नवीनतम लेख/रचना


  • पुकार

    पुकार

    जन्माष्टमी पर्व की सभी को बहुत बहुत शुभकामनाएं । कन्हैया आपकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करें।।💐💐💐 ओ धेनु चरइया कान्हा , माखन चोर कान्हा , असुरों का तुम करते , उद्धार कन्हैया रे, तेरी लीला है अपरम्पार,...






  • क्या तब?

    क्या तब?

    तप्त अग्नि में जलकर राख हो जाऊंगा। एक दिन मिट्टी में मिलकर खाक हो जाऊंगा। तब मिट्टी को रौंदकर क्या मुझे  याद करोगे? झूठे ख्वाबों की शायरी से क्या मेरा इंतजार करोगे? करना है इश्क़ तो...

  • कुछ कृष्ण भजन

    कुछ कृष्ण भजन

    श्री कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर कुछ कृष्ण भजन भजन 1.श्यामा इतनी-सी आस अघा देना मेरे जीवन को सरल बना देना, श्यामा इतनी-सी आस अघा देना- 1.मन निर्मल हो कपट से दूर रहे प्रेम-प्यार से सदा...

  • जन्मे  कृष्ण मुरारी

    जन्मे  कृष्ण मुरारी

    मथुरा में  जब पाप बढ़ा था , कंस से लोग घबराए वसुदेव  -देवकी जेल गए , रिश्ते कुल  के थर्राए । बेड़ियों में उनको जकड़ के , पहरा  कड़ा था  बिठाया । क्रूर कंस के अनाचार...

कविता