अन्य लेख

मस्त खबरों की मस्ती भरी दुनिया- 1

हम आपको बहुत-सी मस्त खबरों से वाकिफ कराते हुए मस्ती की दुनिया की सैर करवाते रहते हैं. हमें मस्त खबरों की दुनिया में रमने और रमाने की चाहत है और मस्त खबरें हमें मिल भी जाती हैं, तो बातें बाद में पहले कुछ मस्त खबरें. उससे भी पहले बात आत्मविश्वास की- ”आत्मविश्वास जीवन का आधार […]

अन्य लेख

फटाक-फटाक- 5

तेजी से बदलते इस युग में खबरें भी तेजी से बदलती रहती हैं. तेजी से बदलती इन खबरों को सहेजने के लिए प्रस्तुत है एक नवीन प्रयास फटाक-फटाक. फटाक-फटाक के इस अंक में ढेर सारी सकारात्मक खबरें संक्षेप में, लेकिन सबसे पहले बात हमारी 2 जीवनोपयोगी सूत्रात्मक काव्योक्तियों की- मन को छोटा मत कर, सम्मुख […]

अन्य लेख

गौरैया रानी, बड़ी सयानी

रोज की तरह आज भी गौरैया रानी आई थी और ”गौ-गौ” कर रही थी. ”गौरैया रानी, ”गौ-गौ” क्यों कर रही हओ?” हमने पूछा. ””गौ-गौ” का मतलव गौरैया आ गई है और बहुत-से फटाक-फटाक समाचार लाई है.” गौरैया ने कहा. ”अरे, तुमने फटाक-फटाक समाचार भी पढ़ लिये थे क्या?” हमारा आश्चर्यचकित होना स्वाभाविक ही था. ”और […]

अन्य लेख

ठक-ठक, ठक-ठक-10

ठक-ठक, ठक-ठक-1 ”ठक-ठक, ठक-ठक”. ”कौन है?” ”मैं हूं पत्रकार.” ”कौन-से पत्रकार?” ”एकता का पत्रकार.” ”एकता, यानी एकता कपूर?. ”आपके मन में एकता कपूर बस रही है तो आप वही समझिए, वैसे मैं देश की एकता का पत्रकार हूं. फिर आजकल तो एकता कपूर के न्मन में भी देश की एकता हिलोरें ले रही होगी.” ”सही […]

अन्य लेख

कमाल के किस्से-26

ये कमाल क्या है? कमाल क्यों होता है? कमाल कब होता है? कुछ पता नहीं, पर हो जाता है. चलिए आज हम फिर कमाल की ही बात कर लेते हैं. कमाल की शादियां- अजब प्रेम की गजब कहानी: डॉल्फिन से शादी से लेकर कार से सेक्स तक 1.1000 कारों से सेक्स एडवर्ड स्मिथ वॉशिंगटन के […]

अन्य लेख

दुनिया का सबसे बड़ा स्तनधारी जीव ‘ ह्वेल ‘ विलुप्ति के कगार पर ?

प्रकृति कितनी बड़ी नियंता है जो अनथक और सतत रूप से करोड़ों सालों से इस धरती रूपी प्रयोगशाला में स्थान ,पर्यावरण और जलवायु के अनुसार उसने इसके लगभग हर भाग में करोड़ो-अरबों तरह के विभिन्न रंग-रूपों वाले अतिसूक्ष्म बैक्टीरिया से लेकर इस पृथ्वी के अब तक की सबसे विशाल जीव ह्वेल जैसे बड़े जीव का […]

अन्य लेख

किसान के मित्र नेवले का भी ‘अस्तित्व ‘गंभीर संकट में…

‘नेवला’ एक ऐसा निष्पृह शब्द है, जिसके अवचेतन मन में याद आते ही एक ऐसे चुलबुले, तेज दृष्टि वाले, मटमैले, चितकबरे, सुरमुई रंग के छरहरे, फुर्तीले और बहादुर जीव की तस्वीर उभरने लगती है, जो हमारे बचपन के दिनों में गाँवों में हमारे घरों के आसपास अक्सर, रास्तों में, गलियों में हमारे रास्ते को काटकर […]

अन्य लेख

महाविलोपन और कथित आधुनिक मानव

गंगा सहित देश की सभी नदियाँ प्रदूषण मुक्त रहें, इसके लिए हम सभी भारतीयों और सरकारों को ये प्रतिज्ञा करनी ही होगी, कि हम शहरों के सीवेज {मल-मूत्र-कचरे-रासायनिक -कीटनाशक युक्त जल (पूजा का कचरा भी)} अब भविष्य में अपनी जीवनदायिनी, माँ तुल्य अपनी किसी भी भारत की नदी में नहीं डालेंगे ..ये नदियाँ बगैर किसी […]

अन्य लेख

सायकिल पर्यावरण एवं स्वास्थ्य की हितेषी

सायकिल पर्यावरण के हीत में उपयोगी साबित होती आई है|किन्तु चलन कम होता दिखाई देने लगा है |1990के दशक तक लगभग हर घर में सायकिल उपलब्ध रहती थी | विशेषकर दूधवाले ,पोस्टमैन आदि द्धारा आने जाने हेतु ज्यादातर सायकिल का उपयोग किया जाता था | बच्चे सायकिल चलाना सीखने में उत्सुकता दिखाते थे | एक […]

अन्य लेख

टाइगर स्टेट दर्जे की दोबारा उम्मीद किंतु नरभक्षीय जानवरों पर कड़ी निगरानी भी आवश्यक

‘फिर मिल सकता है मध्यप्रदेश को टाइगर स्टेट का दर्जा’ की खबर सुर्ख़ियों में आई |वर्तमान में 2018 में इनकी संख्या में वृद्धि जारी है जो की संरक्षित क्षेत्रों में संरक्षण की दिशा में बाघों की संख़्या में वृद्धि टाइगर स्टेट दर्जा के हक़ को पक्षधर बनाएगा |वैज्ञानिक तरीके बाघों की गिनती और वन विभाग […]