सामाजिक

ग्रामीण महिलाओं की आय का साधन हिमाचली बड़ी व्यवसाय

वैसे तो अनेक प्रकार के पकवान हिमाचल प्रदेश के हर जिले में बनाए व खाए जाते हैं लेकिन उड़द की पिट्टी से बनाए गए पकवानों की बात ही निराली है। जहां अन्य दालें व सब्जियां ताजी ही खाने में अच्छी  लगती है वहीं मण्डी-सुकेत क्षेत्र में उड़द की बड़ियों के पकवान साल भर बड़े चाव […]

पुस्तक समीक्षा

मानवीय संवेदनाओं का आईना लघु फिल्म “अंटू की अम्मा” रिलीज़

समाज के बदलते सरोकार और मर्यादाओं की असामयिक मौत आज के युग की भयावह त्रासदी है।सुकेत संस्कृति साहित्य एवं जन कल्याण मंच के अध्यक्ष डाक्टर हिमेन्द्र बाली हिम का कहना है कि दृष्टि में बसे स्वहित की शूद्र सोच को बेनकाब करती फिल्म अंट्टू की अम्मा में गाय जैसे निरीह व मूक जीव के प्रति […]

कविता

नारी तुम बिन अधूरी सारी सृष्टि

ब्रह्मांड जलमय था तब विचार किए जगदम्बा। कैसे सृष्टि सृजन करूं मैं विचार में खोई अम्बा।। था चहुं ओर नीर ही नीर नारी तत्व ये प्रधान। तब शक्ति ने चेतन किए जगतपति भगवान।। अनंतानंत सृष्टि रचे नाग किन्नर यक्ष विद्याधर। एक एक सब सृजन करें तब विधाता प्रभुवर।। आतुर व्याकुल चहुं ओर निहारत शक्ति को […]