Category : सामाजिक

  • कैलाश मानसरोवर

    कैलाश मानसरोवर

    मेरा अपना विचार है कि धर्म और आस्था किसी के लिए भी व्यक्तिगत मामला है. कोई धर्म कर्म में विश्वास रखता है, कोई नहीं रखता. कोई मन-ही-मन भगवान का सुमिरण करता है तो कोई ढोल, झाल...



  • सदाचार बनाम समलेंगिकता

    सदाचार बनाम समलेंगिकता

    सुप्रीम कोर्ट द्वारा समलैगिंकता को धारा 377 के अंतर्गत अपराध की श्रेणी से हटा दिया है। अपने आपको सामाजिक कार्यकर्ता कहने वाले, आधुनिकता का दामन थामने वाले एक विशेष बुद्धिजीवी वर्ग द्वारा सुप्रीम कोर्ट क निर्णय...

  • माब लिंचिंग

    माब लिंचिंग

    पूरे विश्व का मनुष्य तीन गुणों से युक्त है। वे हैं — तमो गुण, रजो गुण और सत्व गुण। मनुष्य के रहन-सहन, खान-पान और व्यवहार में भी तीनों गुण परिलक्षित होते हैं। इन तीन गुणों की...