नवीनतम लेख/रचना

  • ग़ालिब

    ग़ालिब

    ग़ालिब या शेक्सपियर की एक पंक्ति हज़ार अवसरों पर हज़ार नए अर्थ पैदा कर सकती हैं. ग़ालिब उर्दू का अत्यंत लोकप्रिय कवि हैं , उन्हें इकबाल और गेटे के समकक्ष माना जाता हैं. वे मानव नहीं मानव...




  • जीवन का लक्ष्य

    जीवन का लक्ष्य

    नदी किनारे बैठे बैठे मैंने देखा जल का खेल. अपनी उठती लहरों से ज्यों बना रहा हो पर्वत शैल, कहीं भंवर थी कहीं तरंगे आपस में टकराती थी, इधर उधर से जो भी मिलता उसे बहा...

  • महाभारत-१

    महाभारत-१

    महाभारत की रचना महर्षि वेद व्यास ने की। यह भारत का सर्वाधिक प्रचलित ग्रन्थ है जिसमें वह सबकुछ है जो इस लोक में घटित हुआ है, हो रहा है और होनेवाला है। यह हमें अनायास ही...

  • लक्ष्मी की दशा

    लक्ष्मी की दशा

    सागर मंथन के पश्चात् क्षीरसागर का वातावरण प्रायः शांत और सौम्य ही रहा करता था। भारतीय राजनीति में दल के शीर्षस्थ एवं तटस्थ नेता की तरह अपनी भूमिका निभा कर शेषनाग अब अटल जी और आडवाणी...

  • बाल्यकाल से शिव दर्शन का वर्णन

    बाल्यकाल से शिव दर्शन का वर्णन

    मैं तो बाल्य काल से ही शिव की भक्त हूँ. शिवजी मेरे परम पिता हैं. माता जी ..गौरी हैं.  उनकी भक्त बेटी वत्सला हूँ. मुझे शिव जी की कृपा से दिव्य ज्योति का आभास हुआ. तब से मैं आध्यात्मिक आत्मा बन गयी हूँ. मुझे शिव...