धर्म-संस्कृति-अध्यात्म विज्ञान

सृष्टि विज्ञान, वैदिक साहित्य और स्वामी दयानन्द

ओ३म् सृष्टि की उत्पत्ति से जुड़े अनेक रहस्य हैं जिन्हें विज्ञान आज भी खोज नहीं पाया अथवा जिसका विज्ञान जगत व हमारे धार्मिक व सामाजिक लोगों का यथोचित ज्ञान नहीं है। महर्षि दयानंद सत्य-ज्ञान के जिसाज्ञु थे। उन्होंने धर्म-समाज-ज्ञान-विज्ञान किसी भी पक्ष की उपेक्षा न कर सभी विषयों का यथोचित ज्ञान प्राप्त करने के उद्देश्य […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म विज्ञान

सृष्टि को किसने, कैसे व क्यों बनाया?

ओ३म्                               हम जिस संसार में रहते हैं वह किसने, कैसे, क्यों व कब बनाया है? इस प्रश्न का उत्तर न तो वैज्ञानिकों के पास है और न हि वैदिक धर्म से इतर धर्म वा मत-मतान्तरों व पन्थों के आचार्यों तथा उनके ग्रन्थों में। इसका पूर्ण सन्तोषजनक व वैज्ञानिक तर्कों से युक्त बुद्धिसंगत उत्तर वेदों व […]

विज्ञान

जानें ब्रह्मांड से जुड़े टॉप 1० फैक्ट के बारे में

ब्रह्मांड का न आदि और न अंत। ये हमारी सोच से भी परे है। सभ्यता के विकास से लेकर अब तक इंसानों ने कई रहस्यों को सुलझाया है लेकिन ब्रह्मांड की अनंत गहराइयों के बारे में अभी बहुत कुछ जानना बाकी है। वैज्ञानिक भी बह्मांड के बारे में बहुत कम जानते हैं। आइए जानें ब्रह्मांड […]

विज्ञान

मेडिकल की पढ़ाई हिंदी में – डॉ. वेदप्रताप वैदिक

हमारे देश को आजाद हुए 68 साल हो गए लेकिन हम अभी भी गुलाम के गुलाम ही हैं। इसका प्रमाण है- हमारी शिक्षा पद्धति! आज तक देश में जितनी भी सरकारें बनी हैं, उन सबने अंग्रेजी की गुलामी की और वे सब घर बैठ गईं। आज भी हिंदुस्तान में चिकित्सा और कानून की पढ़ाई सिर्फ […]

विज्ञान

लोक लोकान्तर के परस्पर आकर्षण शक्ति से स्थिर होने विषयक वैज्ञानिक मत पर शंका और उसका महर्षि दयानन्द का समाधान

ओ३म्     वैज्ञानिकों का मानना व कहना है कि ब्रह्माण्ड के सभी लोक लोकान्तर परस्पर के आकर्षण व गति से अपने वर्तमान स्वरूप में गतिशील होकर विद्यमान हैं तथा इनका रचयिता, धारण व पालनकर्त्ता कोई नहीं है।   वैज्ञानिकों की इस मान्यता वा शंका का महर्षि दयानन्द ने ऋग्वेद के दूसरे मण्डल के छठें […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म विज्ञान

संसार को किसने धारण किया है?

ओ३म् सभी आंखों वाले प्राणी सूर्य, चन्द्र व पृथिवी से युक्त नाना रंगों वाले संसार को देखते हैं परन्तु उन्हें यह पता नहीं चलता कि यह संसार किसने व क्यों बनाया और कौन इसका धारण व पालन कर रहा है? जिस प्रकार  प्राणियों के शरीर का धारण उसमें निहित जीवात्मा के द्वारा होता है, इसी […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म विज्ञान

ईश्वर ने यह सृष्टि क्यों बनाई?

ओ३म् हम पृथिवी पर पैदा हुए हैं व इस पर रहते हैं परन्तु हमें शायद यह नहीं पता कि इस पृथिवी सहित समूचे ब्रह्माण्ड को किसने व क्यों बनाया? इसे कब बनाया यह भी बहुत कम लोग जानते हैं। क्या यह जानना आवश्यक नहीं है? यदि ऐसा नहीं है तो फिर प्रत्येक व्यक्ति को इसको […]

विज्ञान

आधुनिक विज्ञान का आधार वेद

ओ३म् आज विज्ञान तेजी से नई-नई सफलतायें प्राप्त कर आगे बढ़ रहा है। विगत कुछ दशकों में विज्ञान अनेक सफलतायें प्राप्त कर चोटी पर पहुंच गया है। आज से कुछ दशक पूर्व देशवासी जिन चीजों की कल्पना भी नहीं कर सकते थे, उनमें से अधिकांश व प्रायः सभी कल्पनायें साकार हो गईं हैं। विज्ञान से […]

विज्ञान

वेदों में विज्ञान

वेद सब सत्य विद्याओं का पुस्तक है सब सत्य विद्या और जो पदार्थ विद्या से जाने जाते हैं, उन सबका आदिमूल परमेश्वर है। आर्यसमाज के इन नियमों के माध्यम से स्वामी दयानंद न केवल वेदों को सब सत्य विद्या का कोष होने का सन्देश देते है अपितु उसे परमेश्वर द्वारा प्रदत भी मानते है। स्वामी […]

विज्ञान

पृथिवी की आकर्षण शक्ति संबंधी कुछ शास्त्रीय प्रमाण’

गुरूत्वाकर्षण के नियम वा सिद्धान्त के बारे में क्या वैदिक साहित्य में कुछ उल्लेख मिलता है, यह प्रश्न वैदिक धर्म व संस्कृति के अनुयायियों व प्रशंसकों को उद्वेलित करता है। महर्षि दयानन्द ने अपने प्रसिद्ध ग्रन्थ ऋग्वेदादिभाष्यभूमिका में आकर्षणानुकर्षण अध्याय में वेदों में विद्यमान मन्त्रों को प्रस्तुत कर इस विषय में प्रकाश डाला है। इससे […]