इतिहास

बर्तानिया तुम्हारा, हिंदोस्तां हमारा : पं० मेलारम वफ़ा

पाकिस्तानी उर्दू अखबार जमींदार के सम्पादक मौलाना जफ़र अली खाँ ने एक बार किसी नौसिखिये शायर से आज़िज़ होकर उसे समझाते हुए कहा था- तोड़ता है शायरी की टांग क्यों ऐ बेहुनर, शेर कहने का सलीका सीख मेला राम से। सियालकोट (वर्तमान पाकिस्तान) में दीपोके गाँव में 26 जनवरी 1895 को पं० मेलाराम वफ़ा जी […]

इतिहास

धर्मान्तरण के विरुद्ध लड़ने वाले खुमसिंह महाराज

जब हम धर्म के लिए संघर्ष करने वाले गुरु तेगबहादुर से लेकर धर्म युद्ध करने वाले गुरु गोविंद सिंह का वर्णन करते है तो हमारे नेत्रों के सामने त्याग व समर्पण का ऐतिहासिक व्यक्तित्व दिखाई देता है। ठीक उसी प्रकार मध्यप्रदेश के जनजाति क्षेत्र के ऐसे ही एक व्यक्तित्व जिन्होंने अपना पूरा जीवन धर्म जागरण […]

इतिहास

महानायक नेताजी सुभाष चंद्र बोस

पराक्रम दिवस (23 जनवरी-नेता जी सुभाष जयंती) पर विशेष भारत के महान सपूत महानायक नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को हुआ था। नेता जी आजीवन संगठन संघर्ष और युद्धकर्म में रत रहकर भारत की स्वाधीनता का बिगुल बजाते रहे । सुभाष बाबू के जीवन पर स्वामी विवेकानंद, उनके गुरू स्वामी रामकृष्ण […]

इतिहास

साहित्यकाश में दशकों तक छाए रहे फक्कड़ शब्दशिल्पी मणि बावरा

बांसवाड़ा के साहित्यकाश में उदित होकर अपनी रचनाओं की चमक-दमक के साथ देश के साहित्य जगत में ख़ासी भूमिका निभाने वाले मणि बावरा वागड़ अँचल के उन साहित्यकारों में रहे हैं जिन्हें अग्रणी पंक्ति का सूत्रधार माना जा सकता है।                 यशस्वी साहित्यकार मणि बावरा उस शख़्सियत का नाम रहा है जिसने जीवन संघर्षों और परिवेशीय […]

इतिहास

सुभाषचंद्र बोस (जयंती 23 जनवरी)

सन 1897 में उड़ीसा की धरती पर जन्म लेने वाला एक साहसिक बालक जिसे दुनिया आज सुभाष चंद्र बोस के नाम से जानती है, आज उनकी 125वीं जन्मजयंती है। आपके माता-पिता के संस्कारों के कारण सुभाष में देशभक्ति की भावना जन्मजात रही अच्छी शिक्षा व इंटरमीडिएट में अच्छे नंबरों से पास होने के कारण आपके […]

इतिहास

सावित्री बाई फुले

सावित्रीबाई फुले का जन्म 3 जनवरी 1831 एक दलित परिवार में  महाराष्ट्र के नाय गाँव में हुआ था. सावित्रीबाई फुले को देश की पहली महिला शिक्षिका माना जाता है आज उनकी 192 वी जयंती है. सावित्री बाई फुले  का 9 वर्ष की आयु में ही 13 साल के ज्योतिरा व फुले के साथ विवाह हो […]

इतिहास

वर्ष-भर चर्चित रहा नारनौल का मनुमुक्त ‘मानव’ मेमोरियल ट्रस्ट

इकलौते जवान आईपीएस बेटे मनुमुक्त की मृत्यु पिता और देश के प्रमुख साहित्यकार तथा शिक्षाविद् डॉ रामनिवास ‘मानव’ और माँ अर्थशास्त्र की पूर्व प्राध्यापिका डॉ कांता भारती के लिए किसी भयंकर वज्रपात से कम नहीं थी। ऐसी स्थिति में कोई भी दम्पत्ति टूटकर बिखर जाता, किंतु ‘मानव’ दम्पत्ति ने, अद्भुत धैर्य का परिचय देते हुए, […]

इतिहास

सर्दियों का उपहार – रजाई और तलाई का इतिहास

सर्दियों (जाड़ो) में रज़ाई तथा तलाई के आनंद की अपना ज़रूरत होती है। अच्छी नींद तंदरूस्ती देती हे तथा जाड़ों में अच्छी नींद लेने के लिए रज़ाई तथा तलाई का सेंक लेना अति ज़रूरी होता है। जाड़ों में लिहाफ या रज़ाई लेना अनिवार्य होता है। जाड़ों में सोते समय रज़ाई तथा तलाई का बादशाही आनंद […]

इतिहास

अटलबिहारी वाजपेयी

श्री अटलबिहारी बाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर में हुआ. उनके पिता का नाम कृष्ण बिहारी वाजपेयी था वो एक अध्यापक थे उनकी माता का नाम कृष्णा देवी था. वह एक घरेलू महिला थी. बिहारी जी बचपन से अंतर्मुखी और प्रतिभा सम्पन्न थे. उनको प्रारंभिक शिक्षा शिक्षा सरस्वती   गोरखी बाड़ा में हुई.वह अच्छे कवि […]

इतिहास

हिंदी, हिंदू, हिंदुस्तान के उपासक – मालवीय जी

आधुनिक भारत में प्रथम शिक्षा नीति के जनक, शिक्षा के विशाल केंद्र काशी हिंदू विश्वविद्यालय के संस्थापक, सांस्कृतिक नवजागरण स्वदेशी एवं हिंदी आंदोलनों के प्रवर्तक राष्ट्रभक्त महान समाज सुधारक भारतीय काया में पुनः नयी चेतना एवं ऊर्जा का संचार करने वाले महामना मदन मोहन मालवीय का जन्म 25 दिसम्बर 1861 को हुआ था। मालवीय जी […]