लघुकथा

उम्मीद

चौराहे पर भीख माँगते 8-10 साल के उस बच्चे को देख अनायास ही पूछ बैठी  वो – भीख क्यों मांग रहे हो स्कूल क्यों नही जाते?
आप पढ़ायेगी मुझे ऑन्टी ?
आशा के विपरीत उम्मीद से भरे इस प्रश्न ने उसे हड़बड़ा दिया- अररे मैं कैसे ……..?
तभी उसकी बस आ गई और तेजी से चढ़कर उसने सुकून की सांस ली।

— अंजू अग्रवाल

परिचय - अंजू अग्रवाल

पति - अजय नाथ माता का नाम। - मनोरमा देवी जन्मतिथि - 29.12.1968 शिक्षा - एम. कॉम., एम.एड., एम.ए.(हिन्दी), एल.एल. वी.,यू.जी.सी. नेट व्यवसाय - शिक्षण साहित्य सेवा - कहानी, लघु कथा, कविता आलोचना आदि लेखन में सक्रिय अजमेर लेखिका मंच की सदस्य लेखन की विधा - लेख, कहानी, कविता आलोचना आदि साहित्य सेवा आपके लिये क्या है- स्वयं से वार्तालाप पसंदीदा साहित्यकार- मुंशी प्रेमचन्द पता- 7,गुलाब बाड़ी एन्क्लेव श्रीनाथ विवाह स्थल के पीछे,गुलाब बाड़ी अजमेर(राजस्थान)305007 ईमेल- tajanju@gmail.com

Leave a Reply