Author :

  • कांवरियों का कहर

    कांवरियों का कहर

    सर्वप्रथम मैं यह स्पष्ट कर देना जरूरी समझाता हूँ कि मुझे महादेव शिवशंकर में पूर्ण आस्था है और मैं भी उनकी आराधना और पूजा करता हूँ. मंदिर भी जाता हूँ और घर में भी भोलेशंकर के...

  • साइबर अटैक

    साइबर अटैक

    कम्प्यूटर और मोबाइल से आज सूचनाओं और डेटा का आदान-प्रदान काफी सुगम हो गया है. पर आये दिन प्राप्त समाचारों और घटनाओं के आधार पर यह उतना ही जोखिम भरा भी हो गया है. तकनीक में...



  • मानसून : असली वित्त मंत्री

    मानसून : असली वित्त मंत्री

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने कहा था, भारत का असली वित्त मंत्री तो मानसून है. मानसून आ गया है और विभिन्न राज्यों में मानसून का कहर भी देखने को मिल रहा है. मानसून पर ही हमारी...


  • २०१९ का मास्टर स्ट्रोक

    २०१९ का मास्टर स्ट्रोक

    बिनय न मानत जलधि जड़, गए तीनि दिन बीति। बोले राम सकोप तब भय बिनु होइ न प्रीति ।।.…की तर्ज पर भाजपा समर्थित कश्मीर में पीडीपी से अपना समर्थन वापस ले लिया, इन्होने तीन दिन के बजाय...

  • जिसका डर था वही हुआ – शर्मिष्ठा

    जिसका डर था वही हुआ – शर्मिष्ठा

    ढेर सारी आशंकाओं, अपेक्षाओं, आपत्ति और पूर्वाग्रहों के बावजूद आखिर पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी साहब ने नागपुर के संघ कार्यालय के आमंत्रण को स्वीकारते हुए, वहां पहुँच गए और उन्होंने वही कहा जो उन्हें कहना चाहिए...

  • चार साल बेमिशाल!

    चार साल बेमिशाल!

    रामचरित मानस में धनुष भंग के बाद लक्ष्मण-परसुराम संवाद बड़ा रोचक प्रसंग है जहाँ परशुराम लक्ष्मण को अपने बारे में बहुत कुछ बतलाने के बाद भी विश्वामित्र मुनि से कहते हैं –   कौसिक सुनहु मंद यहु...