लल्ला जी का स्कूल

लल्ला जी स्कूल में पहुंचे लिए हाथ में तख्ती
एंटर किये क्लास में दिखलाई टीचर ने सख्ती
लल्ला जी हो गए थे क्लास पहुँचने में कुछ लेट
यही शुकर भगवान का खुला हुआ था तब तक गेट
टीचर जी से जा कर के सीधे ही किया प्रणाम
माताजी बीमार हैं अब तक आया न आराम।
मैं कर रहा था रहकर घर में जम कर उनकी सेवा
इसी लिए मैं लेट हूँ उनकी भली करेंगे देवा।
इतना सुनते ही टीचर जी बुरी तरह गुर्राए
भरी क्लास में लल्ला जी को प्रेम के वचन सुनाए।
झूट बोलते समय तुम्हें न आई तनिक भी लाज
मंदिर से निकला तेरी मां मिलीं थी मुझको आज
लिए हाथ में थाल तुम्हारे लिए ही पूछा लल्ला
पूछ रहीं थीं ठीक हुआ कुछ या है अभी निठल्ला
पूछा कैसी चले पढ़ाई हो जाएगा पास
या फिर हो कर फेल करेगा अपना सत्यानाश
झूट के खुलते ही लल्ला जी गए हेकड़ी भूल
लगा घूमने आंखों के सम्मुख टीचर का रूल।
नहीं करूंगा आगे से ऐसा कुछ लिया तुरत व्रत
समझ आ गया है टीचर जी मुझको जीवन का सत
डॉ माधवी  कुलश्रेष्ठ

परिचय - डॉ माधवी कुलश्रेष्ठ

पिता का नाम स्व . श्री हरेंद्र पाल कुलश्रेष्ठ पति का नाम श्री अरविन्द कुलश्रेष्ठ वर्तमान पता सी -14 न्यू आगरा फोन न . 9412426559 8218644036 ;8193909436 शिक्षा . एम॰ ए एम .एड पी .एच डी . (हिन्दी ..मनोविज्ञान इतिहास और संगीत गायन ) व्यवसाय - प्रधानाचार्य काव्य कलश सम्मान , भाव-भूषण सम्मान , और भी कई शाखाओं में उच्च पदों पर रहकर समाज सेवा कर रही हूँ लेखन कार्य भी करती हूँ । साझा संकलन भी छप चुके हैो