राजनीति

“द कश्मीर फाइल्स” पर अनर्गल प्रलाप और विकृत राजनीति

गोवा में आयोजित भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में इंटरनेशनल फिल्मों की ज्यूरी के  के प्रमुख इजराइली फिल्मकार नदव लैपिड ने विवेक अग्निहोत्री की फिल्म, “द कश्मीर फाइल्स” को ”वल्गर प्रोपेगेंडा“ और घटिया करार देकर एक बहुत ही शर्मनाक व घटिया हरकत की है। उनके बयान से ऐसा लगता है कि नदव लैपिड भारत के उस  […]

कहानी

कहानी – कसरत वाला भगोड़ा

आज फिर बुधिया चार बजे भोर भादो को ढूंढने निकल पड़ी थी । मैं जान बूझ कर उसके रास्ते से हट गया और पेड़ के पीछे छिप कर उसे जाते हुए देखता रहा-दूर तक । डूबती चांद की ओड में वह लम्बे लम्बे डेग डालती लपलपाती हुई जा रही थी । यहां कृष्ण राधा मिलन […]

कविता

जीवन की बगिया

जीवन की झ्स बगिया में रंग  विरंगे हैं फूल     खिले कोई गोरा कोई है     काला अजीब अजीब है ये लल्ले कोई खुशहाल कोई गमजदां कोई है भूखा  कोई   बिछड़े कोई खाकर है मर       रहा कोई अन्न अन्न को    तरसे कोई महलों में ठाठ से सोता कोई झोपड़ पट्टी में है  […]

कविता

मानव जीवन

मेरे प्यारे बच्चों सुनो! बड़े भाग्य से मानुष तन पाया , आओ , इस जीवन को सार्थक कर लें , किस उद्देश्य यह जीवन मिला , आओ , हम  इसको जाने , एक  –  एक पल बड़ा है मूल्यवान , रात्रि में सोने से पूर्व, अगले दिन की शुरुआत कैसे करें ? योजना बना लो! […]

मुक्तक/दोहा

चिन्तन

जब जाग रहा होता हूँ, तब भी सोया सा रहता हूँ, आँख खुली पर ब्रह्मांड में कहीं खोया सा रहता हूँ। कभी खोजता सत्य क्या है, कभी जगत का सार, कभी सोच कुछ पलकें भीगें, तो रोया सा रहता हूँ। चिन्तन करते करते अक्सर, चिन्ता में पड़ जाता हूँ, भटक रहा क्यों धर्म मार्ग से, […]

मुक्तक/दोहा

अर्थ का महत्व

अर्थ के भी महत्व, समझ आने लगे हैं, न दिया तो रूठकर, अपने जाने लगे हैं। दे दिया गर सारा, बिसरा दिये जाओगे, ऐसे क़िस्से भी, ज़माने में आने लगे हैं। देख कर रंग, ख़रबूज़ा रंग बदलता है, ऐसा मुहावरा सदियों से यहाँ चलता है। माना कि यह प्रवृत्ति, अभी थोड़ी कम है, कौन जाने […]

राजनीति

मीडिया और राजनीति

मीडिया का देश दुनियां में बहुत महत्व है.अगर मीडिया न हो तो हम देश दुनियाँ की खबरों से अनजान ही रहेंगे. प्रिंट मीडिया हो या फिर ,इलेक्ट्रॉनिक्स मीडिया हो. इनका अपना ही अलग महत्व है बिना मीडिया के हम राजनीति के विषय में कुछ नहीं जान पाएंगे. देश विदेश में होने वाली घटनाएं सामाजिक ,आध्यात्मिक, राजनीतिक और […]

कविता

कितना ज़हर भरते हैं

हमसे बेखर हैं ओ, हम जिनकी खबर रखते हैं चुपके से गुजरते ओ, हम फिर भी नजर रखते हैं सुनाते हैं जिनको ओ, अपने सफर के किस्से वही आ जातें हैं और, मुझको खबर करते हैं हम जान रहे हैं कि ओ, चाल कैसे चलते हैं क्या करेगें कब कहां, ख्याल कैसे पलते हैं सादगी […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म

साधना रहस्य – नाम और मंत्र जप से पाएं संकल्प सिद्धि

हर व्यक्ति चाहता है आत्म शान्ति। इसके लिए वह लाख प्रयत्न करता है किन्तु मनः शान्ति उससे उतनी ही दूर भागती रहती है। मनः शान्ति के लिए मन की चंचलता का त्याग परम आवश्यक है। संतोष और आत्मसंयम को धारण कर लिए जाने से मनःशान्ति के साथ ही जीवन लक्ष्यों को प्राप्त करना सहज, सरल […]

कविता

प्रसन्न

जीवन में चाहे जितना भी ! कष्ट हो , मैं हमेशा प्रसन्न रहती हूंँ , सुख – दुख सुबह शाम जैसा; इनका आना – जाना जीवन में लगा ही रहता , जीवन में चाहे जितना भी कष्ट हो, फिर भी , मैं हमेशा प्रसन्न रहती हूंँ। मिलती है मुझको प्रेरणा काँटों में खिले फूलों से, […]