Category : भाषा-साहित्य

  • आलोचना की प्रासंगिकता

    आलोचना की प्रासंगिकता

    आलोचना, समीक्षा या समालोचना का एक ही आशय है, समुचित तरीके से देखना जिसके लिए अंग्रेजी में ‘क्रिटिसिज़्म’ शब्द का प्रयोग होता है। साहित्य में इसकी शुरुआत रीतिकाल में हो गई थी किन्तु सही मायने में...


  • सम्मान

    सम्मान

    आज सुबह-सुबह हमने https://www.sadabaharcalendar.com/ से जो अनमोल वचन निकाला, वह निकला-   पुस्तक या रचना में लेखक की आत्मा निवास करती है. पुस्तक या रचना का सम्मान लेखक का सम्मान है.   इससे हमें लगा कि...






  • भारत में भाषा का मसला

    भारत में भाषा का मसला

    हम हिंदी भाषी, हिंदी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाना चाहते हैं। हमारी इस भावना का अ-हिन्दीभाषी व्यक्ति या राज्य विरोध करें तो हमें पीड़ा होती है। हमें लगता है कि हिन्दी बहुसंख्यक लोगों की भाषा है इसलिए...