Category : इतिहास




  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    एक अवधी ग़ज़ल लिखने का प्रयास 2122 1212 22 कोई  पक्का  मकान  थोरै   है । दिन दशा कुछ ठिकान थोरै है ।। सिर्फ कुर्सी मा जान है अटकी । ऊ दलित का मुहान थोरै है...



  • एक महान सती थी “पद्मिनी”

    एक महान सती थी “पद्मिनी”

    एक सती जिसने अपने सतीत्व की रक्षा के लिए अपने प्राणों का बलिदान कर दिया उसकी मृत्यु के सैकड़ों वर्ष बाद उसके विषय में अनर्गल बात करना उसकी अस्मिता को तार-तार करना कहां तक उचित है...