Category : हास्य व्यंग्य




  • गोद की शिफ्टिंग का सवाल

    गोद की शिफ्टिंग का सवाल

    चाहे इस गोद में रहे चाहे उस गोद में, सवाल तो साज-सम्भाल का है चाहे बात बेजान बूतों ,प्रतीकों,स्मारकों की हो, चाहे लोगों की बेजान हो चुकी आत्माओं के कारण जन्में अवांछित समझे गए शिशुओं की,इनकी...


  • जे आदमी हो के गाड़ी

    जे आदमी हो के गाड़ी

    “सुन भाया एक बात बताओ । बड़े उदास लग रहे हो।” “भंवर जी के बताऊ, बेटा कह रहा था पिता जी आप के विचार आउट डेटेड हो गए हैं । अपडेट करने की आवश्यकता है । अब...

  • सोने से घड़ाई महँगी

    सोने से घड़ाई महँगी

    यह तो जग जाहिर है कि जितनी राशि ऋण वसूली करके सरकारी खजाने में नहीं आती है उससे कई अधिक राशि उसे वसूलने में खर्च हो जाती हैं. किसानों को प्याज के कारण जो आँसू आए...

  • ये बचाने वाले लोग !

    ये बचाने वाले लोग !

    …कुछ लोग “बचाओ-बचाओ” के शोर के साथ मेरी ओर बढ़े आ रहे थे…उत्सुकतावश मैं अपने आगे-पीछे, दाएँ-बाएँ देखने लगता हूँ ..!! लेकिन संकटापन्न की कोई स्थिति दिखाई नहीं देती …फिर भी किसी को बचाने के आपद्...