नवीनतम लेख/रचना


  • उपन्यास : देवल देवी (कड़ी 59)

    54. अध्यादेश एवं धर्म स्थापना सिंहासन रोहण के उपरांत साम्राज्ञी देवलदेवी और सम्राट धर्मदेव ने धर्म के अनुसार शासन-व्यवस्था को सुदृढ़ किया। वह हिंदू जो बलात कैद किए गए थे उन्हें स्वतंत्र कर दिया गया। राजमहल में विभिन्न...


  • पैसा-पैसा

    पैसा-पैसा

    कोई दिवास्वप्न देखता है, कोई ख्वाबोंको सजाता है। यही पैसे की बेचैनी, जो सबको भगाता है। जो कीमत इसकी समझता है ये उसके पास नहीं रहता। जो कीमत नहीं समझता है, हमेशा उसके पास रहता है।...



  • वेद और सोमरस

    वेद और सोमरस

    शंका 1 – क्या वेदों में वर्णित सोमरस के रूप में शराब (alcohol) अथवा अन्य मादक पद्यार्थ के ग्रहण करने का वर्णन हैं? समाधान – पाश्चात्य विद्वानों ने वेदों में सोम रस की तुलना एक जड़ी...

  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    ये मौसम है खुशगवार सखी प्रीतम से मुझको प्यार सखी ।   मेरी  प्रीत  की  अदा निराली उसका मुझको इंतजार सखी ।   दिन रात उसका नाम पुकारू जीवन भर का व्यवहार सखी ।   मेरी...



राजनीति

कविता