इतिहास

मुक्तक

मेरा खत उस तक कोई पहुंचाएं तो सही मेरे गीत गाकर कोई उसको सुनाएं तो सही दरिया इस पार रहता है उसका इक दीवाना दरिया उस पार कोई उसको बताएं तो सही

इतिहास

वर्त्तमान परिपेक्ष्य में साहित्यकारों का दायित्व

आज हमारे समाज की स्थिति प्राचीन समाज की स्थिति से बहुत ही भिन्न हो चुकी है क्योंकि हम सब प्राचीन परंपराओं तथा प्राचीन सामाजिक नियमों को भूलते चले जा रहें हैं जिसके परिणामस्वरूप हमारा समाज भी परिवर्तित होता जा रहा है अगर किसी भी समाज में परिवर्तन की दर इसी तरह बढती गयी तब हमारा […]

इतिहास राजनीति

युवा दिवस और नागरिक संशोधन कानून ( CAA )

१२ जनवरी १८६३ को स्वामी विवेकानंद का जन्म कोलकाता में हुआ उनके जन्मदिवस को युवा दिवस के रूप में पुरे देश में मनाया जाता है . स्वामी विवेकानंद को दुनिया विश्व शिक्षक ( Universal Teacher ) के रूप में भी जानती है . १८९३ में शिकागो में विश्व धर्म महासभा में दिए गए उनके भाषणों […]

इतिहास

युवा दिवस और युवाओं के लिए संदेश

स्वामी विवेकानंद जी एक ऐसे शख्स है जिस पर सिर्फ भारत वासियों को नहीं समूची मानव जाति को उन पर गर्व है इन्होंने अपनी ओजस्वी वाणी से टूटी हुई भारतीय जनता को फिर से उठ खड़े होने के लिए प्रेरित किया। वास्तव में किसी भी युग पुरुष की जयंती मनाने का मतलब उनको सिर्फ याद […]

इतिहास

जन मानस के शायर दुष्यंत कुमार

दुष्यन्त कुमार की ग़ज़लें पढ़कर ऐसा लगता है कि वो हिन्दी से कहीं ज्यादा हिन्दुस्तान की ग़ज़लें है। जिनमें उस समय के आम आदमी की पीड़ा, संघर्ष, एवं परिस्थितियों से जूझते रहने का चित्रण किया है। अपने अशआर में बारूद भरकर दुष्यन्त कुमार ने शायरी के एक ऐसे स्वरूप को दिखाया जिससे हिन्दी साहित्य में […]

इतिहास

ब्रिटिशसाम्राज्यवाद बनाम क्रूरतम् हत्यारा नादिर शाह

हम सभी इतिहास में क्रूरता व अपने जुल्मोसितम के लिए कुछ बदनाम क्रूर सम्राटों व बादशाहों यथा नीरो, फ्रांस की रानी, नादिर शाह, तैमूरलंग, चंगेज खाँ, एडोल्फ हिटलर, जोज़ेफ स्टालिन आदि का ही नाम सुनते आए हैं, परन्तु अभी पिछले कुछ दिनों से एक प्रतिष्ठित समाचार पत्र मेंं किस्तों में प्रकाशित ‘कोहीनूर का शाप ‘के […]

इतिहास

युगपुरुष वाजपेयी जी

25 दिसम्बर । यह तारीख भारतीय राजनीति के इतिहास में बहुत ज्यादा मायने रखता है क्योंकि इसी तारीख को भारत के महान नेता श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का जन्म हुआ था । निश्चित रूप से भारत की गौरवशाली माटी वाजपेयी जी को अपनी गोद में पाकर और मी गौरान्वित हो गई होगी क्योंकि भारत […]

इतिहास

हंगामा क्यों बरपा रही है विरोधी पार्टियाँ ? 

नागरिकता संशोधन अधिनियम, 2019 (CAB ) के पास होने के बाद अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश के सभी प्रताड़ित हिंसा के शिकार अल्पसंख्यक (हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई) भारतीय नागरिकता के योग्य हो जाएंगे । इन्हें भारतीय नागरिकता पाने के नियम में भी छूट मिल जाएगी । ऐसे सभी शरणार्थी जो छह साल से […]

इतिहास

विरोध व्यक्ति का नहीं,शक्ति का कीजिए।

शक्ति की आशक्ति, एक सामान्य मनुष्य को भी आतातायी होने पर विवश कर देती है। जब शक्ति के पीछे,दण्ड का भय और जिम्मेदारी की जवाबदेही खत्म हो जाए,तो समाज आक्रान्त हो जाता है। शक्ति कभी भी स्वयं, दुरुपयोग नहीं करती जब तक कि शक्ति से समक्ष दबने वाले लोग हथियार डाल कर विरोध करना न […]

इतिहास धर्म-संस्कृति-अध्यात्म

कृष-काय पंडित आर्यमुनि जी का एक युवक से मल्लयुद्ध एवं उनका नाभा शास्त्रार्थ

ओ३म् पण्डित आर्यमुनि जी वेदों के उच्च कोटि के विद्वान थे। आपने वेद, दर्शन, मनुस्मृति, रामायण तथा महाभारत आदि ग्रन्थों पर भाष्य व टीकायें लिखी हैं। वैदिक धर्म के विरोधियों से आपने शास्त्रार्थ किये और उन्हें पराजित किया। शरीर से पंडित जी दुबले-पतले दुर्बल से व्यक्ति थे। पडित जी मल्लयुद्ध के ज्ञाता भी थे। इससे […]