इतिहास

वीर शिवाजी जी मुस्लिम नीति एवं औरंगज़ेब की धर्मान्धता- एक तुलनात्मक अध्ययन

वीर शिवाजी जी मुस्लिम नीति एवं औरंगज़ेब की धर्मान्धता- एक तुलनात्मक अध्ययन  महाराष्ट्र के पुणे से सोशल मीडिया में शिवाजी को अपमानित करने की मंशा से उनका चित्र डालना और उसकी प्रतिक्रिया में एक इंजीनियर की हत्या इस समय की सबसे प्रचलित खबर हैं। दोषी कौन हैं और उन्हें क्या दंड मिलना चाहिए यह तो […]

ब्लॉग/परिचर्चा सामाजिक

अपने जीवन को बदलिए, सिर्फ़ एक दिन में

इन्सान खु़शी, कामयाबी और सेहत चाहता है। वह अपने सम्बंधों में प्रेम और अपने जीवन में विकास चाहता है और यह सब शान्ति के समानुपाती है। इन्सान जितना ज़्यादा शान्ति से भरपूर होगा, उतना ही ज़्यादा वह ख़ुशी, कामयाबी, सेहत, प्रेम और विकास से भरा हुआ होगा। शान्ति हर इन्सान की सबसे बड़ी बुनियादी ज़रूरत […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म ब्लॉग/परिचर्चा राजनीति

हिन्दू उग्रवाद उचित नहीं

पुणे में ‘हिन्दू राष्ट्र सेना’ नामक किसी संगठन के सदस्यों द्वारा एक मुसलमान साॅफ्टवेयर इंजीनियर की पीट-पीटकर हत्या कर दिये जाने की घटना के बारे में बहुत कुछ कहा और लिखा जा चुका है। घटना का मूल कारण केवल यह था कि कुछ लोगों ने, जिनमें उस इंजीनियर के भी शामिल होने का शक उस […]

राजनीति

देश में सुधारवादी दौर की शानदार शुरूआत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पूर्ण बहुमत की भाजपा सरकार बनते ही वास्तविक परिवर्तन की बयार बहने लग गयी है। बहुत दिनों के बाद देश को एक मजबूत प्रधानमन्त्री  और सरकार मिली है। देश की जनता और विशेषकर मध्यमवर्ग महिलाओं तथा युवाओं एवं नवोदित मतदाताओं एवं समाज के सभी वर्ग के लोगों ने काफी […]

ब्लॉग/परिचर्चा सामाजिक

नाकामियों की फेहरिस्त

उत्तर प्रदेश में अखिलेश सरकार के नाकामियों की फेहरिस्त लम्बी होती जा रही है। जिसके परिणाम भले ही सरकार को आज न दिख रहा हो, लेकिन आगामी चुनाव परिणाम सरकार की आखों पर चश्मा जरूर लगाएगी। दिन-ब-दिन उत्तर प्रदेश में घट रही बलात्कार और हत्या जैसी घटनाओं से सरकार की नींद भले ही न खुल […]

ब्लॉग/परिचर्चा सामाजिक

अमीरी सबके लिए

( पहले देखिए  1-शाँति, सबके लिए   और 2- सेहत, सबके लिए) शान्ति का समृद्धि से, अमीरी से सीधा सम्बंध है। आपने देखा होगा कि जिस परिवार में लड़ाई-झगड़े रहते हैं। वे नौकरी, बिज़नेस या खेती, कुछ भी ठीक ढंग से नहीं कर पाते। पति घर से लड़ाई करके निकलेगा तो वह किसी न किसी छोटे-बड़े हादसे […]

सामाजिक

हारने को हार नहीं कहते बल्कि हिम्मत हारने को हार कहते हैं।

मेहनत और भाग्य को लोग अलग-अलग करके देखते हैं। यह सामान्य जुमला है कि भाग्य में होगा तब सबकुछ मिलेगा। भाग्य प्रबल होगा तब घर बैठे सबकुछ मिल जाएगा। पर यथार्थ के धरातल पर भाग्य पक्ष को तौल कर देखा जाए तब आपको सबकुछ मिलने की गारंटी बिलकुल भी नहीं मिलेगी और मिलना भी नहीं […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म ब्लॉग/परिचर्चा

धर्म के लक्षण ?

मित्रो, आपने धर्म क्या इसके बारे में तो जरुर पढ़ा होगा और अपने धर्म के बारे में बहुत कुछ जानते होंगे। सनातन धर्म में धर्म के कुछ लक्षण बताये गए हैं ,मनुस्मृति 6 /92 में धर्म के दस लक्षण बताये गए हैं । धृति: क्षमा दमोऽस्तेयं शौचमिन्द्रियनिग्रह:। धीर्विद्या सत्यमक्रोधो दशकं धर्मलक्षणम् ॥ 1- धृति (धैर्य) […]

ब्लॉग/परिचर्चा राजनीति

चुनावों के बाद उत्तर प्रदेश में व्याप्त है जंगलराज

चुनावों की समाप्ति व परिणामों के बाद प्रदेश में वाकई जंगलराज स्थापित हो गया है। प्रदेश में महिलाओं व युवतियोें के साथ बलात्कार सहित जघन्य हत्याओं जैसी शर्मनाक वारदातों की बाढ़ सी आ गयी है। ऐसा प्रतीत ही नहीं हो रहा है कि उत्तर प्रदेश अब भगवान राम, कृष्ण व फिर संत कबीर व तुलसीदास […]

स्वास्थ्य

सेहत, सबके लिए

( पहले देखिए  शाँति, सबके लिए ) मज़दूरी, खेती, व्यापार और फ़ैक्ट्रियों में प्रोडक्शन, हम इनमें से कुछ भी नहीं कर सकते, अगर समाज में शाँति नहीं है। अगर लोग शाँति के साथ सड़कों पर आ-जा नहीं सकते, तो वे कोई रचनात्मक काम भी नहीं कर सकते। ऐसे में हमारे बच्चे स्कूल भी नहीं जा सकते […]