गीतिका/ग़ज़ल

ग़ज़ल

आदमी और कभी अहले खुदा की बातें
दोस्ती और कभी अहदे-वफा की बातें

कभी खुशबू कभी मौसम कभी ये वादे-सबा
जिस तरफ देखिए बस तेरी अदा की बातें

जिन्दगी-मौत कभी चाँद-सितारे-सूरज
धूप-बरसात कभी काली-घटा की बातें

दर्द अहसास घुटन टीस कराहें चीखें
बेबसी जुल्म तिरस्कार बला की बातें

प्यार इसरार इशारों की जुबाँ खामोशी
साज हो मौन तो फिर ‘शान्त’ दुआ की बातें

— देवकी नन्दन ‘शान्त’

परिचय - देवकी नंदन 'शान्त'

अवकाश प्राप्त मुख्य अभियंता, बिजली बोर्ड, उत्तर प्रदेश. प्रकाशित कृतियाँ - तलाश (ग़ज़ल संग्रह), तलाश जारी है (ग़ज़ल संग्रह). निवासी- लखनऊ

Leave a Reply