अन्य लेख विविध

वकीलों की फीस

जनसाधारण से लेकर वीआइपी तक एसडीओ कोर्ट से लेकर सर्वोच्च न्यायालय में न्याय की आस में पहुंचते हैं, जहां रसूखदार लोग तो मोटी फीस देकर अपने मुकदमे की पैरवी के लिए अच्छे वकील रख लेते हैं. परंतु कानूनी जानकारी नहीं होने के कारण साधारण लोग शीघ्र न्याय पाने की लालसा में ऐसे वकील के फीस […]

अन्य लेख

कविकुल शिरोमणि गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर (विशेष लेख)

भारत भूमि पर हर युग, हर काल में महापुरुषों का अवतरण होता रहा है । इन महापुरुषों ने  केवल भारत को अपितु समूचे विश्व को अपने कृतित्व और व्यक्तित्व से अभिसिंचित कर इस विश्व धरा का मान बढ़ाया है और लोगों की सुषुप्त मानसिकता को जागृत किया है । ऐसे महापुरुष जब तक शरीर में […]

अन्य लेख लेख

चिन्ता न करें

ये दुनिया आँकड़ों का खेल है और अभी सारी दुनिया कोरोना की मार झेल रही है सभी देशों के आँकड़े नयूज चैनल दिखा रहे है , बस इन सबको हम कितना गम्भीरता से ले रहे है ये हम पर निर्भर है ,,, आज की रिपोर्ट के अनुसार यह बताया जा रहा है कि 12 दिन […]

अन्य लेख

कोरोना ने ‘लॉक’ कर दिए हैं मित्रराग !

फेसबुक पर एक पारा शिक्षक मित्र गेहूँ कटाई करते फ़ोटो चस्पाये हैं… मजदूरी में गए हैं या अपना खेत है ! अपने खेत में शर्म क्यों ? यहाँ शिक्षक होने कोई मायने नहीं रखते हैं ! …..परंतु आपने दूरी नहीं बरते हैं, जो गलत है ! यह साँस संबंधी रोग है यानी थूक, लार, छींक […]

अन्य लेख

हिंदी फ़िल्म ‘सुपर 30’ में थर्टी सच्चाई, सेवेंटी फँसाना !

रविवार… इवनिंग शो… मोना सिनेमा हॉल ! आनंद (‘सुपर थर्टी’ के गणित शिक्षक) और सदानंद (मैं) पटना के मुसल्लहपुर की गलियों में लगभग एक साथ IAS बनने की तैयारी के साथ-साथ आजीविकोपार्जन हेतु भी सोचते जाते थे ! उनके पिताजी डाककर्मी और मेरे भी ! दोनों के पिता डाक -कर्म से वेतन बहुत सीमित पाते […]

अन्य लेख

पीएचडी या एमफिल के लिए शोध-प्रबंध कैसे लिखेंगे ?

●प्रस्तावित शोध का विषय :- (उदाहरणस्वरूप) “देश की सांस्कृतिक-विविधताओं को एकजुट रखने में भारतीय लोकजीवन में रची-बसी सांस्कृतिक-परम्पराओं की साझी विरासत को अक्षुण्ण-संरक्षण प्रदान करना” ●प्रथम अध्याय :- 1. सोद्देश्य प्रस्तावना, 2. विषय-प्रवेश, 3. विषय से संबंधित कार्यों की समीक्षा, 4. प्रस्तुत शोध का औचित्य, 5. प्रतिपादन-प्रणाली, 6. आभार ज्ञापन । ●द्वितीय अध्याय :- लोकजीवन […]

अन्य लेख

‘टाइम’ और ‘सक्सेस’ मालिक नहीं, सिर्फ़ दास है !

संसारभर के प्रायः मानव-समाज आज सिर्फ़ माया की दानवी विनाशलीला से नहीं, आपितु महामारी से ग्रस्त हो त्रस्त हो रहे हैं । सर्वत्र लूट, मारकाट, हाहाकार, अत्याचार, बलात्कार की घटनाएँ होती ही रहती हैं । ऐसी विषम परिस्थिति में संतसेवी स्वामी का उद्घोष है- ‘जबतक किसी देश का आध्यात्मिक स्तर ऊँचा नहीं होगा, तबतक समाज […]

अन्य लेख धर्म-संस्कृति-अध्यात्म

लोकगायिका शारदा सिन्हा के कई छठगीतों में ‘अ-भद्र’ शब्दों का गायन !

सूर्योपासना और लोकआस्था का महापर्व ‘छठ’ के आते ही बिहार, झारखंड, पश्चिमी प. बंगाल, पूर्वी उत्तर प्रदेश, नेपाल इत्यादि अवस्थित श्रद्धालुओं द्वारा कैसेट, सीडी, मोबाइल, लाउडस्पीकर, साउंड बॉक्स इत्यादि के मार्फ़त ‘छठ’ गीत सुनने को मिलने लग जाते हैं। पहले पद्मश्री विंध्यवासिनी देवी, अनुराधा पौडवाल, छैला बिहारी इत्यादि के द्वारा गाई गई लोकगीतों को सुनी […]

अन्य लेख

गुरमैल भाई द्वारा धन्यवाद-ज्ञापन

”वक्त के शैदाई, रविंदर भाई: 125वें ब्लॉग की बधाई” ब्लॉग में हमने 5 अप्रैल को लिखा था- पुनश्च- आपको यह जानकर अत्यंत हर्ष होगा कि आगामी 14 अप्रैल को गुरमैल भाई के जन्मदिन और विवाह की सालगिरह है. आप सभी से विनम्र अनुरोध है कि शीघ्र ही किसी-न-किसी रूप में अपना-अपना संदेश हमारे पास भेज […]

अन्य लेख

संकल्प 2020

परमाणु ऊर्जा विभाग से सेवानिवृत्ति के पश्चात् प्रति वर्ष समय के सकारात्मक सदुपयोग हेतु सन्कल्प लेता हूँ। प्रति सप्ताह कम से कम एक शिक्षण संस्थान में विद्यार्थियों को समय प्रबंधन एवं कैरियर चुनाव पर विचार व्यक्त करने के लिए समय देना है। हर वर्ष 75 प्रतिशत से अधिक यह सन्कल्प पूरा हो जाता है। वर्ष […]