गीतिका/ग़ज़ल

सपना

मैं भी दुनिया देखना चाहती हूँ।
आसमां में  ऊँचा उड़ना चाहती हूँ।।
मैंने भी कुछ सपने दिल में संजोए हैं।
उन सपनों के साथ जीना चाहती हूँ।।
मैं प्यार से बोलती तो दुनिया कहती।
मैं भी चिड़िया सी चहकना चाहती हूँ।।
मैं नन्ही परी पापा की दुलारी मैना हूँ।
मम्मी की गोद में ही रहना चाहती हूँ।।
मुझे गर्भ में यूं कत्ल न करो मेरे कोई।
मैं दुनिया मे पहचान बनाना चाहती हूँ।।
इंदिरा कल्पना सुनीता विलियम्स सी।
देश मे नाम रोशन करना चाहती हूँ।।
— कवि राजेश पुरोहित

परिचय - राजेश पुरोहित

पिता का नाम - शिवनारायण शर्मा माता का नाम - चंद्रकला शर्मा जीवन संगिनी - अनिता शर्मा जन्म तिथि - 5 सितम्बर 1970 शिक्षा - एम ए हिंदी सम्प्रति अध्यापक रा उ मा वि सुलिया प्रकाशित कृतियां 1. आशीर्वाद 2. अभिलाषा 3. काव्यधारा सम्पादित काव्य संकलन राष्ट्रीय स्तर की पत्र पत्रिकाओं में सतत लेखन प्रकाशन सम्मान - 4 दर्ज़न से अधिक साहित्यिक सामाजिक संस्थाओं द्वारा सम्मानित अन्य रुचि - शाकाहार जीवदया नशामुक्ति हेतु प्रचार प्रसार पर्यावरण के क्षेत्र में कार्य किया संपर्क:- 98 पुरोहित कुटी श्रीराम कॉलोनी भवानीमंडी जिला झालावाड़ राजस्थान पिन 326502 मोबाइल 7073318074 Email 123rkpurohit@gmail.com

Leave a Reply