई जाती है, वहाँ सुख-शांति बनी रहती है, किंतु प्रसन्नता सिर्फ पाने ने नहीं, इसे खोने में भी है ! हम विलासी बने और गोरैयों से दूर हो गए । प्राचीन हिन्दू धर्म में ऐसे और भी पक्षी […]

पर्यावरण लेख

मानवीय विलासिता के कारण ही विलुप्त हुई पंछी !

विज्ञान से विकास तो होती है, किंतु उसके सामने चुनौती भी आती है । विकास हमारी टेक्नोलॉजी का परिणाम है । हम आत्मनिर्भर तो होते हैं, किंतु प्रकृति से दूर होते चले जाते हैं । हमारी अपेक्षा जब महत्वाकांक्षा में तब्दील हो जाती है, तब मानवेतर प्राणियों के प्रति हम कुटिल हो जाते हैं, यह […]

पर्यावरण

आदर्श नदी

परमाणु बिजली घर सदैव रखते अपनी समीप की नदी का ध्यान। सबके पीने योग्य स्वच्छ निर्मल पानी है इन नदियों की पहचान। बिजली उत्पादन के बाद पानी नदी में विसर्जित करते पर तकनीकी मापदंडों का करते पालन। पर्यावरण सर्वेक्षण प्रयोगशाला परीक्षण कर सुनिश्चित करती नियमों का अनुपालन। परमाणु बिजली घर कालोनी के निवासी भी नहीं […]

पर्यावरण लेख विज्ञान

असम्बद्ध वस्तुस्थितियों के अध्ययन से ‘भूकम्प’ पर भविष्यवाणी संभव ?

मोबाइल फोन के 2 सिम्पल सेट में एक को हम sound वाइब्रेशन में रखकर उसे पृष्ठ भाग के सहारे सपाट प्लास्टर की हुई बरामदे पर रखते हैं, दूसरे मोबाइल फोन से वाइब्रेशन वाले मोबाइल सेट पर फोन लगाते हैं, तो यह एन्टी-क्लॉक गति से घूमने का प्रयास करती है, वहीं मोबाइल के स्क्रीन साइड को […]

पर्यावरण विज्ञान

प्लास्टिक खानेवाले कीड़े पर रिसर्च !

सूचना का अधिकार अधिनियम-2005 के अंतर्गत केंद्रीय सूचना आयोग (C.I.C.) में ‘द्वितीय अपील’ वाद (case) दायर करनेवाली भारत की पहली महिला हैं अर्चना कुमारी पॉल। इसतरह से पहली महिला  RTI एक्टिविस्ट भी हैं । आल इंडिया रेडियो के एक कार्यक्रम ‘पब्लिक स्पीक’ के माध्यम से इनकी खोज ‘प्लास्टिक खानेवाले कीड़े’ पर विशद चर्चा चली, जिनके पेटेंट […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म पर्यावरण

सतरंगी समाचार कुञ्ज-25

(पाठक विशेष कड़ी) आप लोग जानते ही हैं, कि ‘सतरंगी समाचार कुञ्ज’ में सात रंगों के समाचार हम लिखते हैं, शेष रंगों के समाचार कामेंट्स में आपकी-हमारी लेखनी से लिखे जाएंगे. आइए देखते हैं इस कड़ी के सात रंग के समाचार, इससे पहले इस कड़ी के बारे में एक जरूरी बात. इस कड़ी के लिए […]