Category : हास्य व्यंग्य

  • जश्न-ए-आजादी

    जश्न-ए-आजादी

    अभी कल शाम को पन्द्रह अगस्त की आजादी मनाकर और इससे निपटने के बाद जब कुछ लिखने बैठे तो मेरा लैपटपवा दगा दे गया और पता नहीं क्यों कुछ खिसियाया हुआ सा लगा। जैसे कह रहा...


  • व्यंग्य : चोटी की प्रधानता

    व्यंग्य : चोटी की प्रधानता

    हमारे देश में आजकल धड़ाधड़ चोटियां काटी जा रही हैं ।अभी बिहार में लालू यादव की चोटी कट गई ।देश में कांग्रेस की चोटी प्रधानमंत्री से लेकर राष्ट्रपति यहां तक की उपराष्ट्रपति पद तक कट गई।जी...





  • डीजे विथ चिलम और बोलो बम बम बम

    डीजे विथ चिलम और बोलो बम बम बम

    सावन, बाबा भोले नाथ का महीना, बारिश का महीना, प्रेम का महीना. हर कोई बेसब्री से इंतजार करता है, रामकृपाल बाबू धान का बीया गिरवा दिए है, पिछले तीन महीने से बाबाधाम देवघर जाने का इंतजार...


  • हास्य व्यंग्य : मैं विदेशी नहीं

    हास्य व्यंग्य : मैं विदेशी नहीं

    एक शिक्षक होने के नाते कहता हूँ कि मुझे अपने प्रजातांत्रिक देश की शिक्षाप्रणाली का वह अंग सबसे अधिक पसंद आता है जब विद्यार्थियों को हाईस्कूल की परीक्षा में निबंध लिखने दिया जाता था-‘यदि मैं प्रधानमंत्री...