लघुकथा

अष्टमी

अष्टमी (लघु कथा )

दिव्या पुलिस स्टेशन खड़ी थी। मेट्रो स्टेशन पर मनोज ने उसके साथ बदतमीज़ी की थी। अपने बयान में दिव्या ने बताया कि मनोज काफी देर तो उसे घूर रहा था और जब मेट्रो ट्रेन में प्रवेश हुआ तो उसके बाद जानबूझ कर अश्लील हरकतें कर रहा था। लिहाजा वहीं उसने मनोज को एक तमाचा जड़ दिया और पुलिस में शिकायत की।

अब पुलिस ने उसपर धारा 354 का केस दर्ज कर लिया था। उसे कस्टडी में लिया जा चुका था। लेकिन रोते हुए मनोज बार बार एक ही बात कह रहा था “छोड़ दो साब मुझे मैं तो अष्टमी पूजन का सामान लेने जा रहा था लेकिन मुझसे गलती हो गयी। आगे से ऐसे नही होगा प्लीज मुझे जाने दो”!
#महेश_कुमार_माटा

परिचय - महेश कुमार माटा

नाम: महेश कुमार माटा निवास : 114, K-1 Extension, Gurudwara Road , Mohan Garden, New Delhi:110059 कार्यालय:- Delhi District Court, Posted as "juniar Judicial Assistant". मोबाइल: 09711782028 इ मेल :- mk123mk1234@gmail.com

Leave a Reply