अन्य लेख

अपने-अपने विचारनामे

‘संविधान’ में अपने देश का नाम भारत और India है, इसके अलावा अन्य किसी पर्यायार्थ नाम का जिक्र नहीं है । भारत से भारतीय का बोध पाते हैं, India से Indian का । अगर ‘हिंदुस्तान’ पुकारते हैं, तो स्वभावश: यहाँ के सभी निवासी जो यहाँ रहते हैं, वो ‘हिन्दू’ है ! हिन्दू सब धर्मों का […]

अन्य लेख

शैक्षिक परिदृश्य

शिक्षा पदाधिकारी विद्यालय आएंगे और बिना पूछे हेडमास्टर की कुर्सी पर बैठ जाएंगे, फिर तुरंत फरमान देंगे- ‘टीचर्स अटेंडेंस लाइये !’ फिर किसी शिक्षक की अनुपस्थिति अथवा सीएल पिटिशन पर मीन-मेख शुरू और लाल-हरे कलम दौड़ा देंगे! फिर शिक्षकों की परेड शुरू ! माना शिक्षा पदाधिकारी ‘प्रशासक’ हैं, किन्तु उन शिक्षकों के अभिभावक भी तो […]

अन्य लेख

पूजनतिथि, जन्मतिथि और पुण्यतिथि

सनातन धार्मिक मान्यतानुसार विश्वसृजक महान देव विश्वकर्मा की आज पूजा है, नमन । प्रत्येक वर्ष 17 सितंबर को ही यह पूजा-अर्चना होती है। संयोग है कि आज भारत के वर्त्तमान प्रधान सेवक और देश को कई वैश्विक ऊँचाइयाँ प्रदान करनेवाले देश के वैश्विक रत्न श्री नरेन्द्र दामोदर दास मोदी के जन्मदिवस, जिसे देश सेवा दिवस […]

अन्य लेख

सतरंगी छटाएँ

कोई भी व्यक्ति, जो मानव होने का दावा करता है, वह धर्मनिरपेक्ष हो ही नहीं सकता है, किन्तु वह पंथनिरपेक्ष हो सकता है ! •••••• नामवर सिंह जी और सुधीश पचौरी जी के द्वारा लिखा मैंने आजतक समझ नहीं पाया हूँ, पर आपने ? •••••• अपनी ‘कार’ त्यागकर, बसों या ट्रेनों में सफर करें, तो […]

अन्य लेख

सर्व समभाव

क्या ‘आर्य’ भारत के मूल निवासी थे ? दैनिक जागरण (राष्ट्रीय संस्करण, 7 सितम्बर 2019) और इंडिया टुडे (हिंदी, 19 सितम्बर 2018) में प्रकाशित रिपोर्ट…. कितने वास्तविक ? कितने फँसाना ? क्या आर्य और द्रविड़ एक ही थे, क्योंकि विश्लेषक का कहना है कि भारत में विदेशियों के आने से जीन में मिलावट होती रही […]

अन्य लेख

शोरी का क्यों शोर ?

इधर कई तुलनात्मक पुस्तकें साथ-साथ पढ़ रहा हूँ…. श्री एस. एस. गौतम सम्पादित पुस्तक “क्या डॉ. अम्बेडकर की हत्या हुई?” (प्रकाशक : सिद्धार्थ बुक्स, दिल्ली) और श्री अरुण शोरी की पुस्तक “अम्बेडकर झूठे भगवान” (मूलतः अंग्रेजी में) के विरुद्ध छपी पुस्तिका “शोरी का शोर : अम्बेडकर झूठे भगवान नहीं” (लेखक-द्वय : श्री एल. आर. बाली […]

अन्य लेख

हमेशा बिंदास रहिये, दोस्त !

ज़िंदगी में मुश्किलें तो आती रहती हैं, किन्तु इन मुश्किलों से कैसे लड़ा जाय, यह तुमसे बेहतर कोई नहीं जानता ? मैं तुम्हें पिछले कई सालों से जानता हूँ, परन्तु ऐसा लगता है कि कई युगों से जान रहा हूँ, पर इन सालों में तुम्हें मैंने हर वक़्त ‘जीरो’ से ‘हीरो’ बनते देखा ! कलाम […]

अन्य लेख

वार्षिक डायरी से

बिहार (मनिहारी) से विरार (मुम्बई) तक का सफ़र ! हिंदी फ़िल्मों में पहचान बनाने के सोद्देश्य हाईस्कूली मित्र श्री प्रभाष कवि; जो दो दशक पहले ही अच्छी और सच्ची कद-काठी लिए मनिहारी से अभिनेता गोविंदा के ‘विरार’ पहुँच गए हैं, फिर उनकी फ़िल्माई संघर्ष-गाथा शुरू ! कई फ़िल्मों के लिए प्रभाष जी ने गीत-लेखन कार्य […]

अन्य लेख

कोरोना योद्धाओं के नाम पत्र

कोरोना योद्धाओं के नाम मेरा यह पत्र आदरणीय कोरोना योद्धाओंआपको मेरा सादर नमन हमारा पूरा परिवार व राष्ट्र आप सभी के अदम्य साहस व लगन से कुशलता पूर्वक अपने को सुरक्षित एवं सहज़ महसूस कर रहा है। हम सब आपकी स्वास्थ्य की कामना के लिए निरंतर भगवान से प्रार्थना भी कर रहे हैं ताकि आप […]

अन्य लेख

अगली खेप लिखब जी

अपन गाँव म बाढ़ : एक पुराना रिपोर्ताज़ भइया, भौजी, दीदिया, चाचू, चच्ची… अपन नवाबगंज बोचाही कलभट पर बाढर पानी तेज़ रफ़्तार से गिरल गे माई ! हमर घर के पास यही सौ कदम की दूरी पर आ गइल…. इधर रात्रि में ही सिरदर्द, त सर्दी-खाँसी की ऐसी की तैसी…. सलवा नाना याद आ गइल…. […]