Author :

  • मुन्नी चलती डगमग डगमग

    मुन्नी चलती डगमग डगमग

    मुन्नी चलती डगमग-डगमग नन्हे-नन्हे क़दम बढ़ाकर मुन्नी चलती डगमग-डगमग। हंसती है तो घर, खुशियों से करने लगता जगमग जगमग। मम्मी की आवाज़ सुने तो झटपट उनकी ओर लपकती पापा से बातें करती तो कम से कम...

  • बालगीत- आरती

    बालगीत- आरती

    आरती घर में सबकी बड़ी दुलारी नन्ही बिटिया आरती । अम्माजी का हाथ बंटाती, कभी काम से ना घबराती चौका-बर्तन करे, और घर- अंगना रोज़ बुहारती । थके, खेत से बापू आते, तुरन्त खाट पर हैं...

  • बालगीत : ऐसा कोई जादू हो

    बालगीत : ऐसा कोई जादू हो

    जैसे मुझसे दूर हटे माँ होते मेरे आँसू जारी छोटे-छोटे हाथ-पाँव हैं ठीक तरह न चल सकता हूँ जो घुटनों के बल दौडूँ तो मत पूछो, कितना थकता हूँ। माँ की गोदी में जाते ही पूरी...