इतिहास

रैगिंग से हमसफर तक

रैगिंग से हमसफर तक कॉलेज का पहला दिन था… कॉलेज के गेट पर पहुंचते ही दिल अन्दर से धक-धक कर रहा था, मानो दिल बाहर ही आ जाएगा, यूनिवर्सिटी मे चारों तरफ लड़के अपनी गाड़ियों से आ …जा रहे थे। धीरे-धीरे कालेज के अन्दर की तरफ हम लोगों ने कदम बढाया, तभी एक लड़के को […]

इतिहास

रैगिंग से हमसफर तक

रैगिंग से हमसफर तक कॉलेज का पहला दिन था… कॉलेज के गेट पर पहुंचते ही दिल अन्दर से धक-धक कर रहा था, मानो दिल बाहर ही आ जाएगा, यूनिवर्सिटी मे चारों तरफ लड़के अपनी गाड़ियों से आ …जा रहे थे। धीरे-धीरे कालेज के अन्दर की तरफ हम लोगों ने कदम बढाया, तभी एक लड़के को […]

इतिहास

सदैव याद रहेगा स्वामी विवेकानंद का शिकागो भाषण

युवाओं के प्रेरणास्रोत तथा आदर्श व्यक्त्वि के धनी माने जाते रहे स्वामी विवेकानंद को उनके ओजस्वी विचारों और आदर्शों के कारण ही जाना जाता है। सही मायनों में वे आधुनिक मानव के आदर्श प्रतिनिधि थे। विशेषकर भारतीय युवाओं के लिए तो भारतीय नवजागरण का अग्रदूत उनसे बढ़कर अन्य कोई नेता नहीं हो सकता। कोलकाता में […]

इतिहास

देश की आजादी को समर्पित आदर्श जीवन : मृत्युंजय भाई परमानन्द

ओ३म् स्वतन्त्रता आन्दोलन के इतिहास में भाई परमानन्द जी का त्याग, बलिदान व योगदान अविस्मरणीय है। लाहौर षड्यन्त्र केस में आपको फांसी की सजा दी गई थी। आर्यसमाज के  अन्तर्गत आपने विदेशों में वैदिक धर्म का प्रचार किया। इतिहास के आप प्रोफैसर रहे एवं भारत, यूरोप, महाराष्ट्र तथा पंजाब के इतिहास लिखे जिन्हें अंग्रेजी सरकार […]

इतिहास

योगेश्वर प्रसाद सत्संगी

योगेश्वर प्रसाद सत्संगी जी के प्रवेशिका अध्ययन के क्रम में उनके पिता के असामयिक निधन पर 6 भाई बहनों में 3 भाइयों के ये परिवार टूट से गए, क्योंकि बहनों की शादी हो गई थी, तब महर्षि मेंहीं ने दीक्षा देकर सम्बल प्रदान किये और वक्तान्तर में शूजापुर के पूर्वपरिचित बीरबल पंडित की पुत्री मैनी […]

इतिहास

वो महान इंसान

कई शूरमायें, जैसे- महान संत महर्षि मेंहीं, बाबा नागार्जुन, राष्ट्रकवि दिनकर, भोला पासवान शास्त्री, ललित नारायण मिश्र इत्यादि भारत रत्न अलंकरण के लिए सर्वोत्तम नाम हैं। इसके साथ ही कई जीवित किंवदंती भी हैं। अपेक्षा है, भारत के इस सबसे बड़े अलंकरण के लिए देश के प्रत्येक भागों से राष्ट्रसेवकों के नाम चुने जाएंगे ! […]

इतिहास

कृषक नेता और स्वतंत्रता सेनानी राजकुमार शुक्ल

श्रद्धेय राजकुमार शुक्ल के जन्मदिवस पर सादर नमन। गाँधी जी बिहार सत्याग्रह से देशव्याप्य हुए । ध्यातव्य है, गाँधी जी को बिहार लाने का श्रेय चंपारण के किसान राजकुमार शुक्ल को जाता है । तारीख 23 अगस्त उनकी जन्म-जयंती है। बिहार सरकार, खासकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार के तीन दिवंगत विभूतियों के नामों को […]

इतिहास

अरूण कुमार काम ही पहचान : अनाथ बेटियों को सुकन्या योजना का उपहार

बिहार के औरंगाबाद जिले के दाऊदनगर प्रखंड के भखरूआं मोड़ निवासी रामचंद्र यादव के पुत्र अरूण कुमार एक ऐसे सर्व साधारण नौजवान का नाम है जो अपने काम (काम नहीं सेवा कहना ठीक होगा) से पहचाने जाते हैं।वैसे तो एक राजनीतिक कार्यकर्ता हैं पर जहां तक मेरी जानकारी है किसी पद पर कभी निर्वाचित नहीं […]

इतिहास

18 अगस्त और नेताजी सुभाष’दा

76वें लापता वर्ष पर ‘नेताजी’ को स्मरण-नमन ! माता-पिता के 14वीं संतान में नेताजी सुभाष चंद्र बसु 8वें नम्बर पर थे ! पिता जानकीनाथ बड़े वकील व रायबहादुर ! शुरू से मेधावी, बावजूद इंटरमीडिएट द्वितीय श्रेणी से उत्तीर्ण ! नेता की छवि बचपन से ही, तभी तो विलम्ब से बी ए ऑनर्स किए, पिता के […]

इतिहास

अद्भुत प्रेम के मजबूत किरदार दशरथ मांझी को चाहिए भारत रत्न

बिहार के मगध प्रमंडल के गया जिले के इमामगंज प्रखंड स्थित ‘गेहलौर’ गांव में समाज के सबसे अंतिम पायदान पर खड़े एक परिवार में दशरथ मांझी जी का जन्म हुआ था।वे बच्चन से ही जूनून से भरपूर मजबूत इच्छाशक्ति वाले इंसान थे।इस बात को उन्होंने ने साबित कर दिखाया जब वे अपने दम पर हथौड़ी […]