शिशुगीत

  1. नेता

खादी पहने आते नेता
सबको हाथ दिखाते नेता
करते कम हैं, कहते ज्यादा
कुर्सी को लड़ जाते नेता

2. कुर्सी

कुर्सी के हैं खेल निराले
इसकी खातिर सब मतवाले
मुझको भी है कुर्सी प्यारी
पढ़ता इसपर बैठ मजा ले

3. भाषण

नेता पहले खाते राशन
देने आते फिर वे भाषण
रहती हालत लगभग इक सी
चाहे जिसका आये शासन

4. खादी

ऊपर खादी, नीचे रेशम
बाहर सादे, भीतर चम-चम
नेताजी के क्या कहने जी
जितना बोलूँ उतना है कम

5. लालबत्ती

रहे लालबत्ती या जाए
नेता में कुछ फर्क न आए
इतना कमा-जमाकर रहते
बैठे-बैठे घर भर खाए

परिचय - कुमार गौरव अजीतेन्दु

शिक्षा - स्नातक, कार्यक्षेत्र - स्वतंत्र लेखन, साहित्य लिखने-पढने में रुचि, एक एकल हाइकु संकलन "मुक्त उड़ान", चार संयुक्त कविता संकलन "पावनी, त्रिसुगंधि, काव्यशाला व काव्यसुगंध" तथा एक संयुक्त लघुकथा संकलन "सृजन सागर" प्रकाशित, इसके अलावा नियमित रूप से विभिन्न प्रिंट और अंतरजाल पत्र-पत्रिकाओंपर रचनाओं का प्रकाशन