नवीनतम लेख/रचना

  • कैसे ……

    कैसे ……

    इस तेज़ रफ्तार से चलते लोगों से कदम से कदम मिलाऊं कैसे चल रहे हैं सब अपने हमसफर के संग मैं अकेली मंजिल को पाऊं कैसे भुलभुलैया सी लगती है यह दुनियां मैं अपनी राह बनाऊं...

  • घुँघरू की आवाज …..

    घुँघरू की आवाज …..

    जब वो पैदा हुई तो माँ-बापू ने उसके बड़ी अफसरानी बनने के सपने देखे थे। लेंकिन तब सब खत्म हो गया जब, उससे प्यार और शादी करने का इच्छुक वो लड़का शादी वाले दिन ही उसका...

  • आयुष्काम (महामृत्युंजय) यज्ञ और हम

    आयुष्काम (महामृत्युंजय) यज्ञ और हम

    सभी प्राणियों को ईश्वर ने बनाया है। ईश्वर सत्य, चेतन, निराकार, सर्वव्यापक, सर्वान्तरयामी, सर्वातिसूक्ष्म, नित्य, अनादि, अजन्मा, अमर, सर्वज्ञ, सर्वशक्तिमान है। जीवात्मा सत्य, चेतन, अल्पज्ञ, एकदेशी, आकार रहित, सूक्ष्म, जन्म व मरण धर्मा, कर्मों को करने...



  • योजना आयोग की समाप्ति

    योजना आयोग की समाप्ति

    श्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने विगत दिनों दो ऐतिहासिक निर्णय लिए | सरकार बनने के तुरंत बाद उन्होंने योजना आयोग को समाप्त करने का फैसला किया | उसी कड़ी में पिछले सप्ताह केन्द्रीय सरकार के...





राजनीति

कविता