पुस्तक समीक्षा

मानवीय संवेदनाओं का आईना लघु फिल्म “अंटू की अम्मा” रिलीज़

समाज के बदलते सरोकार और मर्यादाओं की असामयिक मौत आज के युग की भयावह त्रासदी है।सुकेत संस्कृति साहित्य एवं जन कल्याण मंच के अध्यक्ष डाक्टर हिमेन्द्र बाली हिम का कहना है कि दृष्टि में बसे स्वहित की शूद्र सोच को बेनकाब करती फिल्म अंट्टू की अम्मा में गाय जैसे निरीह व मूक जीव के प्रति […]

पुस्तक समीक्षा

विभिन्न भावों से अलंकृत रचनाओ का समावेश – “लम्हो की खामोशियाँ”

‘लम्हों की खामोशियाँ’ शाहाना परवीन का प्रथम काव्य संग्रह है । शाहाना जी को बचपन से ही साहित्य में विशेष रूचि थी ।उनके पिताजी सदैव ही उनके लिए प्रेरणा स्रोत रहे। जो अब इस दुनिया में नहीं है। किंतु अपने विचारों और व्यक्तित्व की छाप और प्रभाव शाहाना जी पर छोड़ गए हैं ।शाहाना जी […]

पुस्तक समीक्षा

नीरज नीर

देश के चर्चित कवि और कथाकार श्री नीरज नीर सर केंद्रीय सरकार में वरेण्य अधिकारी हैं । वे राँची विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र स्नातक हैं । कई साझा काव्य-संग्रह और कथा-संग्रह में उनकी रचनाएँ प्रकाशित हुई हैं, तथापि ‘जंगल में पागल हाथी और ढोल’ शीर्षक पुस्तक से तो नीर जी काफी चर्चा में आये। अब भी […]

पुस्तक समीक्षा

जिंदगी का पासवर्ड

‘तुम मेरी ज़िंदगी का पासवर्ड हो’ शीर्षक -पुस्तक गिफ़्ट की है, मेरे ज़िन्दगी के अनन्यतम दिलरुबा -पासवर्ड ‘आशु’ जी ने ! उनसे मुलाकात के 5 वर्ष से अधिक हो गए…. हर दिन हमदोनों के बीच नए-नए अनुभव लेकर आते हैं, खट्टी भी, मीठी भी ! वे खुद शिक्षक हैं तथा अनुजतुल्य हैं…. कहानी तो विराट […]

पुस्तक समीक्षा

पेशे से सम्मान तक

पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर, किन्तु देश के सुयोग्य फ़ोटोग्राफ़र श्री सौरभ दूबे ‘शरद’, जो मूलतः गोरखपुर निवासी हैं, परंतु अभी बंगलोर रह रहे हैं…. के हाथों पुस्तकद्वय ‘पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद (शोध)’ और ‘लव इन डार्विन (नाट्य पटकथा)’ अर्थात् दोनों पुस्तक ‘चंद्रयान-2’ की भाँति यात्रा कर दक्षिण भारत व बंगलोर व कर्नाटक भी पहुँच गयी […]

पुस्तक समीक्षा

पुस्तक समीक्षा – संस्कारों की पाठशाला

बच्चे मोबाइल टेलीविजन स्मार्टफोन सेल्फी वीडियो में उलझे हुए हैं। घर आए अतिथि को कहने पर भी नमस्ते नहीं करते। मम्मी के हाथ का बना भोजन नहीं खाना चाहते। मैगी पिज़्ज़ा बर्गर फास्ट फूड की फरमाइश प्रतिदिन रहती है। मम्मी पापा के अच्छी बात कहने पर भी कहना नहीं मानते। जिद करते हैं। सम्मान संस्कार […]

पुस्तक समीक्षा

पुस्तक समीक्षा – प्लूटोनियम

गागर में सागर समान इस पुस्तक में परमाणु ऊर्जा में प्लूटोनियम के उत्पादन प्रबंधन उपयोग आवश्यकता महत्व सुरक्षा पर विस्तार से सारगर्भित सटीक जानकारी मिलती है। यह पुस्तक इस भ्रम को भी तोड़ती है कि विज्ञान साहित्य हिन्दी में लिखना कठिन है। लेखक दोनों ही एवम् संपादक साधुवाद के पात्र हैं। इस विषय पर शोध […]

पुस्तक समीक्षा

पुस्तक समीक्षा – धनुष उठाओ हे अवधेश

संत कबीर की उक्ति “दु:ख में सुमिरन सब करै….” आज भी प्रयोजन युक्त है। दुखिया है कौन! कबीर बाबा बताते हैं कि, “…….दुखिया दास कबीर है…..”। अर्थात् जो समाज के बारे में सोचेगा, वह सामाजिक अवमूल्यन देखकर दुखी अवश्य होगा और एक सामाजिक प्राणी के नाते मनुष्य होने की यह निर्विवाद शर्त भी है। ऐसी […]

पुस्तक समीक्षा

“देवम बाल उपन्यास”

बन्धुवर, कुछ समय पूर्व खटीमा निवासी आदरणीय डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’ जी ने मेरे बाल उपन्यास “देवम बाल उपन्यास” की समीक्षा की थी। मैं उसे आपके साथ साझा कर रहा हूँ। आशा है आपको पसंद आएगा। धन्यवाद। -आनन्द विश्वास पुस्तक समीक्षा-“देवम बाल उपन्यास” (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’) सीख का संगम है “देवम बाल-उपन्यास” लगभग दो माह […]

पुस्तक समीक्षा

“मिटने वाली रात नहीं” 

बन्धुवर, कुछ समय पूर्व खटीमा निवासी आदरणीय डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’ जी ने मेरे काव्य-संकलन “मिटने वाली रात नहीं” की समीक्षा की थी। मैं उसे आपके साथ साझा कर रहा हूँ। आशा है आपको अच्छा लगेगा। धन्यवाद। -आनन्द विश्वास पुस्तक समीक्षा समीक्षा-कर्ता- आदरणीय डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’ जी “मिटने वाली रात नहीं”  लगभग दो माह पूर्व […]