अन्य लेख

गांवों को विकास की धुरी बनाने के पक्षधर थे पं दीनदयाल

एकात्मक मानववाद के प्रणेता पंडित दीनदयाल महान दार्शनिक, विचारक, इतिहासकार और राजनीतिक भी थे। उन्होंने देश के विकास के लिए गांवों को विकास की धुरी मानते हुए देशी माडल तैयार करने की जोरदार वकालत की थी। उनमें गजब की सांगठनिक क्षमता थी जिसकी बदौलत उन्होंने राजनीतिक क्षेत्र में अलग पहचान कायम की। आज जब केंद्र […]

अन्य लेख

गाँव का गुरुकुल

अगर मुझसे पूछा जाए कि अमृत और स्याही में से तुम क्या लेना पसंद करोगे तो मैं हर बार स्याही को ही चुनूंगा, ताकि यह कलम के जरिए उजाले की ताकत बन सके। उजाले से मेरा मतलब दुनिया को अच्छाई से रोशन करने वाली सभी कोशिशों से है। मेरा जन्म राजस्थान के झुंझुनूं जिले के […]

अन्य लेख

कोशी, केदार और कश्मीर का कहर

कोसी नेपाल एवं भारत के बीच बहनेवाली, गंगा की सहायक नदी है, जिसका जलग्रहण क्षेत्र करीब 69300 वर्ग किलोमीटर नेपाल में है। यह कंचनजंगा की पश्चिम की ओर से नेपाल की पहाड़ियों से उतर कर भीमनगर होते हुए बिहार के मैदानी इलाके में प्रवेश करती है। यह एक बारहमासी नदी है प्रत्येक वर्ष कोसी नदी […]

अन्य लेख

श्याम स्मृति– साहित्य की विंडम्बना…

मुझे लगता है यह विडम्बना ही है … कि एक ओर तो हम एकाक्षरी-द्व्याक्षरी आदि छंद के रूप में हर छंद आखर-शब्द को ही छंद मानते हैं ….बालक द्वारा प्रथम शब्द..माँ ..एक छंद ही है आदि आदि …..दूसरी ओर मुक्त छंद, अतुकांत छंद आदि को अछूत | वस्तुतः हमारी सनातन छंद परम्परा तो देववाणी संस्कृति […]

अन्य लेख

एमएसीटी एक्ट में संशोधन आवश्यक

सुझाव बिना हेलमेट वाले – दुर्घटना में घायल हुए या  मृतक – व्यक्तियों को एम ए सी टी एक्ट का कोई लाभ नहीं दिया जाना चाहिये। प्रस्तावना पिछले 40 सालों से दुपहिया वाहनों के चालकों और पीछे बैठने वालों को हेलमेट लगाये जाने के कानून बनने के बाद भी मुश्किल से 5% लोग ही इसका […]

अन्य लेख

आचार्य विनोबा भावे

अहिंसा के प्रबल हिमायती और भूदान आंदोलन के प्रणेता और संस्कृत के प्रकांड विद्वान थे आचार्य विनोबा भावे। उन्होंने समाज के धनाढय लोगों खासकर बड़े भूमिधरों को इस बात के लिए प्रेरित किया कि वे अपनी जमीन का छठवां हिस्सा उन लोगों को दान कर दें जिनके पास जमीन नहीं है ताकि उन्हें खेती के […]

अन्य लेख

युवाओं के लिए विज्ञान लेखन में कैरियर

राजधानी लखनऊ में अलीगंज स्थित आंचलिक विज्ञान नगरी में विगत 22 से 26 अगस्त तक विज्ञान एवं प्रौद्योंगिकी परिषद के तत्वावधान में पांच दिवसीय विज्ञान लेखन प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया था। यह कार्यशाला विज्ञान लेखन में रूचि रखने वाले लेखकों पत्रकारों तथा विज्ञान वर्ग से सम्बंधित छात्रों के लिए आयोजित की गयी थी। […]

अन्य लेख

एक महाराष्ट्र पुलिस के हवलदार से संवाद

कल पूरे परिवार के साथ घूमने गया था बारिश मे पूरे दिन मज़ा किया लेकिन वहीं पर एक पुलिस वाले अंकल मिले जो हमारे घर के पास वाले इलाके मे भी रहते हैं मैंने पूछा- अंकल जी आपको तो कभी छुट्टी नहीं मिलती तो आज कैसे घूमने आ गए ?? बोले- यार तेरेको पता है […]

अन्य लेख ब्लॉग/परिचर्चा

ब्लॉग : शीघ्र न्याय के लिए

यह एक मानी हुई बात है कि न्याय में देरी करना न्याय को नकारना है. (Justice delayed is justice denied.) भारत की न्यायपालिका न्याय में देरी करने के लिए कुख्यात है. जिन मामलों का निर्णय शीघ्र किया जा सकता है, उनमें भी अनावश्यक देरी की जाती है. बहुत से मामलों में बाबा को मिल सकने […]

अन्य लेख ब्लॉग/परिचर्चा

गैर जिम्मेदार मीडिया

यों तो भारत का मीडिया (चैनल, अखबार सब) कभी भी देश के प्रति जिम्मेदार नहीं रहा, लेकिन आजकल तो उसने गैर जिम्मेदारी की सारी हदें पार कर डाली हैं. ईराक से अगवा की गई नर्सों सहित हजारों भारतीयों को बिना कोई सौदेबाजी और खून खराबा किये निकाल लेने से मोदी जी की सरकार को जो […]