कविता

स्वास्थ्य दिवस

पहला सुख निरोगी काया
यह बतलाने सात अप्रैल आया।
वर्ल्ड हेल्थ डे के रूप में
विश्व को स्वास्थ्य का मूल्य बताया
1948 में स्वास्थ्य संगठन ने
.स्वास्थ्य के खातिर सभा बुलाया
स्वास्थ्य दिवस मनाने का
प्रस्ताव बनाया
7 अप्रैल 1950 को
पहला स्वास्थ्य दिवस मनाया
जिंदगी रखना हो यदि खुशहाल
तो रखो स्वास्थ का अपने ख्याल
विश्व स्वास्थ्य दिवस का है कहना
आप सभी को हमेशा
सुखी है रखना
योग और व्यायाम अपनाना
सभी बीमारियों को दूर भगाना
जब स्वास्थ्य देंगे हम पहला स्थान
तभी बीमारियों का होगा निदान
सकारात्मक सोच को रखना
नकारात्मकता को दूर भगाना
पर्यावरण को भी स्वच्छ बनाना
नदियों को तुम भूल न जाना
स्वच्छ जल और स्वच्छ हवा से
वातावरण को स्वच्छ बनाना
स्वस्थ मन में रहता स्वस्थ दिमाग
यह बात सभी को तुम समझाना

— वंदना यादव

वंदना यादव
वरिष्ठ कवयित्री व शिक्षिका,चित्रकूट-उत्तर प्रदेश