इतिहास

सुंदर प्रतिमान

मेरे लंगोटिया यार और कटिहार जिला के सुयोग्य अध्यापक तथा 46 बरस में भी स्मार्ट “कुमार मुकेश चौरसिया” के 47वें जन्मदिवस पर उन्हें स्वस्थजीवन और नाबाद शतायुजीवन की सपरिवार शुभमंगलकामनाएँ….. 5 जनवरी वॉलीवुड सुंदरी “दीपिका पादुकोण” भी जीवन के 35 वर्ष पूर्ण 36वें बरस में प्रवेश कर गयी हैं । उम्र की वार्षिक गिनती के […]

इतिहास

दो भिन्न संस्कृति

… और पश्चिम एशिया का यह हिस्सा यूरोप से सटा था । …. तो पश्चिम एशिया और यूरोप से ये आक्रांता आये थे ! …. परंतु हुमायूँ को बार-बार हारने के बावजूद इस देश से ज्यादा ही मोह हो गया, जिन्हें कालक्रम के दौरान हिन्दू वृद्धा ही मौत के मुँह से बचाया था । बाद […]

इतिहास

जनवरी 2018 में दो-दो पूर्णिमा

जनवरी 2018 में दो – दो बार पूर्णिमा…. ऐसा कभी – कभी जुलाई अथवा अगस्त माह में भी होता है, किन्तु जनवरी में तो बहुत वर्षों के बाद ऐसा शुभ अवसर आया है। 2 जनवरी को पहली पूर्णिमा रही, तो दूसरी पूर्णिमा 31 जनवरी को । पहली पौष (पूसी) पूर्णिमा, तो दूसरी माघी पूर्णिमा । […]

इतिहास

कादरनामा

यह अज़ीब दास्तान है कि मशहूर संवाद लेखक, हास्य और खल अभिनेता कादर खान का जन्म 1937 में अफगानिस्तान के काबुल में हुआ, तो परवरिश और शिक्षा-दीक्षा भारत के मुम्बई के कमाडी नामक जगह में हुई और मृत्यु 81 वर्ष की आयु में कनाडा में साल 2018 के अंतिम दिन हो गई यानी सिकन्दर की […]

इतिहास

गुरूवारीय नाश्ता

यह है एक खाद्य पदार्थ ‘साड़ुक’…. जो कोका फूल की जड़ से निःसृत बीज भाग है, इसे उबालकर अथवा छीलकर खाया जाता है। ये देखने में काले-कुरूप भले हैं, किन्तु इनके खाने से यह पेट जरूर ‘साफ़’ करते हैं ! मेरा आज का नाश्ता…. इसे गुरुवारीय नाश्ता भी कह सकते हैं !

इतिहास

मां भारती के अनन्य साधक : महामना मदन मोहन मालवीय

किसी व्यक्ति के समाज जीवन में किया गया एक समाजोपयोगी राष्ट्रीय कार्य उसे न केवल वैश्विक पहचान देता है बल्कि उसका व्यक्तित्व भी वामन से विराट बना देता है। व्यष्टिगत सुख, सुविधा एवं संतुष्टि से ऊपर लोकसृष्टि एवं समष्टि के कल्याण की वरीयता, हित-कामना एवं योगक्षेम की चिंता उसे महामानव बना देती है। संसार के […]

इतिहास

27 दिसंबर बने “बाल दिवस”

दिसंबर माह सनातन धर्म व सिक्ख पंथ के लिए बलिदानों का माह रहा है, धर्म की रक्षा के लिए लड़ने वाले गुरु गोविंद सिंह के पूरे परिवार व गुरु पुत्रों के ऐतिहासिक बलिदान को स्मरण करने का अवसर है। जानें क्या हुआ इस एक सप्ताह में दिनों में– 21 दिसंबर :  सन 1704 के मई […]

इतिहास

चंपारण नायक

गाँधी जी को बिहार लाने का श्रेय चंपारण के किसान राजकुमार शुक्ल को जाता है । तारीख 23 अगस्त उनकी जन्म-जयंती है। बिहार सरकार, खासकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार के तीन दिवंगत विभूतियों के नामों को भारत रत्न अलंकरण के लिए भारत सरकार को प्रस्तावित व प्रेषित किया है, जिनमें वंचित, शोषित, पिछड़े वर्गों […]

इतिहास

22 दिसम्बर को यह नहीं है, किन्तु यह हुआ….

22 दिसम्बर 2017 को यह नहीं है, किन्तु यह हुआ…. अंग्रेजी तारीख के अनुसार 22 दिसम्बर को गुरु गोविंद सिंह साहब का जन्मदिवस है, किन्तु विक्रमी संवत के लिहाज से इस वर्ष यह तिथि 2 बार पड़ा है । पौष शुक्ल सप्तमी के अनुसार 5 जनवरी 2017 को और 25 दिसम्बर 2017 को । भारत […]

इतिहास

डिप्टी कलेक्टरी से पीएम तक

भारतरत्न और निशान -ए- पाकिस्तान “मोरारजी देसाई” सर । जवाहरलाल नेहरू और लाल बहादुर शास्त्री के निधन के बाद सर्वाधिक योग्य केंद्रीय मंत्री “मोरारजी देसाई” जब भारत के प्रधानमंत्री नहीं बन पाए, तो उनका कांग्रेस पार्टी से मोहभंग हो गया, फिर जनता पार्टी के गठन के बाद व जेपी आंदोलन के बाद मोरारजी भाई रणछोड़दास […]